Father of Biology in hindi | जीव विज्ञान का जनक कौन है?

इस पोस्ट में हम जानेंगे कि Father of Biology जीव विज्ञान के जनक कौन हैं? who is the father of biology जीव विज्ञान का पिता किसे कहा जाता है? अगर आप भी यह जानने के इच्छुक हैं की जीव विज्ञान के जनक कौन हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें जीव विज्ञान का नाम आप लोगों ने तो सुना ही होगा लेकिन क्या कभी आपने यह सोचा है कि Father of Biology कौन हैं उनका नाम क्या है। जीव विज्ञान यानी बायोलॉजी प्राकृतिक विज्ञान का एक शाखा है जिसका अर्थ होता है जीवो का अध्ययन करना। जीव विज्ञान में आप लोगों को जीवन और जीवन के प्रक्रियाओं से संबंधित जानकारी दी जाएगी।

 

Father Of Biology

 

वैसे तो जीव विज्ञान शब्द का प्रयोग सबसे पहले लैमार्क तथा ट्रेविरेनस के द्वारा सन 1801 मे किया गया था। जीव विज्ञान को विकसित करने के पीछे कई महान वैज्ञानिकों तर्क शास्त्रीयो ने अपना योगदान दिया है लेकिन जब हमारे सामने यह सवाल आता है कि जीव विज्ञान के जनक कौन हैं? who is Father of Biology? तब हम असमंजस में पड़ जाते हैं इस पोस्ट में आप लोगों को यह बताया जाएगा कि जीव विज्ञान के जनक कौन हैं और इसके साथ में इससे संबंधित वैज्ञानिकों के बारे में जानकारियां दी जाएंगी। 

Father of Biology | जीव विज्ञान के जनक कौन हैं?

Father of Biology जीव विज्ञान का जनक अरस्तु (aristotle) को कहा जाता है इन्होंने सबसे पहले पौधों और जीव जंतुओं की जीवन से जुड़े कई पक्षों के विषय में दुनिया के सामने अपने विचार को रखा इसके अलावा अरस्तु को जीव विज्ञान की शाखा प्राणी विज्ञान का जनक भी कहा जाता है। चौथी शताब्दी ईसा पूर्व में अरस्तु ने वन्यजीवों से भरे लेस्वोस की यात्रा की वहां पर उन्होंने जो पाया और देखा उसके वजह से विज्ञान के एक नई शाखा का जन्म हुआ जिसका नाम बायोलॉजी रखा गया। अरस्तु प्लेटो के शिष्य थे और सिकंदर के गुरु थे। 

अरस्तु का जीवन परिचय

जन्म – 384 ईसा पूर्व

मृत्यु – 322 ईसा पूर्व

पूरा नाम – Aristotle

राष्ट्रीयता – यूनानी

क्षेत्र – जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, कविता, नाटक, संगीत, आध्यात्मिक, तर्कशास्त्र, नीति शास्त्र, राजनीति शास्त्र। 

aristotle father of biology
                                         aristotle father of biology

 

हम पहले कुछ बेसिक सी जानकारी लेंगे अरस्तु का जन्म 384 ईसा पूर्व में स्टेगेरिया यूनान नामक स्थान पर हुआ था और उनकी मृत्यु 322 ईसा पूर्व में हुई अरस्तु के पिता का नाम निकोमेकस था जो मकदुनिया में मेसिडोनिया नामक स्थान पर एक चिकित्सक थे उन दिनों मकदूनिया के राजा सिकंदर के परदादा हुआ करते थे सिकंदर के परदादा के राज दरबार में ही अरस्तु के पिता निकोमेकस चिकित्सक थे अरस्तु को अपने पिता से चिकित्सकीय और प्राणी शास्त्र का अच्छा ज्ञान था। 

अरस्तु के पिता निकोमेकस की मृत्यु 366 ईसा पूर्व में हुई जिसके पश्चात अरस्तु एथेंस चले गए जहां प्लेटो की एकादमी थी 366 ईसा पूर्व में 18 वर्ष की आयु पर अरस्तु ने प्लेटो की अकादमी में प्रवेश लिया और प्लेटों को अपना गुरु बनाया और साथ ही एथेंस के राजा हरमियाज के राज दरबार के चिकित्सक नियुक्त हुए। 

