वेबसाइट कैसे बनाएं | Free में खुद की वेबसाइट बनाएं [2023]

Google News Follow

आज के समय में इंटरनेट के बारे में ऐसा कोई नहीं है जो ना जानता हो इसमें हम कोई भी जानकारी जानना चाहते हैं तो उसे प्राप्त कर सकते हैं जो जानकारी हमें सर्च इंजन प्रदान करती है वह कहीं ना कहीं से तो आते ही हैं या किसी ने तो लिखकर पब्लिश किया है तभी हम उसको सर्च करने पर उपलब्ध होता है। 

Content of table show

website kaise banaye

मैं जिस इनफॉरमेशन सोर्सेस की बात यहां पर कर रहा हूं उसे Website कहते हैं लेकिन हमेशा लोगों के मन में यही सवाल जरूर होता है कि यह Website कैसे बनती है इसका एक आसान जवाब नहीं है क्योंकि वेबसाइट को बनाने की एक पूरी प्रक्रिया से गुजरना होता है और इसे समझने के लिए आपको यह आर्टिकल website kaise banaye यह जरूर पढ़ें।

Website kaise banaye? apni website kaise banaye?

इंटरनेट यूजर्स होने के नाते आप ने भी बहुत से वेबसाइट देखे ही होंगे! लेकिन क्या आपको मालूम है कि यह Website kaise banaye जाते हैं! यदि नहीं जानते हैं तो चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि आज मैं इसी विषय के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे! जिससे हमें Website क्या है के साथ-साथ यह कैसे बनाई जाती है इसके बारे में भी जानकारी मिल जाएगी तो चलिए शुरू करते हैं हैं और वेबसाइट कैसे बनती है के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं।

Website kya hai? वेबसाइट क्या है?

एक Website web page का कलेक्शन होता है! ऐसे डाक्यूमेंट्स जिन्हें कि इंटरनेट के द्वारा Access किया जा सकता है! एक वेब पेज वही होता है जिसे कि आप अपने स्क्रीन में देखते हैं जब आप किसी ब्राउज़र में वेब ऐड्रेस को टाइप करते हैं किसी एक लिंक पर क्लिक करते हैं या कोई क्वेरी एक सर्च इंजन में खोजते हैं एक वेब पेज में कई प्रकार के इंफॉर्मेशन हो सकता है जिसमें कि text colour, Graphics, animation और sound  मुख्य रूप से होते हैं।

जब कोई आपको अपना वेब एड्रेस देता है तब वास्तव मे उस वेबसाइट का होम पेज होता है इससे आपको उस वेबसाइट में क्या है उसके बारे में जानकारी मिलती है अगर आप चाहें तो अलग अलग सेक्शन में भी जा सकते हैं और दूसरे content को भी पढ़ सकते हैं एक वेबसाइट में एक पेज या बहुत सारे पेज भी हो सकते हैं यह निर्भर करता है कि उस वेबसाइट का ऑनर विजिटर को क्या-क्या प्रदान करना चाहता है अक्सर वेबसाइट मे ज्यादा इंफॉर्मेशन होते हैं।

लोग क्यों वेबसाइट विजिट करते हैं?

आमतौर से यह देखा गया है कि लोग मुख्य रूप से दो कारणों से ही वेबसाइट देखना पसंद करते हैं। 

  • अपनी जरूरत की इंफॉर्मेशन तलाश रहती है वह कुछ भी हो सकता है जैसे कि एक स्टूडेंट अपने स्कूल होमवर्क के लिए किसी एक पक्षी के बारे में चित्र को ढूंढ रहा है या कोई किसी Product price चेक कर रहा है या कोई नए शहर में किसी एड्रेस को ढूंढ रहा है। 
  • एक टास्क को पूरा करने के लिए Visitors  को एक लेटेस्ट मोबाइल की तलाश रहती है! अपने खरीदने के लिए या फिर किसी गाने या मूवी को डाउनलोड करने के लिए! जिसे वह बाद में देखना चाहता है या किसी ऑनलाइन discussion में हिस्सा लेने के लिए। 
  • इसमें मुख्य बात यह होती है कि कोई भी वेबसाइट अपने लिए नहीं बनाता है! यह दूसरों को जानकारी प्रदान करने के लिए बनाता है इसलिए यदि आप साइड बना रहे हैं तब अपने लिए कंटेन्ट मत लिखें बल्कि अपने विजिटर के लिए लिखें आपके Visitor को क्या चाहिए इससे आपके व्यवसाय की लोकप्रियता ज्यादा बढ़ेगी। 

Website kaise banaye?

