IPS Officer Kaise Bane | आईपीएस ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी

IPS भारतीय पुलिस सेवा का भजन देश की प्रतिष्ठित सरकारी नौकरियां में से एक है देश की सेवा करने वाले प्रत्येक युवाओं का सपना होता है कि वह एक IPS या IAS अधिकारी बने आज की इस पोस्ट में जानेंगे कि IPS Officer Kaise Bane, IPS क्या है? और इनके कार्य क्या होते हैं? इन सभी के बारे में आगे हम जानेंगे। 

IPS क्या है ?

IPS भारतीय पुलिस सेवा अखिल भारतीय सेवाओं के अंतर्गत आने वाली एक केंद्रीय सिविल सेवा है जिसको अंग्रेजी में Central civil service कहते हैं इसको पहले भारतीय शाही पुलिस के नाम से जाना जाता था जब हमारा भारत देश आजाद हुआ था उसके 1 साल बाद ही सन 1948 में इसका नाम बदलकर Indian police service कर दिया गया था। 

अखिल भारतीय सेवा में IPS के अलावा भारतीय प्रशासनिक सेवा IAS और भारतीय वन सेवा IFS इनमें शामिल है IPS अधिकारियों को केंद्रीय सरकार और अलग-अलग राज्यों में कार्यरत किया जाता है। 

भारतीय पुलिस सेवा IPS के अंतर्गत कुछ एजेंसियां संगठन और सेना बल जिनका नेतृत्व इन पदों के द्वारा किया जाता है

  • राज्य पुलिस बल
  • केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल जैसे BSF, SSB, CIsf, CRPF, ITBP
  • केंद्र शासित प्रदेशों के पुलिस बल
  • राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG)
  • राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF)
  • राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA)
  • केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI)
  • इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB)
  • विशेष सुरक्षा समूह (SPG)

IPS officer के कार्य

भारतीय पुलिस सेवा अपने आप में एक बल नहीं है बल्कि यह एक सेवा है जो की राज्य पुलिस और अखिल भारतीय केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल को लीडर और कमांडर प्रदान करता है इसके सदस्य पुलिस के सीनियर अधिकारी होते हैं। 

भारतीय पुलिस सेवा का उद्देश्य समय के साथ साथ परिवर्तित और परिभाषित होते रहते हैं एक IPS अधिकारी की क्या भूमिका होती है और इनके कार्य क्या होते हैं इसके बारे में नीचे बताया गया है जिसको पढ़ कर के आप जान सकते हैं-

  • एक IPS अधिकारी सार्वजनिक रूप से शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध होता है क्षेत्र में हो रहे अपराधों, तस्करी और नशीले पदार्थों की तस्करी पर नियंत्रण रखने की जिम्मेदारी IPS Officer की ही होती है इसके अतिरिक्त आपराधिक मामलों की जांच करना, खुफिया जानकारी को एकत्रित करना, VIP सुरक्षा प्रदान करना, बॉर्डर पॉलिशिंग, रेलवे पुलिसिंग, सार्वजनिक जीवन में हो रहे भ्रष्टाचार और आर्थिक अपराधों पर रोक लगाना, पर्यावरण कानूनों का संरक्षण करना, आपदा प्रबंधन यह सभी कार्य एक IPS Officer का होता है। 
  • जिले में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए IPS Officer और IAS Officer दोनों मिलकर काम करते हैं एकIPS Officer की मुख्य जिम्मेदारी यह होती है कि वह यह सुनिश्चित करता है कि उसके क्षेत्र अधिकार के अंदर लोग सुरक्षित रहें और सभी जरूरी सेवाएं उन तक पहुंच रही है या नहीं। 
  • अगर कोई धार्मिक काम या राजनीतिक काम करना होता है, रैली निकालने होती है या फिर लाउडस्पीकर बजाना होता है तब IPS Officer की अनुमति लेना बहुत जरूरी होता है जिससे कि क्षेत्र में कोई दुर्घटना ना हो।  दुर्घटना प्रबंधन किसी अपराध के कारण संस्था के खिलाफ कार्यवाही करना, चोरी हुई चीजों की रिकवरी करना यह सभी कार्य एक IPS Officer का ही होता है। 
  • भारतीय खुफिया एजेंसी जैसे- रिसर्च एंड एनालिसिस विंग, इंटेलिजेंस ब्यूरो, क्रिमिनल इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट, सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन, सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सिविल और सशस्त्र पुलिस बल, भारतीय संघीय कानून प्रवर्तन एजेंसियां इन सभी का नेतृत्व करने का काम IPS अधिकारी का ही होता है। 
  • विभिन्न केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल जिनमें सेंट्रल पुलिस ऑर्गेनाइजेशन जैसे- बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स, नेशनल सिक्योरिटी गार्ड, इंडो-तिब्बतन बॉर्डर पुलिस, सेंट्रल रिसर्च, पुलिस फोर्स, सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स, विजिलेंस ऑर्गेनाइजेशन इत्यादि का नेतृत्व IPS Officer के द्वारा ही किया जाता है। 
  • IPS अधिकारी अपने अधीन कार्यरत पुलिस वालों को कुछ ऐसे मूल्य और मानदंड को समझाते हैं जिससे कि लोगों की बेहतर सेवा करने में सहायता मिल सके। 

