Chamomile in hindi | जानिए इसके फायदे और नुकसान

Chamomile in Hindi – चाय पीने के जो लोग शौकीन है उन लोगों के लिए नए नए फ्लेवर में चाय पीना बहुत पसंद होता है और जब चाय का स्वाद लाजवाब होने के साथ ही फायदेमंद हो तो उस चाय का अंदाज ही निराला होता है आज के समय में हर व्यक्ति किसी ना किसी बीमारी से ग्रस्त है इसलिए ज्यादातर लोग ग्रीन टी, लेमन टी, ब्लैक टी जैसी विभिन्न प्रकार की चाय का उपयोग कर रहे हैं लेकिन आज हम आप लोगों को एक ऐसी चाय के बारे में बताने वाले हैं जिसमें कैफ़ीन की मात्रा बिल्कुल ना के बराबर होती है या कहे तो कैफ़ीन बिल्कुल भी नहीं पाया जाता है।

Content of table show

chamomile tea

Chamomile in Hindi

 

साथ ही यह प्राकृतिक और सेहतमंद भी होता है जी हां हम यहां पर बात कर रहे हैं कैमोमाइल टी की जो पूर्ण रूप से हर्बल चाय है। कैमोमाइल टी का इस्तेमाल सदियों से कई प्रकार के रोगों को दूर करने के लिए किया जा रहा है अतः chamomile एक ऐसी चाय है जिसके एक नहीं बल्कि कई सारे फायदे होते हैं लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं जिन लोगों को इसके फायदे के बारे में जानकारी नहीं है इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको कैमोमाइल टी की पूरी जानकारी प्रदान करने वाले हैं कैमोमाइल के बारे में जानने के लिए अंत तक जरूर पढ़ें।

कैमोमाइल क्या है | What is camomile in Hindi

कैमोमाइल एक विदेशी चाय है जिसकी उत्पत्ति यूरोप में हुई थी हालांकि इसकी उत्पत्ति के विषय में वैज्ञानिकों के बीच मतभेद बना हुआ है कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि chamomile tea की उत्पत्ति जर्मनी में हुई थी जबकि कुछ लोगों का मानना है कि यह रोमानिया में हुई थी। 

Chamomile

खैर इसकी उत्पत्ति चाहे किसी भी स्थान पर हुई हो लेकिन इसके गुणों के कारण आज यह विश्व भर में प्रचलित है कैमोमाइल टी के पेड़ को बबून या गलेबबूना के नाम से भी जाना जाता है इसके फूलों का उपयोग चाय और तेल के रूप में किया जाता है।

यह भी जाने –

Ketki ka phool kaisa hota hai | जाने कैसे हुआ केतकी का फूल श्रापित

कैसा होता है कैमोमाइल टी का पौधा | How chamomile tea plant looks like

कैमोमाइल टी का पौधा एस्टेरेसी (Asteraceae) अथवा क्षुद्र परिवार से संबंधित पौधा है जिसकी दुनिया भर में कई प्रजातियां पाई जाती हैं इसका वैज्ञानिक नाम matricaria chamomilla है ज्यादातर चाय के लिए जर्मन कैमोमाइल और रोमन कैमोमाइल का उपयोग किया जाता है। 

Chamomile in hindi | जानिए इसके फायदे और नुकसान

इसके तने लगभग 30 सेंटीमीटर तक लंबे होते हैं इन पेड़ों में बहुत ही आकर्षित करने वाले फूल लगते हैं जिनकी पंखुड़ियां बाहर की तरफ खिली हुई सफेद रंग की होती है इन पंखुड़ियों के बीच में एक पीला गोलाकार ट्यूबलर होता है जिसका आकार बटन की तरह होता है जो फूल को मनभावना बनाता है।

यह भी जाने –

Kamal ka phool : कमल के फूल का महत्व व उपयोग

Kamal Gatta Kya Hota Hai | कमलगट्टे की माला के 7 फायदे

कैमोमाइल टी का निर्माण कैसे किया जाता है | How chamomile tea is manufactured

कैमोमाइल टी का नाम मुख्य रूप से स्वास्थ्य पेय पदार्थों में लिया जाता है क्योंकि यह एक हर्बल होने के अलावा एक जड़ी-बूटी भी है जो कई प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को दूर करने में सहायता करती है इसके निर्माण की बात किया जाए तो सबसे पहले कैमोमाइल फूलों को तोड़कर सुखाया जाता है जब फूल अच्छी तरह से सूख जाता है तो उनको गर्म पानी में डालकर चाय के रूप में तैयार किया जाता है इस चाय का स्वाद हल्का मीठा और कसैला होता है।

