Cloud Computing in Hindi | क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है ?

Google News Follow

हैलो दोस्तो आज हम cloud computing के बारे में सारी detail एक के बाद एक समझेंगे, इस आर्टिकल में पूरी कोशिश की गई है कि आपको यही हर जानकारी मिल सके और क्लाउड कंप्यूटिंग होता क्या है? इसके उपयोग क्या है यह सारी बातें आप समझ सकें। अक्सर इन दिनो cloud storage, cloud data, cloud server जैसे शब्द सुनने मे आता है लेकिन कुछ लोगो को इसकी जानकारी नही होती है की यह सब होते क्या है। यह सब क्लाउड कंप्यूटिंग के अंतर्गत ही आते है जिनके बारे मे हम आगे बात करेंगे।

Content of table show

What is cloud computing

Cloud Computing kya hai | क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है ?

क्लाउड कम्प्यूटिंग एक प्रकार का Server storage है जिसे इंटरनेट के माध्यम से उपयोग किया जाता है।

क्लाउड कंप्यूटिंग एक तरह की technology है जिसमें इंटरनेट के माध्यम से सभी तरह की सेवाएं प्रदान की जाती है यह सेवाए कुछ भी हो सकती हैं फिर चाहे किसी प्रकार का सर्वर हो या डाटा स्टोरेज के लिए जगह दिया जाना हो या कोई अन्य सेवा हो क्लाउड कंप्यूटिंग का मतलब है किसी भी तरह के कंप्यूटिंग सर्विस को इंटरनेट के जरिए यूजर की डिमांड पर डाटा प्रदान करना आसान शब्दो में अगर क्लाउड कंप्यूटिंग को समझाएं तो इस टेक्नोलॉजी में यूजर को इंटरनेट के एक सर्वर पर डाटा स्टोरेज की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है ऐसे में क्लाउड पर space खरीद कर यूजर अपना चाहे कितना भी डाटा उस पर सेव व सुरक्षित कर रख सकता है और अपने डाटा को दुनिया के किसी भी कोने से उसकी excess ले सकता है।

Internet service provider | ISP क्या है और इसका काम क्या है | ISP के 3 प्रकार

Cloud Computing meaning

Cloud Computing meaning

आसान शब्दों में Cloud computing इंटरनेट का उपयोग करके  user को उनके कंप्यूटर पर दी जाने वाली सेवाओं!  server database networking storage की डिलीवरी है। 

Cloud Computing define

कई कंप्यूटर के द्वारा बनाए गए स्थानीय Server या Personal computer के बजाय किसी भी प्रकार के डाटा को स्टोर करने, प्रतिबंधित करने और संसाधित करने के लिए इंटरनेट पर  Host किए गए दूरस्थ सर्वर के नेटवर्क का उपयोग Cloud computing कहलाता है।

क्लाउड कंप्यूटिंग का इतिहास

क्लाउड कंप्यूटिंग की शुरुआत 1960 के समय को मानी जाती है लेकिन तब इंटरनेट की ठीक से शुरुआत भी नहीं हुई थी क्लाउड कंप्यूटिंग की शुरुआत इसके 30 से 40 साल बाद 1990 में हुई जब Salesforce नाम की कंपनी ने अपनी वेबसाइट से लोगों को सेवाएं देना शुरू किया, इसके बाद से लोगों ने इसके महत्व और उपयोगिता को समझना शुरू किया और इसके बाद ही पता चला कि यह आने वाले समय में कितनी महत्वपूर्ण साबित हो सकती है इसके कई सालों बाद क्लाउड कंप्यूटिंग के फील्ड मे काफी तेजी आई और 21वीं शदी में आकर अमेजॉन, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट जैसी कई बड़ी कंपनी इन क्लाउड कंप्यूटिंग के फील्ड में अपनी सेवाएं देना शुरू कर दिया।

इसे भी पढे – 

Internet Of Things क्या है | इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) क्या है?

What is Artificial Intelligence | आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या है?

