सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) 2023 | Sukanya Samriddhi Yojana

भारत सरकार के द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत Sukanya Samriddhi Yojana योजना को विकसित किया गया है सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) बालिकाओं के लिए बनाया गया एक कल्याणकारी योजना है इस योजना में निवेश करने पर माता पिता या अभिभावक 10 वर्ष या उससे कम उम्र की बालिकाओं के लिए वित्तीय सुरक्षा कर सकते हैं सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत लड़की के नाम पर एक 21 साल के लिए किसी भी निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में खाता खोला जा सकता है SSY के तहत निवेश की अवधि खाता खोलने की तारीख से शुरू होकर 21 साल है।

Content of table show

 

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) 2023 | Sukanya Samriddhi Yojana

 

Sukanya Samriddhi Yojana क्या है। SSY Scheme

Sukanya Samriddhi Yojana देश में बालिकाओं की बेहतर भविष्य के उद्देश्य से भारत सरकार की यह एक बचत योजना है सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) बालिकाओं के लिए एक उज्जवल भविष्य प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है और माता पिता को अपनी बालिका के भविष्य की शिक्षा और शादी के खर्चे के लिए एकमुश्त राशि इकट्ठा करने में सक्षम बनाती है। 

Sukanya Samriddhi Yojana जिसे SSY भी कहा जाता है जो मुख्य रूप से बालिकाओं के लिए बनाया गया यह एक जमा योजना है यह योजना बालिकाओं के लिए आर्थिक रूप से सुरक्षित और भविष्य सुनिश्चित करने के लिए शुरू किया गया था यह जमा योजना आपको अपनी बच्चियों के लिए नियमित रूप से बचत करने में सहायता करती है इस जमा धनराशि का उपयोग आपकी बालिकाओं के लक्ष्य जैसे शिक्षा या विवाह आदि को पूरा करने के लिए किया जा सकता है। 

इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा वर्ष 2015 में शुरू किया गया था और यह योजना बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना के तहत शुरू की गई कई योजनाओं में से एक है धनलक्ष्मी योजना, लाडली लक्ष्मी योजना और इनके अतिरिक्त भी कुछ अन्य योजनाएं शुरू की गई थी। 

Sukanya Samriddhi Yojana beti bachao beti padhao
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ

यदि आप सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत अपना खाता खोलना चाहते हैं तो आप बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में से किसी भी एक जगह पर जाकर इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं

Sukanya Samriddhi Yojana Interest rate | सुकन्या समृद्धि योजना ब्याज दरें

आपके Sukanya Samriddhi Yojana खाते में आपको मिलने वाली ब्याज दर वर्तमान में 7.6% प्रतिवर्ष है। यह ब्याज दर 1 अप्रैल 2020 से लागू है यह ब्याज दर पहले की अपेक्षा कम है जो 8.4 प्रतिशत थी हालांकि यदि आपने 12 दिसंबर 2019 से 31 मार्च 2020 के बीच जमा किया है तो आपको 8.4% प्रतिवर्ष दिए जाएंगे। 

  • ब्याज आपको वर्ष भर में दिया जाता है
  • ब्याज हर वर्ष के अंत में जमा किया जाता है
  • ब्याज दर सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है और यह हर तिमाही में बदला जाता है
  • अगर लड़की NRI बन जाती है तो इस स्थिति में कोई ब्याज दर नहीं दिया जाता है

यहां पर नीचे टेबल दिया गया है जिसमें SSY (Sukanya Samriddhi Yojana) योजना की शुरुआत के बाद से अब तक दी जाने वाली ब्याज दरों को बताया गया है

साल (Year) Interest rate % मे 
1 अप्रैल 2022 से अब तक  7.6 % प्रतिवर्ष 
1 अप्रैल 2020 – 31 मार्च 2022   7.6 % प्रतिवर्ष 
1 जनवरी 2020  – 31 मार्च 2020   8.4 % प्रतिवर्ष
1 अक्टूबर 2018 – 30 जून 2019 8.5 % प्रतिवर्ष
1 जनवरी 2018 – 30 सितंबर 2018  8.1 % प्रतिवर्ष 
1 जनवरी 2017 – 31 दिसम्बर 2017  8.3 % प्रतिवर्ष 
1 अक्टूबर 2016 – 31 दिसम्बर 2016  8.5 % प्रतिवर्ष 
1 अप्रैल 2016 – 31 सितंबर 2016  8.6 % प्रतिवर्ष 
1 अप्रैल 2015 -31 मार्च 2016  9.2 % प्रतिवर्ष 
3 दिसम्बर 2014 – 31 मार्च 2015  9.1 % प्रतिवर्ष 