कैमोमाइल टी में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व | nutrients of chamomile in Hindi

हर्बल टी का प्रचलन दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है एवं नई युवा पीढ़ी साधारण चाय से ज्यादा हर्बल चाय को पसंद कर रही है हर्बल टी को साधारण चाय की अपेक्षा इसलिए ज्यादा पसंद किया जा रहा है क्योंकि इसमें कई प्रकार के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य और सौंदर्य को हेल्दी बनाने में सहायक होते हैं।

Chamomile tea मे पाए जाने वाले पोषक तत्व इस प्रकार से हैं फ्लवोनाइड्स, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन ए, फ्लोराइड, फोलेट,सोडियम, जिंक, कॉपर, राइबोफ्लेविन, फैटी एसिड, एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइन्फ्लेमेटरी आदि गुण मुख्य रूप से पाए जाते हैं जो कैमोमाइल टी को प्रचलित और गुणकारी बनाते हैं।

यह भी जाने –

Stamina kaise badhaye | स्टेमिना बढ़ाने के 100 % असरदार उपाय और तरीके

Nariyal Pani ke Fayde in Hindi | नारियल पानी के 12 बेहतरीन फायदे

कैमोमाइल टी के फायदे | Benefits of chamomile in Hindi

कैमोमाइल टी के पौधे में और इसकी निर्माण करने की प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की कीटनाशक दवाइयों और रासायनिक उर्वरकों का उपयोग नहीं किया जाता है इसलिए कैमोमाइल टी को पूर्ण रूप से शुद्ध हर्बल टी माना जाता है इसमें पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व chamomile tea के प्रभाव को बढ़ा देते हैं तथा कई प्रकार के रोगों से शरीर को छुटकारा दिलाने में बहुत फायदेमंद होते हैं आयुर्वेदिक में इसका इस्तेमाल जड़ी बूटी व तेल के रूप में किया जाता है।

chamomile oil

कैमोमाइल टी को आप केवल एक हर्बल टी ना माने यह एक औषधि है जो शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है अब आप यह जानना चाहते होंगे कि आखिरकार  Chamomile tea किस प्रकार से शारीरिक व मानसिक विकारों के लिए फायदेमंद होता है तो आइए जानते हैं इसके फायदे कौन-कौन से होते हैं।

अनिद्रा की समस्या को करती है खत्म

अनिद्रा की समस्या होने से व्यक्ति को रात रात भर नींद नहीं आती है और अगर नींद आ भी जाती है तो नींद आधी रात में नींद खुल जाती है इसके बाद नींद नहीं लगती है इसके अतिरिक्त कई लोगों को टूट टूट कर नींद आती है अर्थात एक-दो घंटे के लिए नींद आती है उसके बाद आंख खुल जाती है उसके बाद फिर से एक 2 घंटे के लिए नींद लग जाती है अनिद्रा के यह कुछ लक्षण होते हैं कुछ लोगों को यदि 1 सप्ताह नींद नहीं आती है तो उनको घबराने की आवश्यकता नहीं है। 

chamomile nidra

क्योंकि ऐसा तनाव अथवा अन्य कारणों से भी हो सकता है लेकिन यदि किसी को 1 माह या कई महीनों से नींद ना आ रही हो तो उस व्यक्ति को अनिद्रा की समस्या हो सकती है। ऐसे में कैमोमाइल टी अनिद्रा की परेशानी को जड़ से खत्म करने में सहायता कर सकती है क्योंकि इसमें मस्तिष्क की कोशिकाओं को रिलैक्स करने वाले तत्व पाए जाते हैं इसके अतिरिक्त इसमें एपीगेनिन एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाया जाता है जो इस समस्या से छुटकारा दिलाने में लाभदायक होता है।