इन्हे भी जाने –

Internet service provider | ISP क्या है और इसका काम क्या है | ISP के 3 प्रकार

Satellite क्या है | सैटेलाइट कैसे काम करता है जानिए आसान शब्दो मे

mobile ki ram kaise badhaye | Android Mobile की Ram कैसे बढ़ाये 4GB तक

sim port kaise kare 2022 में | किसी भी सिम को पोर्ट कैसे करें

IPS Officer के कितने पद होते हैं

IPS Officer के पदों के अनुसार पद नाम इस प्रकार से हैं-

  • पुलिस महानिदेशक डीजीपी (DGP)
  • पुलिस महानिरीक्षक आईजीपी (IGP)
  • वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसएसपी (SSP)
  • पुलिस उपमहानिरीक्षक डीआईजी (DIG)
  • अपर पुलिस अधीक्षक एडिशनल एसपी (SP)
  • पुलिस उपाधीक्षक डीएसपी (DSP)

IPS Officer बनने के लिए योग्यता

IPS Officer बनने के लिए कुछ योग्यताओं को निर्धारित किया गया है जिनको आप नीचे पढ़ सकते हैं। 

IPS  बनने के लिए शारीरिक योग्यता

  • पुरुष की न्यूनतम ऊंचाई 165 सेंटीमीटर 5.4 इंच होना चाहिए। 
  • महिलाओं के लिए न्यूनतम ऊंचाई 150 सेंटीमीटर 4.9 इंच होना चाहिए। 
  • पुरुष के सीने की चौड़ाई 79 सेंटीमीटर होना चाहिए। 
  • महिला के सीने की चौड़ाई 84 सेंटीमीटर होना चाहिए। 
  • निकट दृष्टि दोष – 4.00D को पार नहीं करना चाहिए। 
  • दूर दृष्टि दोष + 4.00D को पार नहीं करना चाहिए। 

IPS के लिए आयु सीमा

 

वर्ग

आयु सीमा 1 अगस्त को परीक्षा के दिन

General के लिए 

21 से 32 वर्ष

OBC के लिए

21-35 वर्ष

SC/ST के लिए 

21-37 वर्ष

राष्ट्रीयता

उम्मीदवार को भारत का नागरिक होना चाहिए। 

IPS की परीक्षा के लिए शैक्षणिक योग्यता

उम्मीदवार के पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूजीसी यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री या इसके समकक्ष योग्यता होनी चाहिए। 

UPSC परीक्षा के लिए प्रयासों की संख्या

 

वर्ग

प्रयास

General

6 प्रयास

OBC

9 प्रयास

SC/ST

कोई सीमा नहीं है (37 वर्ष की आयु होने तक)

IPS Officer Kaise Bane

IPS Officer kaise bane इसके बारे में नीचे दिए गए जानकारी को पढ़कर के आप विस्तार से जान सकते हैं। 

  • 12th की परीक्षा पास करें – अगर आप IPS Officer बनना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले 12th की परीक्षा को पास करना अनिवार्य है 12वीं की पढ़ाई आप किसी भी विषय से कर सकते हैं जिस विषय मे आप की रूचि हो। 
  • स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी करें – 12वीं के बाद IPS Officer बनने के लिए आपका अगला कदम यह होता है कि ग्रेजुएशन की पढ़ाई को पूरा करें इसके लिए आप किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी विषय से 3 या 4 वर्ष की डिग्री को प्राप्त करके आप अपने सपने को पूरा कर सकते हैं। 
  • UPSC की परीक्षा के लिए आवेदन –  IPS Officer बनने के लिए UPSC (Union Public Service Commission) के द्वारा आयोजित की जाने वाली सिविल परीक्षा को पास करना होता है अगर आप UPSC की परीक्षा के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो इसकी अधिकारिक वेबसाइट www.upsc.gov.in मे जाकर कर सकते हैं। 