एक बार अपना वेबसाइट बना लिया और उसको डिजाइन कर लिया फिर बात आती है कि कैसे अपने वेबसाइट को लांच करें! यह प्रक्रिया थोड़ा कठिन हो सकता है अगर आपको यह नहीं पता है कि कैसे वेबसाइट को प्लेस किया जाता है, कैसे उसे इंटरनेट में होस्ट किया जाता है तो इसके लिए आपको यह सभी चीजों को बड़े आराम से सीखना होगा। 

यह तो आप जानते ही होंगे कि किसी भी वेबसाइट की सबसे महत्वपूर्ण aspect होती है उसका content लेकिन यह भी बहुत जरूरी होता है कि इसके intended audience ताकि यह जानकारी पहुंचे या विजिटर आपके वेबसाइट तक आसानी से पहुंच सके और उन्हें उनकी जरूरत की जानकारी मिल सके जिनकी वह तलाश कर रहा है। 

इसलिए अपने वेबसाइट को लांच करने से पहले आपको उन्हें अच्छी तरह से चेक कर लेना चाहिए! कि वह वेबसाइट Optimize  है कि नहीं! जिससे की नए विजिटर को आकर्शित कर सके और साथ ही उनकी एक्टिविटी को भी टैग कर सकें तो चलिए इस बारे में पूरी प्रक्रिया को अच्छी तरह से समझते हैं जिससे आपको वेबसाइट लांच करने में कोई भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े तो चलिए जानते हैं कि website कैसे बनती है। 

1. एक Domain Name सेलेक्ट और रजिस्टर करें

आप एक ऐसे domain name को चुने जिसे की आसानी से याद रखा जा सके और जो भी आपके वेबसाइट कंटेंट को सूट करें कुछ common top level domains होते हैं जैसे- .com, .Org, .net, .in जोकि वेबसाइट को स्टैंड करते हैं। 

Commercial education organisation और network respectively के तौर पर कोशिश करें कि टॉप लेवल डोमेन अपने वेबसाइट के परपज के लिए मैच करें लेकिन कुछ टॉप लेवल डोमेन में कोई रियल रिस्ट्रिक्शन नहीं होती है जैसे कि org और com इसलिए अगर आप जिस नाम को लेना चाहते हैं एक domain मे वह दूसरे domain में available हो।

2. अपने लिए सही web hosting को चुने और फिर खरीदें

अपने लिए उचित web hosting (host) को चुने और जरूरी के bandwidth को सुरक्षित भी करें! जो कि आपके वेबसाइट को smooth running के लिए जरूरी होता है, एक अपेक्षित मात्रा की ट्राफिक के लिए अब आप यह सोच रहे होंगे कि यह bandwidth क्या होता है bandwidth का अर्थ यह होता है कि एक दिए गए समय में कितना अमाउंट का डाटा ट्रांसफर होने के लिए Allow किया जा सकता है इसे ही बैंडविथ कहा जाता है।

आपकी वेबसाइट जैसे जैसे बड़ी होगी वैसे ही आपको भी अपनी वेबसाइट की बैंडविथ को बढ़ाना होता है! जिससे की वेबसाइट को देखने में विजिटर को कोई परेशानी ना हो! अन्यथा वह अंतराल अनुभव कर सकता है! जिससे कि user experience खराब हो जाएगा और वह आपके वेबसाइट पर नहीं आएंगे बहुत से hosting companies आपको सॉफ्टवेयर भी प्रदान करते हैं जो कि आपको वेबसाइट बनाने में मदद करती है।

3. अपने website फाइल की एक Backup Copy तैयार करें

आप अपने वेबसाइट की एक बैकअप कॉपी अपने पास जरूर रखें! जिसे की केवल आप ही उसे देख और सुधारने के लिए इस्तेमाल कर सकें! वही एक कॉपी वेब होस्ट में होता है जिसे इंटरनेट के माध्यम से दूसरों के देखने के लिए