सुकन्या समृद्धि योजना मे ब्याज की गणना कैसे करें

आपके द्वारा जमा की गई धन राशि की गणना करने के लिए हमें जोड़े जाने वाले ब्याज की गणना करने की आवश्यकता होती है Sukanya Samriddhi Yojana में अपनी हिसाब से गणना करने के लिए आप नीचे दिए गए फार्मूले का उपयोग करके कर सकते हैं-

I=p(1+R/100)^N

I=interest

P=principal invested

R=rate of return

N=number of years

Sukanya Samriddhi Yojana खाता पर चक्रवृद्धि ब्याज की गणना हर वर्ष की जाती है यदि आप manually रूप से गणना नहीं करना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन कैलकुलेटर के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना की जांच कर सकते हैं। 

सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर क्या है

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) आपको खाते में नियमित रूप से जमा करने और एक मुस्त राशी बनाने की अनुमति देती है जो आपकी बालिकाओं के लिए बहुत उपयोगी होगा यह निवेश बहुत सुरक्षित है क्योंकि यह सरकार के द्वारा समर्थित है और रिटर्न की गारंटी है चूंकि यह सुरक्षित है आप एक अनुमानित राशि की गणना कर सकते हैं जो आपको योजना के पूरा होने पर प्राप्त हो सकता है। 

इसके लिए आप सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं कैलकुलेटर में आपको वह निवेश लिखना होगा जो आप हर वर्ष जमा करते हैं और वर्तमान में लागू ब्याज दर

इसके पूरे होने की अवधि 21 वर्ष की है यह सभी विवरण दर्ज करने के बाद आपको आवश्यक राशि मिल जाएगी उदाहरण के लिए अगर आप हर वर्ष ₹12000 जमा करना चाहते हैं तो 15 साल बाद आपका कुल धन राशि ₹5,27,000 होगा। 

सुकन्या समृद्धि योजना खाता कैसे काम करता है

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत माता पिता अपनी बेटी के खाते में हर वर्ष कम से कम ₹1000 और अधिकतम ₹1.5 लाख तक जमा कर सकते हैं यह जमा खाता खोलने के बाद पहले 15 वर्षों के लिए किया जा सकता है इसके बाद खाता में जमा धनराशि चक्रवृद्धि ब्याज से बढ़ते रहेगी इसके बाद एकत्रित राशि आपकी बेटी के वयस्क होने पर उसके उच्च शिक्षा व्यवसाय शुरू करने या शादी करने के सपने को पूरा करने में सहायता कर सकती है। 

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए पात्रता

भारत सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) को सभी के लिए उपलब्ध कराया है और इसलिए आप किसी भी पोस्ट ऑफिस में खाता खोल सकते हैं सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) खाता खोलने के लिए पात्रता मानदंडों को आइए समझते हैं। 

  • बालिका के माता-पिता या फिर वैध अभिभावक ही सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं
  • खाता खोलने के समय बालिका की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए या बालिका के 1 वर्ष होने तक यह खाता चालू किया जा सकता है। 
  • इस योजना में निवेश करने न्यूनतम राशि 250 रुपए से शुरू हो जाता है और यह 1.5 लाख रुपए वार्षिक तक हो सकता है। 
  • एक व्यक्तिगत बालिका के पास कई सुकन्या समृद्धि खाता नहीं हो सकता है। 
  • प्रत्येक परिवार केवल दो सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने की अनुमति है। 

Sukanya Samriddhi Yojana Benefits | सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ

उच्च ब्याज

सुकन्या समृद्धि खाता बालिकाओं के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करने वाली अन्य बचत योजनाओं की तुलना में अधिक ब्याज दर प्रदान करती है प्रत्येक वित्तीय वर्ष में सरकार उस वर्ष के लिए लागू ब्याज दर की घोषणा करती है जबकि आपके के द्वारा निवेश किए गए रुपयों पर ब्याज वार्षिक चक्रवृद्धि होता है और यह पूरा होने पर आपके सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) खाते के तहत रकम ढाई गुना बढ़ जाएगी। 

महत्वपूर्ण कर बचत

आपकी बेटी के भविष्य के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) में आपका योगदान आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80C के तहत कटौती के लिए पात्र है इस प्रकार आप योजना में निवेश किए गए 1.5 लाख रुपए तक, कर (TAX) कटौती का दावा कर सकते हैं इसके अलावा मिलने वाले ब्याज और इसकी अवधि पूरा होने पर मिलने वाली राशि पर कर बचत का लाभ भी मिलता है। 

