पाकिस्तान में बिजली संकट मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद करने की चेतावनी

Google News Follow

Power Crisis In Pakistan – पाकिस्तान आर्थिक संकट से पहले ही जूझ रहा था लेकिन अब उसके साथ साथ बिजली संकट ने भी घेर लिया है पाकिस्तान में संचालित दूरसंचार कंपनियों ने मिलकर सरकार को पत्र लिखा है जिसमें बताया गया है कि आने वाले कुछ दिनों में देश में चल रही मोबाइल और इंटरनेट सेवा को बंद करने के लिए चेतावनी दिया है। 

टेलीकॉम कंपनियों ने कहां है कि बिजली कटौती लगातार होने से उनके  कार्य संचालन में बाधाएं आ रही हैं इसको लेकर पाकिस्तान सरकार ने देश के लोगों को इस समस्या से अवगत कराकर चेतावनी दिया है। 

Power Crisis In Pakistan- NITB ने ट्वीट करके जानकारी दी

पाकिस्तान के (national information technology board) “राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी बोर्ड” ने ट्विटर के माध्यम से ट्वीट करके दूरसंचार कंपनियों की तरफ से दी गई चेतावनी से अवगत कराया है। 

NITB ने अपने ट्वीट में लिखा है कि पाकिस्तान में संचालित हो रही दूरसंचार ऑपरेटरों ने देशभर में बहुत लंबे समय तक बिजली बंद होने के कारण मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं को बंद करने की चेतावनी दी है उनका यह कहना है कि बिजली कटौती से उनके संचालन में बहुत बड़ी समस्या और बाधाओं का सामना करना पड़ रहा हैं। 

प्रधानमंत्री शहबाज ने भी लोड शेडिंग की चेतावनी दी थी

बीते हुए सोमवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने भी देश को चेतावनी देते हुए कहा था कि जुलाई महीने में उन्हें लोड शैडिंग का सामना करना पड़ सकता है पाकिस्तान को आवश्यक तरलीकृत प्राकृतिक गैस की आपूर्ति नहीं मिल सकी हालांकि गठबंधन सरकार ने इसे संभव बनाने के लिए भरपूर प्रयास कर रही है एक रिपोर्ट के अनुसार जून में पाकिस्तान का मासिक ईंधन तेल आयात 4 साल के उच्च स्तर पर पहुंच गया है। 

Power Crisis In Pakistan- पाकिस्तान में बिजली संकट क्यों खड़ा हुआ

पाकिस्तान में बिजली संकट आने के पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि उसका अगले महीने प्राकृतिक गैस की आपूर्ति के लिए एक समझौता हुआ था जिसमें वह सहमत होने में विफल हो गया था बहुत अधिक कीमत और कम भागीदारी होने के कारण जुलाई के लिए निविदाएं रद्द कर दी गई थी। 

एक सूचना के अनुसार पाकिस्तान को बिजली उत्पादन करने के लिए LNG को खरीदने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है जिसके कारण बहुत अधिक इसकी मांग बढ़ रही है और इसके साथ ही बड़े पैमाने पर ब्लैकआउट का खतरा भी बढ़ गया है। 

सरकार ने बिजली बचाने के लिए कई प्रयास किए

पाकिस्तान सरकार ने बिजली को बचाने के लिए कई प्रयासों को शुरू कर दिया है इसके अंतर्गत सरकारी कर्मचारियों के काम के घंटों में कटौती की जा रही है और कराची सहित कई शहरों में फैक्ट्रियां, बड़े कारखानों और शॉपिंग मॉल को  जल्द से जल्द बंद करने का आदेश भी दे दिया गया है। 

यह भी जाने –

bijali kaise banti hai ? बिजली क्या है ?

Information Communication Technology in Hindi

सरकार अतिरिक्त LNG के लिए कतर से बात कर रही है – वित्त मंत्री

पाकिस्तान के वित्त मंत्री मेहता इस्माइल ने कहा है कि सरकार कतर से वर्ष 2016 में किए गए LNG (Liquid natural gas) के हर महीने में पांच कार्गो और 2021 के हर महीने 3 कार्गो के समझौते के साथ अतिरिक्त कार्गो मंगवाने के लिए बात कर रही है अगर यह बात सफल हो जाती है तो बिजली संकट में थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद होगी। 

पाकिस्तान में महंगाई बहुत अधिक बढ़ गई है और यह महंगाई दर जुलाई मैं 2 अंकों तक पहुंच गया है जो कि लगभग 6 सालों में यह सबसे ज्यादा बढ़ोतरी है। 

पाकिस्तान कम चाय पीने की अपील भी की अपने देश की जनता से

पाकिस्तान सरकार ने देश में चल रहे आर्थिक संकट से निपटने के लिए 15 जून को नागरिकों से चाय कम पीने के लिए अपील की थी। 

केंद्रीय मंत्री एहसान इकबाल ने कहा था कि पाकिस्तानी चाय की खपत को रोजाना एक या दो कप कम कर सकते हैं क्योंकि चाय का आयात करने से सरकार पर आर्थिक भार ज्यादा पड़ रहा है। 

आपको बता दें कि पाकिस्तान दुनिया का सबसे बड़ा चाय आयातक है और इस महंगाई के कारण चाय खरीदना मुश्किल पढ़ रहा है। 

Share us friends

Leave a Comment