4. कोशिश करें कि वेबसाइट को आसानी से नेविगेट किया जा सके

अगर किसी यूज़र को आपके वेबसाइट में जरूरत की कोई भी चीज 30 सेकेंड के अंदर नहीं मिलती है तब हो सकता है कि वह कभी भी आपके website में वापस ही ना आए इसलिए जरूरी है कि अपने website को ठीक तरीके से व्यवस्थित करें और लिंक का भी सही रूप से इस्तेमाल करें जिससे की एक पेज से दूसरे पेज में नेविगेट करना आसान हो सके।

5. अपने code  को validate करें

आपके वेबसाइट में इस्तेमाल हुए HTML, CSS, XHTML, JavaScript और XML codes को वैलिडेट करें ताकि यह पता चल सके कि आपके website में सभी क्लीन कोड हैं और वह सही तरीके से काम करें विजिटर के लिए जैसे कि उन्हें करना चाहिए internet मे बहुत से program available हैं जो कि इस प्रकार के course को ऑनलाइन वैलिडेट करते हैं। 

इन्हे भी जाने –

Google assistant क्या है और कैसे यूज़ करें 2022

Train live location kaise dekhen? ट्रेन कहां है कैसे पता करें?

Paypal account kaise banaye और वेरीफाई कैसे करें पूरी जानकारी हिंदी में

6. एक Sitemap का सही तरीके से एंप्लेसमेंट करें

सर्च इंजन को Sitemap बहुत मदद प्रदान करती है! जिससे कि वह वेबसाइट को सुरक्षित तरीके से इंडेक्सिंग कर सके! एक साइट मैप कई URL का एक कलेक्शन होता है साइटमैप को create करने पर यह allow करता है कि सर्च bots को आपके वेबसाइट के आवश्यक pages को ढूंढ कर उन्हें display करते हैं। 

7. अपने वेबसाइट को अलग-अलग वेब ब्राउजर में टेस्ट करें 

अपनी वेबसाइट को confirm करने के लिए कि उसका डिजाइन और पेज का स्ट्रक्चर ठीक तरीके से डिस्प्ले होता है या नहीं! throughly test करना चाहिए जैसे कि उसे होना चाहिए अपने वेबसाइट को ज्यादा पॉपुलर ब्राउज़र्स (web browser) जिसमें की Chrome, Firefox, Internet explorer, Opera और Safari मे देखना चाहिए क्योंकि लोग हिंदी ब्राउज़र का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं। 

8. इस बात का ध्यान रखें कि आप SEO friendly code का ही इस्तेमाल करें

आपको meta और ALT tags का प्रयोग करें अपने आर्टिकल में, यह insure करने के लिए कि आपकी वेबसाइट ना केवल यूजर search में दिखाई दे! बल्कि इसके साथ ही आपके content के उचित keywords अच्छी तरह से दिखाई दे इस तरह करने से आपके article search engine मे आने के ज्यादा चांस होते हैं जिससे आपकी वेबसाइट की ट्रैफिक भी बढ़ सकती है। 

ALT tags को पिक्चर के डिस्क्रिप्शन मे लिखा जाता है जिससे सर्च बोट को पिक्चर के बारे में पता चल सके जोकि सर्च इंजन को यह बताता है कि आपके साइड में लगे हुए पिक्चर किस टॉपिक पर आधारित है। 

इन्हे भी पढ़े –

Similar web क्या है | Similarweb के मुख्य फीचर्स

Mozbar kya hai | Mozbar extension का उपयोग, download

9. install Kare website analytics

वेबसाइट की स्टैटिक्स के विषय में जानना जरूरी होता है! अपने वेबसाइट में analytics का इस्तेमाल करना बहुत जरूरी होता है इससे लोगों के प्रिंट से लेकर क्लिक नए विजिटर जैसे बहुत से जानकारी प्राप्त होती है साथ ही आपके द्वारा की गई चेंज इसका असर को आप निर्णय कर सकते हैं और उसके हिसाब से सही-सही adjustment वेबसाइट की प्रभावशीलता को बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। 

10. वेबसाइट की फाइल को आपके web host में ट्रांसफर करें

वेबसाइट की कॉपी जो आपके कंप्यूटर में रहती है! उसे लॉकर वर्जन कहते हैं! और जो वेब होस्ट में रहती है उसे प्रोडक्शन वर्जन कहा जाता है इसके बाद आपकी वेबसाइट लांच की प्रक्रिया पूरी हो जाती है। 

Website kaise banaye? वेबसाइट बनाने में कौन सी प्रोग्रामिंग का यूज करते हैं?