UPSC परीक्षा को भारत में सबसे कठिन परीक्षा के रूप में माना जाता है क्योंकि सिविल सेवा परीक्षा को पास करने के लिए उम्मीदवार को तीन चरणों की परीक्षा से गुजरना पड़ता है जिनको आप नीचे देख सकते हैं। 

Preliminary examination

IPS Officer के लिए परीक्षा में सबसे पहले प्रारंभिक परीक्षा होती है यह परीक्षा 400 नंबरों की होता है और इसको दो पेपरों में विभाजित किया जाता है दोनों पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं जिनमें मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चन होते हैं इस परीक्षा को पास करने के बाद ही उम्मीदवार मुख्य परीक्षा को दे सकता है प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होता है। 

Mains examination

यह परीक्षा UPSC परीक्षा का दूसरा भाग है इस परीक्षा को केवल वही उम्मीदवार दे सकता है जिसने प्रारंभिक परीक्षा को पास कर लिया है यह परीक्षा वर्णनात्मक होती है और इसमें कुल 9 पेपर होते हैं जिसमें 7 मेंरिट के और दो भाषा के पेपर होते हैं। 

Personal interview

यह UPSC परीक्षा का अंतिम फायदा होता है अगर उम्मीदवार मेंस एग्जाम को पास कर लेता है तब उसे साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है इस साक्षात्कार में उम्मीदवार के विषय ज्ञान, सामान्य ज्ञान, मानसिक क्षमता और महत्वपूर्ण विचार कौशल का मूल्यांकन किया जाता है साक्षात्कार के बाद UPSC मेंस एग्जाम और इंटरव्यू के आधार पर अंतिम मेरिट लिस्ट की घोषणा की जाती है। 

IPS Officer की ट्रेनिंग

जब इन तीनों चरणों Preliminary examination, Mains examination, Personal interview को उम्मीदवार पास कर लेता है तब उसका चयन हो जाता है और उसको ट्रेनिंग के लिए लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी या सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी भेजा जाता है यह ट्रेनिंग 3 वर्ष का होता है जहां नवनियुक्त उम्मीदवार को प्रशासन और पुलिस सिंह से संबंधित जानकारियां दी जाती हैं। 

इन्हे भी जाने –

Google se video download kaise kare । Google से video कैसे download करे सिर्फ 4 step मे

YouTube se video download kaise kare | Youtube से डायरेक्ट video download कैसे करे (सिर्फ 5 मिनट मे) पूरी जानकारी

Bina sim card ke call kaise kare । बिना सिम कार्ड के कॉल कैसे करें

New sim card kaise chalu kare | Jio BSNL VI Airtel

UPSC Exam Syllabus in Hindi

IPS अधिकारी बनने के लिए UPSC के द्वारा लिया जाने वाला UPSC Exam को पास करना जरूरी होता है IPS Officer बनने के लिए कोई अलग से सब्जेक्ट को तय नहीं किया गया है सिविल सर्विस परीक्षा के लिए विज्ञान, इतिहास, भूगोल, राजनीति और अन्य कई विषयों के बारे में जानना जरूरी होता है। 

UPSC Prelims Paper 1 मे शामिल किए गए सब्जेक्ट

  • इतिहास आजादी के बाद का इतिहास मध्यकालीन प्राचीन और आधुनिक इतिहास
  • भारतीय राजनीति और शासन
  • भारतीय भूगोल और विश्व भूगोल
  • वर्तमान देश विदेश की घटनाएं
  • आर्थिक और सामाजिक विकास
  • पर्यावरण
  • सामान्य विज्ञान

UPSC Prelims Paper 2 मे शामिल किए गए subject

  • सामान्य मानसिक क्षमता
  • निर्णय लेने के स्किल और समस्या को सुलझाने के स्किल्स
  • पारंपरिक स्किल्स और संचार स्किल्स
  • बुनियादी संख्यात्मक स्किल्स

