SSC kya hai | SSC की तैयारी कैसे करें | SSC की पूरी जानकारी (5 मिनट में)

हेलो दोस्तों आज की इस का आर्टिकल में SSC के बारे में जानेंगे की SSC kya hai, एसएससी का फुल फॉर्म क्या होता है एसएससी में कौन से एग्जाम करवाता है एसएससी का गठन किसके द्वारा किया गया अगर आप भी एसएससी के बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें यहां पर आपको इसके बारे में पूरी जानकारी मिलने वाली है तो चलिए अब जानते हैं की SSC kya hai

ssc kya hai

 

बहुत से ऐसे छात्र होते हैं जो एसएससी क्या होता है इसके बारे में नहीं जानते हैं छोटे शहरों और गांव में इतनी ज्यादा जागरूकता ना होने के कारण छात्र इसके बारे में पूरी जानकारी को प्राप्त नहीं कर पाते हैं की SSC kya hai  और इसके लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं यदि आप कोई केंद्र सरकार की नौकरी करना चाहते हैं तब आप इस एग्जाम को दे सकते हैं। 

SSC kya hai 

Staff Selection Commission भारत में एग्जाम को करवाता है इस  एग्जाम को पास कर लेने के बाद अलग-अलग डिपार्टमेंट में कर्मचारियों का चुनाव किया जाता है इसे हम सरल भाषा में समझे तो इसका मतलब होता है कि SSC से अलग-अलग डिपार्टमेंट के लिए कर्मचारियों का चुनाव किया जाता है। 

SSC केंद्र सरकार का संस्थान है और एग्जाम भी केंद्र सरकार के द्वारा ही आयोजित किया जाता है केंद्र सरकार में जब भी कोई नई जॉब निकलती है तब उसके लिए यह संस्थान ही एग्जाम को आयोजन करवाता है एग्जाम से लेकर नियुक्ति तक सभी काम इसके द्वारा ही किया जाता है। 

ssc - staff selection commission

कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा SSC, CGL, CHSL, steno, JE, CAPF, JHT आदि कई एग्जाम का आयोजन करवाता है इस एग्जाम में छात्र अपनी योग्यता के अनुसार एग्जाम को पास करके केंद्र सरकार में जॉब प्राप्त कर सकता है। 

IPS Officer Kaise Bane | आईपीएस ऑफिसर बनने की पूरी जानकारी

SSC का फुल फॉर्म क्या है | SSC full form in Hindi

SSC का फुल फार्म staff selection commission होता है यह एक ऑर्गनाइजेशन है जो भारत में हो रही अपर लेवल की होने वाली सभी परीक्षाओं पर नियंत्रण रखता है SSC को हिंदी में कर्मचारी चयन आयोग भी कहा जाता है क्योंकि सरकारी नौकरियों के लिए सभी परीक्षाओं का गठन SSC के द्वारा ही किया जाता है। 

इन्हे भी जाने –

UPI kya hai | UPl कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिन्दी में

Voter card aadhar card link | कैसे लिंक करें आधार और वोटर आईडी, जानिए प्रोसेस 2 मिनट मे

Digilocker | Digilocker kya hai | डिजिलॉकर: अब डॉक्यूमेंट खो जाने की नहीं होगी चिंता

VPN | Virtual Private Network | वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क क्या है | VPN के फायदे व नुकसान

SSC का गठन

भारत में एसएससी का गठन भारत सरकार के द्वारा अधीनस्थ सेवा आयोग के नाम से किया गया था अधीनस्थ सेवा आयोग को अंग्रेजी में subordinate service commission कहा जाता है और इसका गठन 1975 ईस्वी में 4 नवंबर को किया गया था इसके बाद 26 सितंबर 1977 को इसका नाम अधीनस्थ सेवा आयोग से बदलकर कर्मचारी चयन आयोग अर्थात SSC कर दिया गया था वर्तमान समय में SSC का मुख्यालय भारत की राजधानी दिल्ली में स्थित है। 

SSC के लिए शैक्षणिक योग्यताएं

एसएससी एग्जाम को पास करने के लिए सभी विद्यार्थियों के पास कुछ शैक्षणिक योग्यता का होना आवश्यक है यह सभी शैक्षणिक योग्यताएं एसएससी एग्जाम के अंतर्गत तय किए गए अलग-अलग परीक्षाओं के लिए अलग अलग होता है एसएससी एग्जाम को पास करने के लिए जिन योग्यताओं का होना आवश्यक है वह नीचे बताया गया है। 

CGL (combined graduate level examination)

SSC CGL क्या है – इस एग्जाम को देने के लिए आपको स्नातक का होना जरूरी होता है अगर आप स्नातक स्तर की पढ़ाई को पूरा नहीं किए हैं तो आप इस एग्जाम को नहीं दे सकते हैं इस एग्जाम को पास करने के बाद छात्र इस प्रकार के कई पदों पर काम कर सकता है-

