बिट कॉइन क्या है | बिट कॉइन सुरक्षित है या नहीं

हैलो दोस्तो आज हम बात करेंगे बिट कॉइन क्या है ? bitcoin kya hai? दुनिया के हर देश में Currency होती है जिसका इस्तेमाल सामान खरीदने के लिए किया जाता है हर देश की करेंसी अलग-अलग होती है और उसका अपना नाम और वैल्यू भी देश के हिसाब से ही रखा जाता है जैसे भारत में लेनदेन के लिए जिस करेंसी का use होता है उसे रुपया कहते हैं, अमेरिका की करेंसी डॉलर होती है और UK की करेंसी पाउंड होती है। 

बिट कॉइन क्या है

 

तो इसी तरह अलग-अलग देश की करेंसी अलग-अलग होती है इसी तरह इंटरनेट में भी कई करेंसी होती है जिसका इस्तेमाल ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए किया जाता है उनमें से सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली करेंसी का नाम है बिटकॉइन! यह बिट कॉइन क्या है bitcoin kya hai इसके बारे मे आज हम यहा जानेंगे।

इस बिटकॉइन का नाम आप सभी ने तो जरूर ही सुना होगा क्योंकि यह कुछ सालों से बहुत चर्चा में है यहां पर आपको बिटकॉइन के बारे में सारी जानकारी दी जाएगी कि बिटकॉइन क्या है इसका इस्तेमाल कैसे किया जाता है और क्यों किया जाता है इस करेंसी की वैल्यू कितनी होती है इन सभी सवालों के जवाब आपको यहां जरूर मिल जाएंगे इसलिए आर्टिकल के अंत तक बने रहें आइए शुरू करते हैं-

What is f Information in Hindi | बिट कॉइन क्या है

बिट कॉइन क्या है – Bitcoin एक virtual currency है! जिसे डिजिटल करेंसी भी कहा जा सकता है! क्योंकि इसे डिजिटल तरीके से उपयोग किया जाता है! Bitcoin को वर्चुअल करेंसी इसलिए कहा जाता है क्योंकि! यह बाकी  करेंसी से बिल्कुल अलग है! इसे बाकी करेंसी जैसे- रुपया, डॉलर की तरह ना ही हम देख सकते हैं! और ना ही इसे पैसों की तरह छू सकते हैं लेकिन! फिर भी हम इसका इस्तेमाल पैसों की ही तरह लेने देने में करते हैं। 

बिटकॉइन को हम सिर्फ ऑनलाइन वालेट मे स्टोर कर सकते हैं Bitcoin का आविष्कार सन 2008 में संतोषी Nakamoto ने किया था और 2009 में ग्लोबल पेमेंट के रूप में इसे जारी किया गया था और तब से इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है।

Bitcoin एक Dcentralise करेंसी है! जिसका मतलब यह है जिसे कंट्रोल करने के लिए कोई बैंक या गवर्नमेंट अथॉरिटी नहीं है! यानी कि कोई भी इसका मालिक नहीं है Bitcoin का इस्तेमाल कोई भी कर सकता है! जैसे हम सभी इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं और उसका भी कोई मालिक नहीं है।

ठीक उसी प्रकार बिटकॉइन भी है जिसके पास बिटकॉइन होता है वह उसे भौतिक रूप से चीजों की खरीददारी नहीं कर सकता बल्कि Bitcoin का उपयोग ऑनलाइन ही किया जा सकता है ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसे दूसरे करेंसी में भी बदला जा सकता है अगर आपके पास बिटकॉइन है तो इसे अपनी कंट्री के करेंसी में बदलकर बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं। 

बिट कॉइन क्या है | bitcoin kya hai

बिट कॉइन क्या है- बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है! कंप्यूटर नेटवर्क के जरिए इस करेंसी से बिना किसी माध्यम के ट्रांजैक्शन किया जा सकता है! वहीं इस डिजिटल करेंसी को डिजिटल वालेट मे रखा जा सकता है इस तरह के डिजिटल करेंसी को क्रिप्टो करेंसी कहा जाता है। What is Cryptocurrency in Hindi और इस क्रिप्टोकरेंसी की पहली करेंसी है।

बिटकॉइन साधारण करेंसी की तरह Bitcoin को भी खर्च किया जा सकता है इसका इस्तेमाल आप सामान खरीदने के लिए कुछ गैर सरकारी संगठनों को दान करने के लिए या इन्हें किसी और को भी भेजने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं बिटकॉइन को किसी भी संस्था द्वारा नियंत्रित नहीं किया जा सकता जिसका अर्थ है कि इसके ऊपर सरकार या बैंक का कोई अधिकार नहीं है। 

इनका उपयोग कोई भी कर सकता है! क्योंकि बिटकॉइन का व्यापार रोका नहीं जा सकता है! इसीलिए कोई भी बैंक या सरकारी संस्था आपको इंटरनेट द्वारा किसी और को बिटकॉइन भेजने से नहीं रोक सकती! इसमें एक दुविधा यह भी है कि यदि आपके  साथ कोई धोखा होता है तो आप किसी के पास इसके बारे में शिकायत दर्ज नहीं करा सकते फिर भी दुनिया भर के बड़े बिजनेसमैन और कई बड़ी कंपनियां इस करेंसी का इस्तेमाल करती है। अब तक आप ने जाना की बिट कॉइन क्या है अब जानते है इसका इस्तेमाल।

इन्हे भी जाने –

Information Communication Technology in Hindi | ICT |  सूचना संचार प्रौद्योगिकी

OTG kya hai | OTG क्या होता है | OTG cable कैसे काम करता है ?