Generation Of Computer in Hindi | कंप्यूटर की सभी पीढ़ियों की जानकारी

Cloud Computing services

इंटरनेट आधारित क्लाउड कंप्यूटिंग में उपयोगकर्ताओं को  Server पर आंकड़ों को संग्रहित करने की सुविधा दी जाती है! आज कई प्रकार की क्लाउड कम्प्यूटिंग सेवाएं हैं! इन सभी सेवाओं में कुछ बुनियादी विशेषताएं और फायदे एक समान ही हैं और इन्हें तीन Cloud computing Services में वर्गीकृत किया गया है तीन अलग-अलग प्रकार की क्लाउड कम्प्यूटिंग सेवाओं के साथ अपने व्यवसाय को छोटा या बड़ा Cloud पर ले जाया जा सकता है। 

1. Infrastructure as a service (IAAS)

इस Service से यह तात्पर्य है कि!  user को आभासी वातावरण में डाटा के लिए जरूरी सभी कंप्यूटिंग क्षमताएं उपलब्ध कराने से है! और साथ में  cloud में Storage space उपलब्ध कराना भी इसके अंतर्गत आता है।

For example –   Amazon Web service, internet connectivity, utility  computing service तथा Billing model,  प्रशासकीय कार्यों का स्वचालन, गूगल कंप्यूटर इंजन इत्यादि। 

2. Platform as a service (PAAS)

platform सेवा से तात्पर्य उपयोगकर्ता को आभासी  (virtual) वातावरण या  tools जिन पर सॉफ्टवेयर की टेस्टिंग होती है यह Cloud computing Service developers को एक ऐसा ढांचा प्रदान करता है जिसका उपयोग  custom application बनाने के लिए किया जा सकता है।

एक  service के रूप में platform software developers को डाटा संग्रहण, डाटा सेवा और प्रबंधन के बारे में चिंता किए बिना ऑनलाइन Custom application बनाने देता है।

इंटरनेट पर नेटवर्क क्षमता स्टोरेज ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर के लिए एक रेटिंग एजेंट की तरह कार्य करता है।

for example –  Google App Engine.

3. Software as a service (SAAS)

यह सॉफ्टवेयर वितरण मॉडल है जिसमें एक तृतीयक सेवा आपूर्ति करता एप्लीकेशन का रखरखाव करता है तथा इसे इंटरनेट पर यूजर को उपलब्ध कराता है  SAAS एक क्लाउड कंप्यूटिंग सेवा की पेशकश है जो ग्राहकों को On demand web आधारित सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन प्रदान करती है।

SAAS एक सबसे परिचित क्लाउड कम्प्यूटिंग सेवा की पेशकश है! क्योंकि उपयोगकर्ता अक्सर  Netflix, Gmail, Dropbox जैसे SAAS अनुप्रयोगों के साथ सीधे Interact करते हैं।

यह सर्विस एक सदस्यता आधारित पेशकश है! जहां उपयोगकर्ता इसे खरीदने के बजाय मासिक आधार पर सॉफ्टवेयर की सदस्यता लेते हैं

For example –  Google, Microsoft, WordPress, Pardot marketing automation.

इसे भी पढे – 

What is Database | डेटाबेस क्या है ? परिभाषा, प्रकार और अन्य जानकारी

What is Bandwidth | बैंडविड्थ क्या है? परिभाषा और अन्य जानकारी (सिर्फ 5 मिनट मे)

Web browser kya hai यह कैसे काम करता है? पूरी जानकारी

1. Public cloud computing | सार्वजनिक क्लाउड कम्प्यूटिंग

  • सार्वजनिक क्लाउड आमतौर पर IT संरचना से बनाए गए क्लाउड वातावरण होते हैं।
  • सार्वजनिक क्लाउड कुछ शुल्क लेकर सार्वजनिक रुप से इंटरनेट पर अपनी सेवाएं प्रदान करती है।
  • सेवा और बुनियादी ढांचे सभी ग्राहकों द्वारा सांझा की जाती है।
  • सार्वजनिक क्लाउड कंप्यूटिंग अपनी सेवाएं देते हैं और इंटरनेट पर भंडारण करते हैं।
  • सॉफ्टवेयर विकास और सहयोगी परियोजनाओं के लिए अक्सर सार्वजनिक क्लाउड की सिफारिश होती है।
  • ग्राहकों की मांग पर अधिक क्षमता का प्रावधान किया जाता है।
  • एक सार्वजनिक क्लाउड का लाभ बहुमुखी प्रतिभा और उपयोग अनुसार भुगतान किया जा सकता है।
  • Amazon, Microsoft, Google यह एक सार्वजनिक क्लाउड के कुछ उदाहरण है। 