  • इंस्पेक्टर आयकर (inspector income tax)
  • इंस्पेक्टर परीक्षक (inspector examiner)
  • विदेश मंत्रालय में सहायक (assistant in ministry of external affairs)
  • सहायक लेखा परीक्षा अधिकारी (assistant audit officer)
  • केंद्रीय सतर्कता आयोग में सहायक (assistant in Central vigilance commission)
  • इंस्पेक्टर केंद्रीय उत्पाद शुल्क (inspector Central excises)
  • सहायक प्रवर्तन अधिकारी (assistant enforcement officer)
  • सहायक रेल मंत्रालय (assistant ministry of railway)

CHSL (combined higher secondary level examination)

जो लोग बारहवीं कक्षा के बाद जॉब करना चाहते हैं वे लोग इस एग्जाम को दे सकते हैं इस एग्जाम को पास कर लेने के बाद आप श्रेणी लिपिक LDC (lower division clerk) तथ्य दाखिला प्रचालक (deo data entry operator), डाक सहायक PA (postal assistant), न्यायालय लिपिक CC (court clerk) इस तरह के पदों पर काम कर सकते हैं। 

Steno

जो छात्र स्टेनोग्राफी आशुलिपि मे अपना करियर बनाना चाहते हैं वह लोग इस एग्जाम को दे सकते हैं। 

JE (junior engineer)

इस एग्जाम को देने के लिए आपके पास इंजीनियरिंग में डिप्लोमा का होना आवश्यक है जूनियर इंजीनियर का एग्जाम दे कर के आप केंद्र सरकार की जूनियर इंजीनियर के पोस्ट पर काम कर सकते हैं। 

CAPF (Central armed police forces)

केंद्र सरकार के सशस्त्र पुलिस बल में इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर आदि पदों पर काम करने के लिए इस एग्जाम को पास करना होता है। 

JHT (junior Hindi translator)

इस एग्जाम को देकर आप हिंदी अनुवादक के पद पर काम कर सकते हैं इसके लिए आपकी हिंदी और इंग्लिश दोनों भाषाओं का ज्ञान अच्छी तरह से होना बहुत जरूरी है। 

इन्हे भी जाने –

3 Branches of philosophy | दर्शनशास्त्र की 3 शाखाएं

Satellite क्या है | सैटेलाइट कैसे काम करता है जानिए आसान शब्दो मे

Internet service provider | ISP क्या है और इसका काम क्या है | ISP के 3 प्रकार

Block chain Technology | ब्‍लॉकचेन क्या है और कैसे काम करता है?

Agneepath Yojana 2022: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व अग्निपथ योजना चयन प्रक्रिया

SSC officer की सैलरी कितनी होती है

एसएससी की परीक्षा को पास कर लेने के बाद अलग-अलग क्षेत्रों में नौकरियां मिल सकती हैं सरकारी कर्मचारियों को दी जाने वाली सैलरी इन बातों पर निर्भर करती है-

  1. एसएससी का एग्जाम पास कर लेने के बाद आपको किस पद के लिए चुना गया है। 
  2. एसएससी का एग्जाम पास कर लेने के बाद आप की पोस्टिंग कहां पर की गई है। 

इनके अलावा एसएससी का एग्जाम क्लियर कर लेने के बाद पोस्टिंग के शहर को तीन भागों में विभाजित किया गया है इसको हम X,Y और Z के रूप में समझते हैं। 

X city – X सिटी के अंतर्गत जिन कर्मचारियों की पोस्टिंग की जाती है उन लोगों को अन्य सिटी के कर्मचारियों की तुलना में ज्यादा सैलरी मिलती है हम यह कह सकते हैं कि कर्मचारियों को दी जाने वाली सैलरी एक ही पद के लिए अलग अलग हो सकता है X सिटी के अंतर्गत भारत के कुछ महत्वपूर्ण शहरों को रखा गया है जिनमें मुंबई, कोलकाता, दिल्ली, अहमदाबाद, चेन्नई, बेंगलुरु और हैदराबाद शामिल हैं। 

Y City – Y सिटी के अंतर्गत जिन कर्मचारियों की पोस्टिंग की जाती है उन लोगों को X सिटी में काम करने वाले कर्मचारियों की तुलना में थोड़ा सा कम वेतन दिया जाता है Y सिटी के अंतर्गत आने वाले शहर इस प्रकार हैं भोपाल, सूरत, अमृतसर, इलाहाबाद, कानपुर, नागपुर, वाराणसी, पटना, लखनऊ, आगरा, भावनगर, फरीदाबाद, इंदौर, गोरखपुर, रायपुर शामिल हैं। 