UPSC Mains Exam Patterns and Syllabus

मुख्य परीक्षा UPSC Exam का दूसरा और मुख्य हिस्सा है जो कि एक लिखित वर्णात्मक परीक्षा ली जाती है इसमें कुल 9 पेपर होते हैं जिनमें से 2 भाषा से जुड़े और अन्य 7 सामान्य अध्ययन से जुड़े होते हैं

UPSC main exam मे कुल 7 पेपर होते हैं जिनमें जिन विषयों को शामिल किया जाता है वह आप नीचे देख सकते हैं-

 

पेपर 

विषय

अंक

पेपर A

अनिवार्य भारतीय भाषा

300

पेपर B

अंग्रेजी

300

पेपर 1

प्रस्ताव (इसे आप अपनी इच्छा के अनुसार किसी भी

माध्यम में लिख सकते हैं)

250

पेपर 2

सामान्य अध्ययन -1 (भारत का इतिहास, विरासत और संस्कृति,

विश्व और समाज का इतिहास और भूगोल)

250

पेपर 3

सामान्य अध्ययन – 2 (राजनीति, शासन, संविधान,

सामाजिक न्याय और अंतर्राष्ट्रीय संबंध)

250

पेपर 4

सामान्य अध्ययन – 3 (जैव विविधता, आर्थिक विकास,

तकनीक, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन)

250

पेपर 5

सामान्य अध्ययन – 4 (नैतिकता, अखंडता और योग्यता)

250

पेपर 6

वैकल्पिक विषय – 1 

250

पेपर 7

वैकल्पिक विषय – 2

250

 

आईपीएस बनने के लिए कौन सी पढ़ाई की जाती है?

आईपीएस बनने के लिए UPSC (Union Public Service Commission) की परीछा पास करनी होती है।

आईपीएस अधिकारी का काम क्या होता है?

एक IPS अधिकारी सार्वजनिक रूप से शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध होता है क्षेत्र में हो रहे अपराधों, तस्करी और नशीले पदार्थों की तस्करी पर नियंत्रण रखने की जिम्मेदारी IPS Officer की ही होती है इसके अतिरिक्त आपराधिक मामलों की जांच करना, खुफिया जानकारी को एकत्रित करना, VIP सुरक्षा प्रदान करना, बॉर्डर पॉलिशिंग, रेलवे पुलिसिंग, सार्वजनिक जीवन में हो रहे भ्रष्टाचार और आर्थिक अपराधों पर रोक लगाना, पर्यावरण कानूनों का संरक्षण करना, आपदा प्रबंधन यह सभी कार्य एक IPS Officer का होता है।

आईपीएस के लिए कितनी पढ़ाई चाहिए?

आईपीएस के लिए किसी भी विषय से 12वी और स्नातक की डिग्री होना अनिवार्य है उसके बाद UPSC Exam के लिए आवेदन किया जा सकता है।

IPS का full form क्या होता है ?

IPS का full form Indian Police Service है जिसका हिन्दी मे अर्थ होता है भारतीय पुलिस सेवा ।

निष्कर्ष

आपने इस पोस्ट के माध्यम से जाना की IPS Officer क्या है? IPS Officer Kaise Bane ? IPS Officer बनने के लिए कौन-कौन सी योग्यता होनी चाहिए यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी हमने IPS Officer से संबंधित जानकारियां आप तक पहुंचाने की कोशिश की है जो कि उम्मीद करते है आपको पसंद आई होगी और कुछ नया जानने को मिला होगा अगर यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कमेंट करे, अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और भी ऐसी जानकारियाँ पाते रहने के लिए हमे सबस्क्राइब करना न भूलें। 

धन्यवाद !

इन्हे भी जाने –

Samgra Shiksha abhiyan: हिमाचल के 218 स्कूलों में बनेगी कंप्यूटर लैब, 1360 दिव्यांग बच्चों को मिलेगा लैपटॉप

ladli laxmi yojna mp प्रमाण पत्र डाउनलोड कैसे करें

Samagra id kya hai

E Aadhar download online । आधार कार्ड डाउनलोड कैसे करें 2022

Pradhan mantri awas Yojana list me apna Naam kaise dekhe

mobile ki ram kaise badhaye | Android Mobile की Ram कैसे बढ़ाये 4GB तक

Google map पर अपने घर या दुकान का लोकेशन कैसे डालें? (सिर्फ 10 मिनट मे)

Agneepath Yojana 2022: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व अग्निपथ योजना चयन प्रक्रिया

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!