ग्रीन टी के फायदे | Green Tea Benefits In Hindi

आज के समय में लोग अपने फिटनेस और स्वास्थ्य को लेकर ज्यादा चिंतित रहते हैं ऐसे में Green Tea ke fayde को नकारा नहीं जा सकता है ग्रीन टी के स्वास्थ्य संबंधी इतने सारे फायदे होते हैं जिसकी वजह से यह विश्व भर में प्रचलित है Green Tea पर कई अध्ययन किए गए हैं जिसमें इसके औषधीय गुणों को उजागर किया गया है  ग्रीन टी का सेवन करने से कई सारी समस्याओं और बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

green tea ke fayde

 

वेट लॉस से लेकर हृदय रोग और कैंसर जैसी घातक बीमारी के जोखिम को कम करने में ग्रीन टी बहुत लाभदायक होता है इसके अतिरिक्त ग्रीन टी का सेवन करने से मानसिक समस्याओं में भी बहुत फायदेमंद होता है इस पोस्ट में Green Tea ke fayde के बारे में बताया गया है साथ ही इसके उपयोग और  इससे जुड़ी जानकारियां भी बताई गई है। 

अंत में Green Tea से होने वाले नुकसान के बारे में भी बताया जाएगा और हां इस बात का ध्यान रखें कि ग्रीन टी के भले ही कितने ही बेनिफिट्स होते हैं लेकिन इस पोस्ट में बताए गए किसी भी प्रकार की बीमारी का इलाज मेडिकल ट्रीटमेंट नहीं है ग्रीन टी के फायदे सिर्फ शारीरिक समस्याओं से बचने और इनके प्रभाव को कुछ हद तक कम करने मे सहायक हो सकते हैं। आइए अब जानते हैं ग्रीन टी क्या है और इसका निर्माण कैसे होता है। 

ग्रीन टी क्या है?

ग्रीन टी को कैमेलिया साइनेंसिस पौधे से बनाया जाता है इस पौधे की पत्तियों का उपयोग सिर्फ ग्रीन टी बनाने के लिए नहीं किया जाता है बल्कि अन्य प्रकार की चाय जैसे ब्लैक टी बनाने में भी किया जाता है लेकिन मानव स्वास्थ्य पर ग्रीन टी का ही सबसे ज्यादा प्रभाव देखा गया है अगर Green Tea और ब्लैक टी की बात किया जाए तो भले ही यह एक ही पौधे से बनता है लेकिन इनको बनाने का तरीका अलग-अलग होता है। 

green tea plant
image source google – green tea plant

Green Tea का उत्पादन करने के लिए ताजे पत्तों को तोड़कर तुरंत ही भाप दिया जाता है जिससे ग्रीन टी का निर्माण अच्छी तरह से हो सके यह प्रक्रिया स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले प्राकृतिक पॉलिफिनॉल्स को संरक्षित रखती है वही इसमें ब्लैक टी की तुलना में कैटेचिन अधिक मात्रा में पाया जाता है जो एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट होता है

ग्रीन टी क्या है यह जानने के बाद आइए अब जानते हैं ग्रीन टी के प्रकार के बारे में

ग्रीन टी के प्रकार | Types of green tea in Hindi

वैसे तो बाजार में कई प्रकार के Green Tea उपलब्ध हैं लेकिन उन सभी के बारे में बताना संभव नहीं है इसलिए नीचे कुछ ग्रीन टी के प्रकारों के बारे में जानकारी दी गई है। 

  • जैस्मीन ग्रीन टी
  • गेन माचा ग्रीन टी
  • हौजीचा ग्रीन टी
  • मोरक्को मिन्ट ग्रीन टी
  • ड्रैगन वेल ग्रीन टी
  • कुकीचा ग्रीन टी
  • माचा ग्रीन टी
  • ग्योकुरो ग्रीन टी
  • सेंचा ग्रीन टी
  • विलोचन ग्रीन टी
  • लिप्टन ग्रीन टी 
  • डार्जलिंग ग्रीन टी 

यहां पर दिए गए ग्रीन टी के नाम पढ़ने में थोड़े अटपटे से लग रहे हैं होंगे लेकिन अगर इनको किसी सुपरमार्केट या ऑनलाइन सर्च करते हैं तो यह आपको आसानी से मिल जाएगा आइए अब जानते हैं ग्रीन टी के फायदे के बारे में-

यह भी जाने –

Quinoa in Hindi | क्विनोआ के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान

Cranberry in Hindi | जाने क्रेनबेरी के 13 फायदे, उपयोग व नुकसान

Green Tea ke fayde | benefits of green tea in Hindi

green tea benefits कई सारे होते हैं यह मोटापा और मधुमेह को नियंत्रित करने में बहुत मददगार साबित हो सकता है और साथ ही कैंसर जैसी घातक बीमारी के खतरे से बचाने में भी कुछ हद तक सहायक हो सकता है ग्रीन टी के फायदे मनुष्य के आंतरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा और बालों के लिए भी बहुत लाभदायक हो सकता है नीचे Green Tea ke fayde के बारे में विस्तार से बताया गया है।

वजन कम करने के लिए ग्रीन टी के फायदे

Green Tea वजन कम करने के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें मौजूद तत्व एंटीऑक्सीडेंट मेटाबॉलिज को बढ़ाने का काम करते हैं जो वजन कम करने में बहुत मददगार साबित हो सकता है एक शोध के अनुसार ग्रीन टी पीने के साथ-साथ थोड़ा व्यायाम करने से फैट ऑक्सीडेशन यानी कि फैट बर्निंग को बढ़ावा मिलता है। 

जिससे मोटापे को नियंत्रित करने में बहुत सहायक होता है ग्रीन टी में कैटेचिन और कैफीन मौजूद होता है जो वजन कम करने और वजन को संतुलित रखने में कुछ हद तक सकारात्मक प्रभाव दिखा सकता है एक अन्य शोध के अनुसार मोटापे से ग्रस्त व्यक्तियों में ग्रीन टी का प्रभाव वेट लॉस के लिए बहुत कम पाया गया है ऐसे में वजन कम करने के लिए ग्रीन टी पर पूरी तरह से निर्भर रहना उचित नहीं है बल्कि इसके साथ ही सही डाइट करें नियमित व्यायाम और योग भी करते रहें। 

मस्तिष्क के लिए ग्रीन टी पीने के फायदे

Green Tea का सेवन करना मस्तिष्क के लिए भी बहुत लाभकारी हो सकता है ग्रीन टी में चिंता को कम करने के साथ-साथ मस्तिष्क की कार्य प्रणाली में सुधार करने का गुण भी मौजूद होता है इसके अलावा यह एकाग्रता बढ़ाने में भी सहायक होता है और इन सब का कारण है ग्रीन टी में मौजूद कैफीन और एल थिनाइन यह एक प्रकार का केमिकल होता है ऐसे में ग्रीन टी का संतुलित मात्रा में सेवन किया जा सकता है। 

मुंह के स्वास्थ्य के लिए ग्रीन टी के फायदे

मुंह के स्वास्थ्य के लिए ग्रीन टी का सेवन करना बहुत लाभकारी हो सकता है इसके सेवन करने से मुंह के होने वाले संक्रमण से बचा जा सकता है कुछ ऐसे बैक्टीरिया हैं जैसे- कैटेचिन, पी जिंजिवालिस, प्रीवोटेला, इंटरमीडिया और प्रिवोटेला निग्रेसेंस इन सभी को ग्रीन टी रोकने का काम कर सकता है यह सभी ऐसे बैक्टीरिया हैं जो मुंह के स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं। 

ग्रीन टी बैक्टीरियल प्लाक को नियंत्रित करके दांत को खराब होने से बचा सकता है क्योंकि ग्रीन टी में मौजूद पाली फेनोल्स एंटीप्लाक एजेंट की तरह काम करता है और मुंह में प्लाक को जमने से रोकता है ग्रीन टी से मौत होना भी बहुत लाभ सहायक हो सकता है लेकिन ऐसा करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर करें। 

मधुमेह के लिए ग्रीन टी के फायदे

मधुमेह रोगियों के लिए ग्रीन टी का फायदा देखा जा सकता है Green Tea के सेवन से टाइप 2 डायबिटीज के रोगियों को बहुत लाभ मिलता है ग्रीन टी में मौजूद पैलीफेनाल के कारण ब्लड शुगर का स्तर कम रहता है। 

रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार के लिए ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी का सेवन करना रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार करने के लिए ही मददगार साबित हो सकता है यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है और इसके साथ ही साथ शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाने में भी सहायक होता है। 

अल्जाइमर के लिए ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी का सेवन करने से कई मानसिक बीमारियों के खतरे को भी कम किया जा सकता है अल्जाइमर उन्हें बीमारियों में से एक है यह एक ऐसी बीमारी है जिसमें दिन प्रतिदिन व्यर्थ की याददाश्त कमजोर होती चली जाती है और किसी भी प्रकार के निर्णय लेने की क्षमता को कम कर देती है ऐसे में इस बीमारी से बचने के लिए ग्रीन टी का उपयोग कर सकते है। 