USB ka full form | USB kya hai और कितने प्रकार के होते हैं

Paytm Account kaise banaye 2022

Paypal account kaise banaye और वेरीफाई कैसे करें पूरी जानकारी हिंदी में

Use of Bitcoin in Hindi 

बिट कॉइन क्या है यह हमने जान लिया है। बिटकॉइन का इस्तेमाल हम ऑनलाइन पेमेंट के लिए! या किसी भी तरह का ट्रांजैक्शन करने के लिए करते हैं बिटकॉइन peer to peer  नेटवर्क पर आधारित है! जिसका मतलब है लोग एक दूसरे के साथ सीधे ही बिना किसी बैंक क्रेडिट कार्ड या फिर किसी कंपनी के माध्यम से आसानी से ट्रांजैक्शन कर सकते हैं।

आप डेबिट या क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने में लगभग 2 से 3 प्रतिशत लेनदेन शुल्क लगता है लेकिन बिटकॉइन में ऐसा कुछ नहीं होता इसके लेनदेन में कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लगती इस वजह से भी यह लोकप्रिय होते जा रहा है।

इसके अलावा यह सुरक्षित और तेज है! जिससे कि लोग बिटकॉइन को स्वीकार करने के लिए प्रोत्साहित हो रहे हैं! आजकल बहुत से लोग बिटकॉइन को अपना रहे हैं! जैसे- ऑनलाइन डेवलपर्स, गैर सरकारी संगठन और किसी वजह से Bitcoin का इस्तेमाल पूरे दुनिया में ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा रहा है।

किसी अन्य क्रेडिट कार्ड की तरह उसमें कोई क्रेडिट लिमिट नहीं होती ना ही कोई नगद लेकर घूमने की समस्या है यह एक दम सुरक्षित और तेज है यह दुनिया में कहीं भी कारगर है और इसके इस्तेमाल करने की कोई सीमा भी नहीं है।

बिटकॉइन वैल्यू

बिटकॉइन की वैल्यू कम या ज्यादा होती रहती है! क्योंकि इसको कंट्रोल करने के लिए कोई अथॉरिटी नहीं है! इसीलिए इसकी वैल्यू इसके डिमांड के हिसाब से बदलती रहती है इसकी कीमत हर देश में अलग-अलग होती है क्योंकि इसका चलन विश्व बाजार में है।

इसीलिए इसकी कीमत हर देश में इसकी मांग के अनुसार होती है हम सभी यह बिटकॉइन के बारे में सुनकर, जानकर सोचते हैं कि इसे पाया कैसे जा सकता है और इसके लिए क्या करना होगा तो बिटकॉइन को हम 2 तरीकों से पा  सकते हैं।

  1. अगर आपके पास पैसा है तो सीधे पैसे देकर बिटकॉइन को ले सकते हैं! अगर आपके पास इतने पैसे नहीं हैं मगर फिर भी आपको बिटकॉइन लेना है तो! इसका भी एक तरीका है
  2. आप बिटकॉइन की माइनिंग कर सकते हैं।

बिटकॉइन माइनिंग क्या है इसे हम आगे समझेंगे-

अगर आप पूरा एक बिटकॉइन खरीद नहीं सकते तो आप उस का सबसे छोटा सा यूनिट सतोशी खरीद सकते हैं जैसे- एक रुपए में 100 पैसे होते हैं ठीक उसी तरह एक बिटकॉइन में 10 करोड़ सतोशी होते हैं आप चाहे तो बिटकॉइन की सबसे छोटी रकम सतोशी खरीद कर धीरे-धीरे 1 या उससे ज्यादा बिटकॉइन जमा कर सकते हैं जब आपके पास ज्यादा बिटकॉइन जमा हो जाए तब आप उसे बेचकर ज्यादा पैसे कमा सकते हैं एक तरह से कॉइन खरीद कर उसमें इन्वेस्ट कर सकते हैं।

बिटकॉइन माइनिंग 

बिटकॉइन माइन, आम भाषा में माइन का मतलब यह होता है खुदाई के द्वारा खनिजों को निकालना जैसे कि- सोना, कोयला आदि की माइनिंग क्योंकि बिटकॉइन का कोई भौतिक रूप नहीं है तो इसकी माइनिंग नहीं की जा सकती इसीलिए यहां पर माइनिंग का मतलब है बिटकॉइन का निर्माण जो कि कंप्यूटर पर ही संभव है अर्थात नई कॉइन बनाने की तरीकों को बिटकॉइन माइनिंग कहा जाता है