वेबसाइट को बनाने के लिए बहुत से प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का प्रयोग होता है! लेकिन यहां मैं आपको कुछ जरूरी प्रोग्रामिंग के बारे में ही बताऊंगा

HTML  –  यह पेज के फॉर्मेटिंग करने के लिए एक markup language होता है दरअसल यह एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है भी नहीं बस यही एक advanced punctuation होता है। 

CSS  –  यह एक प्रकार का रूल सेट होता है जो कि ब्राउज़र को डायरेक्शन देती है! की HTML फॉर्मेटिंग कांटेक्ट को कैसे डिस्प्ले किया जाए! यह एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं होता है जैसे कि HTML होता है लेकिन यह बहुत ही ज्यादा Powerful होता है। 

Javascript – यह एक प्रोग्रामिंग लैंग्वेज होती है इसका प्रयोग वेबसाइट को आकर्षित बनाने के लिए किया जाता है आप चाहें तो अपने क्रोम ब्राउजर में राइट क्लिक और फिर inspect एलिमेंट पर जाकर inspector को देख सकते हैं कि यह Java script क्या कर सकता है। 

AJAX –  यह Javascript का higher एक्सटेंशन होता है! जिससे वह वेब सर्वर से डाटा पा सके और पेज को बिना रिफ्रेश किए अपडेट भी कर सकता है। 

PHP –  यह एक प्रकार का code होता है जिसे आमतौर पर प्रयोग किया जाता है! server side मे interact करने के लिए फाइल सिस्टम और डाटा बेस के साथ और अंत में यह आउटपुट के रूप में HTML पैदा करता है अगर आप चाहे तो python, perl, .net और दूसरे लैंग्वेज इज फ्रेमवर्क्स का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

MySQL – यह एक डेटाबेस होता है! इसका इस्तेमाल कैसे करें! इसके लिए आपको सभी लैंग्वेज के विषय में थोड़ा थोड़ा जानना होगा! जैसे कि HTML CSS Javascript और PHP python, perl मे से एक और उनसे संबंधित फ्रेमवर्क्स अब बहुत से नए लैंग्वेजेस आ चुके हैं जोकि प्रोग्रामिंग को बहुत ही सरल बना दिया है लेकिन basic का clear होना सबसे ज्यादा जरूरी है। 

Free website kaise banaye?

एक वेबसाइट को बनाने के लिए बहुत सारे चीजों की आवश्यकता होती है और सबसे पहला है पैसा, होस्टिंग, वेब प्रोग्रामिंग जैसे- HTML, CSS, Javascript, php, .net इन सब की जानकारी होना बहुत जरूरी है अगर आपके पास पैसा है तब आप एक वेब डेवलपर को यह काम दे सकते हैं वह आपके जरूरत के हिसाब से वेबसाइट को डिजाइन कर देगा

अगर आप यह जानना चाहते हैं! कि अपने नाम की वेबसाइट कैसे बनाएं! तो आप वह भी बड़ी आसानी से बना सकते हैं! ऐसे में कुछ वेबसाइट हैं जो आपको ऑनलाइन प्लेटफॉर्म प्रदान करते हैं जिसके माध्यम से आप बिना कोडिंग के आसानी से अपना वेबसाइट बना सकते हैं।

नीचे कुछ वेबसाइट का नाम दिया गया है जहां पर आप रजिस्टर करके उसका वेबसाइट बिल्डर करके अपना वेबसाइट बना सकते हैं। 

  • www.blogger.com 
  •  www.wix.com
  • Www.websitebuilder.com
  • Www.sitebuilder.com
  • Www.sitey.com
  • Www.weebly.com

निष्कर्ष

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरा यह पोस्ट website kaise banaye, फ्री में खुद की वेबसाइट कैसे बनाएं काफी पसंद आई होगी  मेरी यही कोशिश है कि पढ़ने वालों के लिए वेबसाइट कैसे बनाई जाती है के विषय में पूरी जानकारी प्राप्त हो जिससे कि उन्हें किसी दूसरे साइट या इंटरनेट में उस आर्टिकल के विषय में खोजने की जरूरत ना पड़े जिससे कि उनके समय की बचत होगी और एक जगह ही उन्हें सभी जानकारी मिल जाए यदि आपके मन में इस आर्टिकल को लेकर कोई भी संदेह है तो हमें कमेंट कर सकते हैं। 

धन्यवाद !

Share us friends

Leave a Comment