अरस्तू के राजनैतिक सिद्धान्त | अरस्तू का नगर राज्य | Aristotle

Philosophy for life in Hindi | philosophy of life meaning in hindi

कुछ ही समय बीतने के पश्चात ही एथेंस के राजा हरमियाज ने अपनी पुत्री का विवाह अरस्तु के साथ संपन्न करवाई लेकिन विवाह पूर्ण रूप से सफल नहीं रहा और विवाह विच्छेद हो गया विवाह विच्छेद होने की वजह यह थी कि उनकी पत्नी ने एथेंस के ही किसी दरबारी के साथ प्रेम विवाह कर लिया था और अरस्तू को राज्य से निकलवा दिया। 

इस बात से अरस्तु को काफी गहरी ठेस भी पहुंची थी क्योंकि यह उनका अपमान हुआ था उनके मन में महिलाओं के प्रति नकारात्मकता आ चुकी थी इतना कुछ होने के बाद अरस्तु वापस मकदुनिया लौट गए अब इस समय वहां के राजा फिलिप थे जो सिकंदर के पिता थे फिलिप ने अरस्तु को अपने बेटे सिकंदर का गुरु नियुक्त कर दिया। 

Aristotle Father of Biology | अरस्तु को जीव विज्ञान का जनक क्यों कहते हैं?

अरस्तु को जीव विज्ञान का जनक Father of Biology कहा जाता है क्योंकि अरस्तु ने प्राकृतिक दुनिया का विस्तृत रूप से अध्ययन किया था और इसकी उत्पत्ति को दिव्य हस्तक्षेप से जोड़ने की बजाय वैज्ञानिक अंतर्दृष्टि और व्यवस्थित टिप्पणियों का उपयोग करके जांच किया था यह ऐसे पहले व्यक्ति थे जिन्होंने जानवरों के बीच संबंध को दुनिया के सामने लाया और वर्गीकरण की प्रणाली को स्थापित किया था। 

इन्हे भी जाने –

Father of Physics | फिजिक्स (भौतिक विज्ञान) के जनक कौन है?

Philosophies of education | physical education की 6 Theory

3 Branches of philosophy | दर्शनशास्त्र की 3 शाखाएं

जीव विज्ञान के 10 सबसे बड़े वैज्ञानिक

क्र.

नाम 

जन्म और मृत्यु 

छेत्र मे योगदान 

1.

अरस्तु 

384-322 bc

जीवित चीजों का वर्गीकरण करने वाले वैज्ञानिक थे। 

2.

गैलेन 

129-161

प्रारंभिक चिकित्सा का प्रयोग किया था

3.

एंटोनी वैन लीवनहॉक

1632 से 1723

माइक्रोबायोलॉजी के क्षेत्र के वैज्ञानिक थे

4.

कार्ल लीनियस 

1707 – 1775

आधुनिक टैक्सोनॉमी के क्षेत्र में

5.

चार्ल्स डार्विन

1809 – 1882

विकासवाद का सिद्धांत

6.

ग्रेगर मेंडल 

1822 – 1884

आधुनिक आनुवंशिकी

7.

बारबरा मैक्लिनटॉक

1902 1992

jumping Genes

8.

वाटसन और क्रिक

(1928)-(1916-2004)

DNA संरचना

9.

जेन गुडाल 

1934

चिंपांजी को समझना

10.

विल्मुट और कैंपबेल

(1944)-(1954-2012 )

एक स्तनपाई मम्मल का क्लोन बनाना

Google ka avishkar kisne kiya | गूगल का आविष्कार कब और किसने किया 

प्रश्न और उत्तर

जीव विज्ञान के पिता का पूरा नाम क्या है?

जीव विज्ञान के पिता अरस्तु (aristotle) को कहा जाता है।

निष्कर्ष 

इस आर्टिकल मे जीव विज्ञान के जनक कौन है यानी कि Father of Biology कौन है के बारे में बताया गया है और इसी के साथ में इससे संबंधित वैज्ञानिकों के नाम की भी जानकारी बताई गई है हमें उम्मीद है कि इस पोस्ट को आपने अंत तक जरूर पढ़ा होगा और आपको पसंद आया होगा Father of Biology की यह पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट कर जरूर बताएं और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर जरूर करें और ऐसे ही पोस्ट पाते रहने के लिए सब्सक्राइब करना न भूलें। 

धन्यवाद!

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!