इन Bitcoin की माइनिंग बिटकॉइन माइनर्स करते हैं! इसके लिए हाई स्पीड प्रोसेसर और कंप्यूटर में माइनिंग सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है हम बिट कॉइन का इस्तेमाल सिर्फ ऑनलाइन पेमेंट के लिए करते हैं और जब कोई Bitcoin से पेमेंट करता है तो इस ट्रांजैक्शन को वेरीफाई किया जाता है जो इन्हें वेरीफाई करता है उन्हें हम  माइनर्स कहते हैं। 

उन माइनर्स के पास हाई परफारमेंस कंप्यूटर और बेहतर सॉफ्टवेयर होता है जिसके जरिए वह ट्रांजैक्शन वेरीफाई करते हैं – विशेष प्रकार का कंप्यूटर का उपयोग करके विभिन्न तरीके से लेनदेन को पूरा करते हैं और नेटवर्क को सुरक्षित करते हैं इस वेरिफिकेशन के बदले उन्हें कुछ पेमेंट इनाम के तौर पर मिलते हैं जो बिट कॉइन होते है।

इस तरीके से नए बिटकॉइन मार्केट पर आते हैं! लेकिन ट्रांजैक्शन वेरीफाई करना इतना आसान नहीं होता इसमें बहुत सारे मैथमेटिकल कैलकुलेशन होते हैं! उसे हल करना होता है जो कि बहुत ही कठिन होता है! Bitcoin माइनिंग कोई भी कर सकता है इसके लिए हाई प्रोसेसर वाले कंप्यूटर की जरूरत पड़ती है माइनिंग का काम वही लोग करते हैं जिसके पास विशेष कैलकुलेशन वाले कंप्यूटर और बड़े-बड़े कैलकुलेशन करने की क्षमता होती है। 

How to buy and sell Bitcoin in India

भारत के कुछ बहुत ही मशहूर बिटकॉइन वेबसाइट हैं! जहां से आप बिटकॉइन खरीद और बेच सकते हैं! उन वेबसाइट का नाम है zebpay.com और unocoin.com, wazirx इन वेबसाइट से आप बिट कॉइन खरीद सकते हैं बिटकॉइन खरीदने के लिए आपको पहले इनमें से किसी एक वेबसाइट पर अकाउंट बनाना होगा। 

उसके बाद आपको कुछ डॉक्यूमेंट भी सबमिट करने होंगे जैसे कि- आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, फोन नंबर, ईमेल और बैंक अकाउंट की डिटेल अकाउंट बनाने के बाद आप बिट कॉइन खरीद और बेच सकते हैं बिटकॉइन पाने का दूसरा तरीका है बिट कॉइन माइन जिसके बारे मे हम ऊपर वाली हैडींग मे जान चुके है।

भारत में अब सुप्रीम कोर्ट ने इस करेंसी को अपनी अनुमति दे दी है! पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने इस करेंसी में निवेश करने से रोक रहा था ! और पहले से ही इसमें किसी भी प्रकार के निवेश को गैरकानूनी बताया गया था! लेकिन फिर भी इसमें बड़ी संख्या में लोग निवेश कर रहे थे। 

भारतीय रिजर्व बैंक 24 दिसंबर 2013 को बिटकॉइन जैसे वर्चुअल करेंसी के संबंध में कहा था कि! इन मुद्राओं के लेने देने को कोई आधिकारिक अनुमति नहीं दी गई है और इसका लेनदेन करने मे कई स्तर के जोखिम भी हैं 1 फरवरी 2017 और 5 दिसंबर 2017 को रिजर्व बैंक ने पुनः इसके बारे में सावधानी जारी की थी लेकिन मार्च 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने इस करेंसी को अपनी अनुमति दे दी है। 

TV ka avishkar kisne kiya | Who Invented Television

प्रश्न और उत्तर 

1 बिटकॉइन की कीमत कितनी है?

17,34,597.51INR 1 बिटकॉइन की कीमत है आज सितंबर 2022 मे।

बिटकॉइन से क्या फायदा है?

बिटकॉइन जितनी भी कोनटीटी मे हो उसमे tax नहीं लगता इसलिए बड़े बड़े उद्योग पति बिटकॉइन मे निवेश कर अपनी पूंजी बड़ाते है।

क्या भारत में बिटकॉइन लीगल है?

हाँ! भारत में बिटकॉइन लीगल है मार्च 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने इस करेंसी को अपनी अनुमति दे दी है

क्या Bitcoin receive करने पर इंडिया में समस्या हो सकती है?

नहीं! Bitcoin receive करने पर इंडिया में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होती।

उम्मीद है बिट कॉइन क्या है ? bitcoin kya hai?  आपने अब तक अपनी एक अच्छी समझ बना लिए होंगे! जानकारी पसंद आई हो तो अपने परिजनों के साथ इसे जरूर शेयर करें, कमेंट करे ऐसी ही जानकारी और भी पाते रहने के लिए सबस्क्राइब करना न भूलें। 

धन्यवाद!

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!