यह भी जाने –

Avocado in Hindi | एवोकाडो क्या है? इसे खाने के फायदे और नुकसान

Chamomile in hindi | जानिए इसके फायदे और नुकसान

Ice Apple benefits, side effects in Hindi | ताड़गोला के फायदे व नुकसान

कैंसर के लिए ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी में ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कैंसर होने के खतरे को कम कर देता है यह मुक्त कणों से लड़ने में सक्षम होता है और कोशिकाओं को DNA क्षति होने से बचाता है ग्रीन टी में मौजूद पॉलीफेनॉल इम्यून सिस्टम को बढ़ाने का काम करता है ग्रीन टी में कुछ खास प्रकार के कैंसर जैसे- फेफड़े, त्वचा, स्तन, लीवर और आंत के खतरे से बचाने में सहायक हो सकता है। 

सर एक गंभीर बीमारी है इसको नजर अंदाज ना करें इसका इलाज के लिए घरेलू उपचार पर निर्भर नहीं रहना चाहिए इसके लिए मेडिकल ट्रीटमेंट ही कराना चाहिए घरेलू उपचार से केवल कैंसर के लक्षणों को कुछ हद तक कम किया जा सकता है। 

ब्लड प्रेशर के लिए ग्रीन टी के फायदे

ग्रीन टी का सेवन करना ब्लड प्रेशर के लिए भी लाभदायक हो सकता है ग्रीन टी का सेवन करने से ब्लड प्रेशर को कम किया जा सकता है अगर कोई पहली बार ग्रीन टी का सेवन कर रहा है तो डॉक्टरी सलाह अवश्य लें और अपना बीपी टेस्ट करवा लें क्योंकि अगर किसी को निम्न रक्तचाप की समस्या है तो ग्रीन टी के सेवन से बचना चाहिए। 

ग्रीन टी में पाए जाने वाले पोषक तत्व

ग्रीन टी में पाए जाने वाले पोषक तत्व इस प्रकार से हैं-

पानी, एनर्जी, प्रोटीन, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम, जिंक, कापर, मैग्नीज, थियामिन, राइबोफ्लेविन नियासिन विटामिन बी6, कैफ़ीन। 

ग्रीन टी बनाने की विधि

  • सबसे पहले चाय के बर्तन मे 1 कप पानी उबाल लें। 
  • फिर उस पानी मे एक छोटा चम्मच ग्रीन टी डाल कर ढांक दे। 
  • 2 मिनट पूरा होने पर इसे छान कर पी सकते है। 
  • इस green tea का स्वाद बढ़ाने के लिए इसमे नीबू का रस और शहद मिलाया जा सकता है। 

ग्रीन टी के नुकसान | side effects of green tea in Hindi

Green Tea ke fayde कई सारे होते हैं लेकिन इसका ज्यादा सेवन करने से नुकसान भी हो सकता है आइए जानते हैं इसके नुकसान के बारे में-

  • ग्रीन टी में कैफ़ीन मौजूद होता है ऐसे में इसके अत्यधिक सेवन करने से अनिद्रा सिर दर्द चिंता जैसी परेशानियां हो सकती है। 
  • ग्रीन टी का सेवन करने से पेट दर्द, मतली और लीवर संबंधी समस्या हो सकता है। 
  • ग्रीन टी में टैनिक एसिड (tannic acid) नामक तत्व पाया जाता है जो दांतों में दाग का कारण बन सकता है
  • गर्भावस्था के समय ग्रीन टी का सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह अवश्य लें क्योंकि ग्रीन टी में कैफ़ीन होता है और गर्भावस्था के समय 300 मिलीग्राम से ज्यादा कैफीन का सेवन करना गर्भावस्था की अवधि को बढ़ा सकता है

ग्रीन टी पीने का सही समय

ग्रीन टी पीने का सही समय के बारे में कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है ऐसे में एक अनुमान के तौर पर यह कहा जा सकता है कि ग्रीन टी पीने का समय नाश्ते के वक्त या फिर दोपहर खाने के बाद का समय अच्छा हो सकता है ग्रीन टी का खाली पेट सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि ऐसे करने से पेट संबंधी समस्या उत्पन्न हो सकती है। 

रात के समय ग्रीन टी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें टाइपिंग होता है जो अनिद्रा को बढ़ा सकता है इसके अलावा हर व्यक्ति का शरीर एक जैसा नहीं होता है ऐसे में ग्रीन टी का सेवन करने का वक्त और मात्रा अलग-अलग हो सकता है इसलिए इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर के सलाह अवश्य लें। 

 

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!