2. Private cloud computing | निजी क्लाउड कम्प्यूटिंग 

निजी क्लाउड को शिथिल रूप से ऐसे क्लाउड वातावरण के रूप में परिभाषित किया जाता है जो पूरी तरह से एकल अंतिम उपयोगकर्ता या समूह को समर्पित होते हैं

  • निजी क्लाउड का प्रयोग एक संगठन द्वारा किया जाता है।
  • यह कुछ विशिष्ट लोगों को ही अपनी सेवा प्रदान करते हैं।
  • अधिकृत उपयोग करता कहीं से भी इंटरनेट का उपयोग करके निजी क्लाउड से डेटा का उपयोग और स्टोर कर सकते हैं।
  • प्राइवेट क्लाउड में समाधान सुरक्षा एवं नियंत्रण प्रदान करते हैं। 
  • निजी क्लाउड को बाहरी विक्रेता द्वारा नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।
  • निजी cloud एक क्लाउज डिलीवरी विकल्प है जो कम कर्मचारियों या कम कुशल IT टीमों वाले उद्यमों को बेहतर निजी क्लाउड सेवाएं और बुनियादी ढांचा प्रदान करने में मदद करता है।
  • प्राइवेट क्लाउड के कुछ उदाहरण On premises cloud, narrow cloud.

3. Hybrid cloud computing | हाइब्रिड क्लाउड कम्प्यूटिंग

हाइब्रिड क्लाउड एक मिश्रित कंप्यूटिंग अर्थात सार्वजनिक और निजी क्लाउड के संयोजन से बनता है हाइब्रिड क्लाउड दो प्लेटफार्म को  मूल रूप से बातचीत करने की अनुमति देने के लिए डिजाइन किए गए हैं जिससे डाटा और एप्लीकेशन एक दूसरे से आसानी से शेयर किए जा सकते हैं

यह On premises Infrastructure निजी क्लाउड सेवाओं और एक सार्वजनिक क्लाउड से बना होता है।

For example-  Amazon Web  services (AWS),  Microsoft  Azure.

कंप्यूटिंग के उदाहरण

क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी के कई उदाहरण हमारे आस पास मौजूद हैं जिनके बारे मे आगे बताया जा रहा है-

Facebook – फेसबुक एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसके बारे मे लगभग सभी लोग जानते है जिस पर अरबों-लाखों की प्रोफाइल बनी हुई है और बहुत से डाटा मौजूद है, ऐसे में इतने ढेर सारे डेटा को रखने के लिए फेसबुक क्लाउड कंप्यूटिंग का ही इस्तेमाल करता है।

youtube – youtube एक वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म है जिस पर हर रोज लाखों-करोड़ो वीडियो अपलोड होते हैं ऐसे में इतने सारे वीडियो को स्टोर करने के लिए यूट्यूब भी क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी का ही इस्तेमाल करता है।

google जो भी हमे अपनी service provide करता है जैसे – google drive, google doc, google map यह सभी वह क्लाउड कम्पुटिंग के माध्यम से देता है और गूगल के अलावा जितने भी वेब इंजन है bing, yahoo, amazon यह सब भी क्लाउड कंप्यूटिंग के अच्छे उदाहरण है।