एक्ने मुहांसों से दिलाए छुटकारा

युवा पीढ़ी अगर सबसे ज्यादा त्वचा संबंधी किसी समस्या से परेशान है तो वह है एक्ने और मुहांसों की समस्या यह समस्या लोगों में इतनी ज्यादा हो गई है कि यह 5 लोगों में से 3 लोगों में बड़ी आसानी से देखा जा सकता है एक्ने मुहांसों से छुटकारा पाने के लिए अक्सर पीड़ित व्यक्ति कई तरह के क्रीम व दवाइयों का उपयोग करते रहते हैं लेकिन परिणाम स्वरूप उनको केवल निराशा ही हाथ में लगती है।

chamomile pimple

यदि आप भी इन्हें रोगों से ग्रसित हैं तो आप कैमोमाइल टी का इस्तेमाल एक्ने और मुहांसों की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए कर सकते हैं दरअसल कैमोमाइल टी में कुछ ऐसे चमत्कारी एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी तत्व पाए जाते हैं जो त्वचा से एक्ने और मुहांसों को हमेशा के लिए जड़ से खत्म कर देते हैं।

यह भी जाने –

Chameli ka phool | चमेली का फूल के 10 फायदे

जोड़ों के दर्द और पीठ दर्द में है सहायक

शरीर के विभिन्न अंगों जैसे हाथ पैर आदि में कई जगह जोड़ होते हैं जैसे कोहनी घुटना के जोड़ जब इन जोड़ों को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व नहीं मिल पाता है तो जोड़ो और कमर की हड्डियां कमजोर हो जाती है जिसकी वजह से इन में दर्द होने लगता है कैमोमाइल टी जोड़ो और कमर दर्द को ठीक करने वाली सबसे बेहतरीन चाय में से एक है।

कैमोमाइल टीमें फैटी एसिड और कैल्शियम तत्व पाया जाता है जो जोड़ो और कमर दर्द को कम करने में बहुत फायदेमंद होता है चैमोमाइल टी का प्रयोग करके आप कमर दर्द जोड़ों के दर्द से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं।

हृदय को बनाती है स्वस्थ

लोगों के गलत खान-पान के कारण दिल से संबंधित कई रोग पैदा हो जाती हैं और इन लोगों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है एवं दिल से संबंधित ज्यादातर रोग शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने की वजह से हो रहा है खराब कोलेस्ट्रॉल को रोककर कई प्रकार के रोगों से हृदय को सुरक्षित किया जा सकता है अगर आप कैमोमाइल टीका इस्तेमाल करते हैं तो आप अपने हृदय को बिल्कुल स्वस्थ रख सकते हैं दरअसल कैमोमाइल टी में फैटी एसिड, फाइबर, फ्लेवोनॉयड्स और एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है यह तत्व कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के साथ ही साथ रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) को भी नियंत्रित रखते हैं।

पेट के रोगों में है फायदेमंद

वर्तमान समय में ज्यादातर लोग पेट की किसी ना किसी समस्या से पीड़ित हैं जैसे पेट में ऐठन सूजन दर्द आदि का होना पेट में किसी भी प्रकार का रोग हो तो वह पूरे शरीर को नुकसान ही पहुंचाता है इसलिए लोग इसका जल्द से जल्द इलाज के बारे में खोजते हैं यदि आप भी पेट से संबंधित किसी भी रोग से पीड़ित हैं और इन लोगों को जल्द से जल्द दूर करना चाहते हैं  तो आप chamomile tea का उपयोग कर सकते हैं Chamomile tea में फाइबर मैग्नीशियम पोटैशियम फैटी एसिड एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो पेट में होने वाले रोगों से छुटकारा दिलाने में बहुत फायदेमंद होते हैं।

Pet Saaf Karne ke Upay | पेट साफ करने के 10 आसान घरेलू उपाय

बालों को बनाए स्वस्थ

बालों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए गुणकारी तत्वों की आवश्यकता होती है चूंकि प्रोटीन कैल्शियम विटामिन ए विटामिन f यानी फैटी एसिड बालों को स्वस्थ एवं मजबूत बनाने के लिए बहुत जरूरी होते हैं जब शरीर में प्रोटीन कैल्शियम विटामिन ए विटामिन एप की कमी हो जाती है तो इसका सीधा प्रभाव बालों पर पड़ता है जिसके कारण से बाल सफेद होने लगते हैं झड़ने लगते हैं रूखे और बेजान हो जाते हैं ।