Z City – Z सिटी के अंतर्गत जितने भी कर्मचारियों की पोस्टिंग की जाती है उन लोगों को अन्य कर्मचारियों की तुलना में कम वेतन दिया जाता है और इसका कारण यह है कि इन लोगों की पोस्टिंग भारत के पिछड़े शहरों में किया जाता है। 

SSC exam ka pattern

किसी भी प्रकार के एग्जाम की तैयारी करने से पहले उस एग्जाम का पैटर्न को समझना बहुत जरूरी होता है SSC कंपटीशन एग्जाम को करवाता है और यह एग्जाम ऑब्जेक्टिव टाइप का होता है इस एग्जाम में भी दूसरे एग्जाम की तरह ही पैटर्न होता है इस एग्जाम में जो प्रश्न पूछे जाते हैं वह मैथ, इंग्लिश और reasoning से संबंधित होता है इन प्रश्नों का स्तर ऊपर बताया गया पोस्ट के आधार पर होता है। 

क्या विकलांग महिलाएं भी एसएससी का एग्जाम दे सकती हैं

तो इसका जवाब है बिल्कुल हां SSC का एग्जाम सामान्य पुरुष एवं महिला की तरह ही विकलांग महिला एवं पुरुष भी दे सकते हैं एसएससी के एग्जाम के अंतर्गत भारत में सभी सरकारी नौकरियों के लिए परीक्षा लिया जाता है भारत में ऐसी बहुत सी सरकारी नौकरियां है जिनमें विकलांग पुरुष एवं महिलाओं को भर्ती किया जाता है। 

विकलांगों को भर्ती करने के लिए उनके पास विकलांगता का प्रमाण पत्र होना चाहिए और इसके साथ ही वह 60 से 70% तक ही विकलांग होना चाहिए अगर वह 90% तक विकलांग है तब उसे सरकारी नौकरी नहीं दी जाती है और वह एसएससी का एग्जाम देने के लिए पात्र नहीं होता है। 

60 से 70% या उससे कम विकलांग होने की स्थिति में ही भारत सरकार के द्वारा आयोजित किए गए SSC एग्जाम में बैठने की अनुमति कुछ निर्धारित नौकरियों के लिए दी जाती है पुरुष एवं महिलाओं को एसएससी एग्जाम में विशेष रुप से छूट प्रदान किया जाता है। 

विकलांग पुरुष एवं महिलाओं को एसएससी का एग्जाम देते समय अन्य परीक्षार्थियों की तुलना में 20% तक का ज्यादा समय दिया जाता है। 

इन्हे भी जाने –

Internet Of Things क्या है | इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) क्या है?

Debit card and Credit card difference in hindi | ATM card kya hai

Cyber Security क्या है | Importance of Cyber Security in Hindi

Bluetooth kya hai | ब्लूटूथ कैसे कार्य करता है

QR code kya hai ? QR code कैसे बनाएं ? QR code कैसे स्कैन करें ?

एसएससी का एग्जाम कौन दे सकता है?

भारत के सभी नागरिक एसएससी का एग्जाम दे सकता है।

क्या विकलांग महिलाएं की एसएससी का एग्जाम दे सकती हैं?

जी हां लेकिन उनकी विकलांगता 70% से कम होना चाहिए।

एसएससी का गठन कब किया गया था?

एसएससी का गठन 4 नवंबर 1975 में किया गया था लेकिन उस समय इसका नाम अधीनस्थ सेवा आयोग था।

अधीनस्थ सेवा आयोग से बदलकर SSC कब किया गया?

26 सितंबर सन 1977 में अधीनस्थ सेवा आयोग से बदलकर एसएससी कर दिया गया।

निष्कर्ष

आपने जाना की SSC kya hai,  ssc का फुल फॉर्म क्या है, ssc का गठन कब किया गया, ssc के लिए कौन सी योग्यता होनी चाहिए, ssc ऑफीसर की सैलेरी कितनी होती है इन सभी के बारे में आपको पूरी जानकारी मिल गई होगी और आपको कुछ नया चीज जानने को मिला होगा यह पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट में जरूर बताएं इसे अपने दोस्तों और परिजनों के साथ शेयर जरूर करें ऐसे ही जानकारी के लिए हमे सबस्क्राइब करना न भूलें। 

धन्यवाद!

इन्हे भी जाने –

अरस्तू के राजनैतिक सिद्धान्त एवं अरस्तू का नगर राज्य

whatsapp me bina online aaye chat kaise kare | व्हाट्सअप में बिना ऑनलाइन आये चैट कैसे करे

Band sim chalu kaise kare? बंद Sim Card कैसे चालू करें?

New sim card kaise chalu kare | Jio BSNL VI Airtel

Fake Call Kaise Kare । फेक नंबर से कॉल कैसे करे

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!