Cloud computing Advantages | क्लाउड कम्प्यूटिंग के लाभ

  • क्लाउड कंप्यूटिंग की पूंजी लागत अपेक्षाकृत कम होती है।
  • इसके update आसानी से तथा सेवा प्रदाता के द्वारा प्रदान करते हैं।
  • क्लाउड कम्प्यूटिंग की सेवा में सॉफ्टवेयर की नकल नहीं की जा सकती है प्रत्येक उपयोगकर्ता को अधिकारिक तौर पर उचित शुल्क चुका कर यह Service provide होती है।
  • इसमें आंकड़ों का संग्रहण अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है क्योंकि सभी आंकड़े एक केंद्रीय Server पर उच्च तकनीक के प्रयोग से सुरक्षित रखे जाते हैं।
  • इसमें आंकड़ों का संग्रहण अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है क्योंकि सभी आंकड़े एक केंद्रीय Server पर उच्च तकनीक के प्रयोग से सुरक्षित रखे जाते हैं।
  • क्लाउड कंप्यूटिंग के  advantages हम अपनी लाइफ में हर दिन कहीं ना कहीं ले रहे हैं !जैसे कि- Email, Gmail, Ymail, data backup लेना, Google Drive, onedrive, demand पर सॉफ्टवेयर डिलीवरी करना, एप्लीकेशन बनाना,  audio-video streaming example – Netflix, Amazon Web  services, hotstar, wynk music, etc. 

इसे भी पढे – 

Information Communication Technology in Hindi | ICT |  सूचना संचार प्रौद्योगिकी

VPN | Virtual Private Network | वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क क्या है | VPN के फायदे व नुकसान

Cloud Computing Disadvantages

  • क्लाउड कंप्यूटिंग के केंद्रीय Server पर  data के संग्रहण के कारण यह  cyber हमलों का केंद्र बन जाता है जिससे  data की सुरक्षा कम हो जाती है।
  • server पर संग्रहित data का दुरुपयोग किया जा सकता है तथा किसी व्यक्ति की निजता को भंग किया जा सकता है।

पूछे जाने वाले प्रश्न  

प्रश्न – Cloud Computing क्या है in Hindi?

क्लाउड कंप्यूटिंग एक तरह की technology है, क्लाउड कंप्यूटिंग के माध्यम से इंटरनेट के एक सर्वर पर डाटा स्टोरेज की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। ऐसे में क्लाउड पर space खरीद कर यूजर अपना चाहे कितना भी डाटा उस पर सेव व सुरक्षित कर रख सकता है और अपने डाटा को दुनिया के किसी भी कोने से उसकी excess ले सकता है।

प्रश्न – क्लाउड कंप्यूटिंग कितने प्रकार के होते हैं?

क्लाउड कंप्यूटिंग मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते है।
1. Public cloud computing (सार्वजनिक क्लाउड कम्प्यूटिंग)
2. Private cloud computing (निजी क्लाउड कम्प्यूटिंग) 
3. Hybrid cloud computing (हाइब्रिड क्लाउड कम्प्यूटिंग)

प्रश्न – क्लाउड कंप्यूटिंग का उदाहरण क्या है?

क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी के कई उदाहरण हमारे आस पास मौजूद हैं जैसे – facebook, youtube.
google जो भी हमे अपनी service provide करता है जैसे – google drive, google doc, google map यह सभी वह क्लाउड कम्पुटिंग के माध्यम से देता है, गूगल के अलावा जितने भी वेब इंजन है bing, yahoo, amazon यह सब भी क्लाउड कंप्यूटिंग के अच्छे उदाहरण है।

प्रश्न – क्लाउड कंप्यूटिंग और लाभ क्या है?

क्लाउड कंप्यूटिंग के  advantages हम अपनी लाइफ में हर दिन कहीं ना कहीं ले रहे हैं !जैसे कि- Email, Gmail, Ymail, data backup लेना, Google Drive, onedrive, demand पर सॉफ्टवेयर डिलीवरी करना, एप्लीकेशन बनाना,  audio-video streaming example – Netflix, Amazon Web  services, hotstar, wynk music, etc. 

निष्कर्ष 

आपको यहां Cloud Computing से जुड़ी जानकारी से अवगत कराया गया है उम्मीद है कि इस जानकारी से आपको क्लाउड कम्प्यूटिंग को समझने में मदद मिली होगी आपको इस आर्टिकल में दी गई जानकारी फायदेमंद लगी हो या पसंद आई हो तो अपने दोस्तों को इसे जरूर शेयर करें कमेंट कर बताए आप को यह पोस्ट कैसा लगा और भी ऐसे ही जानकारी पते रहने के लिए सबस्क्राइब करना न भूलें। 

धन्यवाद!

Share us friends

Leave a Comment