यदि आप भी बालों से संबंधित किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना कर रहे हैं तो आपके लिए कैमोमाइल टी सबसे बेहतरीन विकल्प हो सकता है कैमोमाइल टी में बालों को स्वस्थ बनाने वाले तत्व पाए जाते हैं जो बालों को हल्दी और मजबूत बनाने में सहायक होते हैं।

मोटापा को करें दूर

यदि आप मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं और मोटापा कम करने के लिए किसी खास पेय पदार्थ की तलाश कर रहे हैं तो आपके लिए कैमोमाइल की सबसे असरदार विकल्प हो सकता है चैमोमाइल टी गैस्ट्रिक रस को एक्टिव करती है जिसके कारण खाना जल्दी पच जाता है इसके अलावा इसमें फाइबर पाया जाता है जो पेट को भरा हुआ महसूस करवाता है जिसके कारण से व्यक्ति को भूख नहीं लगती है एवं वजन कम होता चला जाता है।

chamomile मे मैग्नीशियम और पोटेशियम तत्व भी पाया जाता है जो वजन को कम करने में सहायक होता है जो लोग मोटापे जैसी समस्या से पीड़ित हैं उनके लिए कैमोमाइल टी का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है।

शरीर को वायरल रोगों से बचाए

मौसम के बदलने के कारण या एक स्थान से दूसरे स्थान के वातावरण परिवर्तन के कारण अक्सर सर्दी जुकाम खांसी बुखार आदि वायरल रोग हो जाते हैं इन रोगों से बचने के लिए आप प्रतिदिन कैमोमाइल टी का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि कैमोमाइल टी में वायरल रोगों से शरीर की सुरक्षा करती है कैमोमाइल टी में एंटीवायरल एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो शरीर को वायरल रोगों से बचाने में सहायक होते हैं।

कैमोमाइल टी के अन्य फायदे | Some other benefits of chamomile tea in Hindi

  1. मधुमेह के रोगियों के लिए कैमोमाइल का सेवन करना फायदेमंद होता है।
  2. कैमोमाइल टी में जरूरी एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं।
  3. पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में कैमोमाइल टी बहुत फायदेमंद होता है।
  4. चेहरे की झुर्रियों और झाइयों को दूर करने के लिए कैमोमाइल टी का उपयोग लाभकारी साबित होता है क्योंकि इसमें विटामिन ए और विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है।
  5. कैमोमाइल में फैटी एसिड पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक होता है।

कैमोमाइल टी का उपयोग | uses of chamomile in Hindi

कैमोमाइल एक विदेशी हर्बल है जिसका उपयोग गार्डन को सजाने संवारने और महक आने के लिए किया जाता है इसके अतिरिक्त इसका उपयोग चाय तेल पाउडर और दवाइयों के रूप में भी Chamomile tea का उपयोग अधिक होने लगा है ज्यादातर लोगों को chamomile tea का इस्तेमाल करना सही ढंग से नहीं आता है इसलिए हम आप लोगों को बताने वाले हैं कि इस स्वास्थ्यवर्धक कैमोमाइल टी का उपयोग आप किस प्रकार से कर सकते हैं।

  1. सुबह खाली पेट कैमोमाइल टी का उपयोग आप कर सकते हैं।
  2. खाना पचाने के लिए दोपहर के समय इसका इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद होता है।
  3. इस के पैकेट में से पाउडर का पेस्ट बनाकर कैमोमाइल टी का उपयोग कर सकते हैं।
  4. सुबह पेट को साफ करने के लिए रात को खाना खाने के बाद इसका उपयोग किया जा सकता है।
  5. आंखों के नीचे पड़े काले घेरे को दूर करने के लिए कैमोमाइल टी का पेस्ट बनाकर इसको आंखों पर रखकर इसका उपयोग कर सकते हैं।

यह भी जाने –

सिर्फ 1 Gulab ka phool आपका जीवन बदल सकता है जानिए कैसे

कैमोमाइल टी से होने वाले नुकसान | side effects of chamomile in Hindi

यदि आप यह सोच रहे हैं कि कैमोमाइल एक हर्बल चाय है इसलिए शरीर को इससे किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं होगा तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है आप यह जान ले की जहां एक तरफ इसके फायदे हैं तो वहीं दूसरी तरफ इसके कुछ नुकसान भी हैं हालांकि कैमोमाइल टी के फायदो की अपेक्षा नुकसान कम ही है लेकिन इससे होने वाले नुकसान आखिर कौन से हैं आइए जानते हैं-

  1. कैमोमाइल ब्लड को पतला कर देता है इसलिए जिन लोगों का ब्लड पहले से ही पतला है उन लोगों के लिए इसका इस्तेमाल करना नुकसानदायक साबित हो सकता है।
  2. इसमें वजन को कम करने वाले गुण पाए जाते हैं इसलिए दुबले-पतले व्यक्तियों को इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।
  3. गर्भवती महिलाओं को इसका इस्तेमाल करना बहुत नुकसानदायक साबित हो सकता है इसलिए गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  4. स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
  5. जिन लोगों की आयु 12 वर्ष से कम है उन लोगों को इसका उपयोग करना नुकसानदायक हो सकता है।
  6. किसी भी प्रकार की एलर्जी होने पर इसका इस्तेमाल करना नुकसानदायक हो सकता है।

पुछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1. कैमोमाइल को हिंदी में क्या कहते हैं?

कैमोमाइल को हिंदी में बबून या गलेबबून कहा जाता है कैमोमाइल के फूल का उपयोग चाय और तेल के रूप में किया जाता है।

प्रश्न 2. कैमोमाइल चाय कैसे तैयार की जाती है?

कैमोमाइल के फूलों को तोड़कर अच्छी तरह से सुखाया जाता है जब यह अच्छी तरह से सूख जाता है तब उनको गर्म पानी में डालकर चाय के रूप में तैयार किया जाता है इस चाय का स्वाद हल्का मीठा और कसैला होता है।

प्रश्न 3. क्या कैमोमाइल भूख बढ़ाता है?

कैमोमाइल में फाइबर पाया जाता है जिसके कारण पेट भरा हुआ महसूस होता है जिसके कारण व्यक्ति को भूख नहीं लगती है।

प्रश्न 4. chamomile flower kis desh mein paya jata hai ?

कैमोमाइल एक विदेशी चाय है जिसकी उत्पत्ति यूरोप में हुई थी हालांकि इसकी उत्पत्ति के विषय में वैज्ञानिकों के बीच मतभेद बना हुआ है कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि chamomile tea की उत्पत्ति जर्मनी में हुई थी जबकि कुछ लोगों का मानना है कि यह रोमानिया में हुई थी।

प्रश्न 5. chamomile tea din me kitani aur kab pini hai?

chamomile tea din me 1 से 2 बार पिये अगर आप को अनिद्रा की समस्या है या पेट साफ नही रहता तो शाम के समय या रात को सोने से 1 या 2 घंटे पहले पीना सही होता है।

प्रश्न 6. मुलेठी और पुदीना और कैमोमाइल बालो के लिए कैसे उपयोगी है?

बालों से संबंधित किसी भी प्रकार की परेशानी के लिए कैमोमाइल टी सबसे बेहतरीन विकल्प हो सकता है कैमोमाइल टी में बालों को स्वस्थ बनाने वाले तत्व पाए जाते हैं जो बालों को हल्दी और मजबूत बनाने में सहायक होते हैं। साथ ही मुलेठी बालो को कोमल रखने मे और पुदीना बालो की जड़ो मे ठंडाहक पाहुचता है लेकिन पुदीना का इस्तेमाल बालो के लिए सर्दी के दिनो मे नहीं करनी चाहिए।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में कैमोमाइल (chamomile in Hindi) से जुड़ी हुई कुछ जानकारी बताई गई है हमें उम्मीद है कि आप लोगों को कैमोमाइल के फायदे और नुकसान के बारे में अच्छी तरह से जानकारी मिल गई होगी अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के बीच ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और ऐसी ही जानकारियां पातें रहने के लिए सब्सक्राइब जरूर करें। 

धन्यवाद!

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!