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) राजस्व विभाग के अधिकार मे होता है और अधिक लोकप्रिय निवेश योजनाओं में से एक है। 

गारंटी कृत परिपक्वता लाभ

परिपक्वता पर सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत आपके खाते की शेष राशि ब्याज सहित सीधे बालिका को भुगतान किया जाएगा इस प्रकार यह योजना मुख्य रूप से आपकी बेटी को वित्तीय रूप से स्वतंत्र और सशक्त बनाने में सहायता करती है जब वह अपने जीवन के निर्णय लेने के लिए पर्याप्त रूप से सक्षम हो जाती है सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत निवेश करने का एक और अन्य लाभ यह है कि आपकी संचित बचत परिपक्वता के बाद भी तब तक चक्रवृद्धि ब्याज मिलती रहती है जब तक कि खाताधारक द्वारा इसे बंद नहीं कर दिया जाता है। 

सुकन्या समृद्धि योजना के कर लाभ

यदि आपके पास सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत खाता है तो आप जमा राशि पर कर का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं आइए सुकन्या समृद्धि योजना द्वारा प्रदान किए गए कर लाभो के बारे में जानते हैं-

  • सुकन्या समृद्धि योजना खाता (Sukanya Samriddhi Yojana) एक प्रकार का निवेश है यह आयकर अधिनियम की धारा 80C के तहत प्रदान की गई कटौती के लिए पात्र है आप 1.5 लाख रुपए तक की कटौती का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। 
  • आपके जमा खाते में जमा चक्रवृद्धि ब्याज भी कर से मुक्त होता है। 
  • जब आपका खाता परिपक्व हो जाता है तो आप बिना किसी कटौती के राशि को निकाल सकते हैं। 
  • इस प्रकार से सभी कर लाभ सुकन्या समृद्धि योजना को एक कर मुक्त (TAX Free) साधन बनाते हैं। 

सुकन्या समृद्धि योजना की मुख्य विशेषताएं

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) बालिका के माता-पिता को उसके लिए एक राशि बनाने में सहायता करने के लिए लाया गया था जो शिक्षा और विवाह जैसे लक्ष्यों को पूरा करने में सहायता कर सकता है इस योजना की कई विशेषताएं हैं जो आपको खाता खोलने से पहले देख लेनी चाहिए जो इस प्रकार से हैं-

विशेषताएं विवरण
जमा सीमा
  • न्यूनतम जमा ₹250 (प्रारंभिक जमा) आगे 50 के गुणों में जमा
  • अधिकतम जमा 1,50, 000 लाख रुपये 
खाताधारक
  • यदि बालिका की आयु 10 वर्ष से कम है तो खाते का संचालन बालिका के माता-पिता अथवा अभिभावक द्वारा किया जाएगा
  • लड़की की आयु 18 वर्ष होने के बाद अकाउंट को अपने नियंत्रण में ले सकती है
परिपक्वता
  • खाता खोलने के 21 साल बात आपको कम से कम 15 साल के लिए डिपाजिट करना होगा
आवश्यक दस्तावेज
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • फार्म -1
  • माता-पिता /अभिभावक का पैन कार्ड, आधार कार्ड
जमा

निम्नलिखित के माध्यम से जमा किया जा सकता है

  • ऑनलाइन ट्रांसफर /एनईएफटी
  • डिमांड ड्राफ्ट
  • कैस
  • चेक

सुकन्या समृद्धि योजना कैसे खोलें

आप निम्न में से किसी भी जगह पर जाकर सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा सकते हैं

  • बैंक 
  • डाकघर

अपना सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए आप यहां दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं-

  1. आप अपने बैंक या निकटतम डाकघर में जाएं। 
  2. सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) का आवेदन फार्म भरे इस फार्म को SSA 1 के नाम से जाना जाता है यह फार्म आपको बैंक या डाकघर के द्वारा प्रदान किया जाएगा। 
  3. अगर आप चाहें तो फार्म को डाउनलोड करके पहले से ही भर सकते हैं। 
  4. इस फार्म को भरने के बाद आपको जरूरी दस्तावेज जमा करने होंगे जो इनमें शामिल हैं a) बालिका का जन्म प्रमाण पत्र जिसके लिए आप खाता खोलना चाहते हैं। 
  1. b) माता पिता/अभिभावक का पहचान प्रमाण – आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र आदि। 
  2. c) पता प्रमाण- लाइसेंस, टेलीफोन बिल, बिजली बिल आदि। 
  1.  अपनी पहली जमा राशि का भुगतान करें आपको न्यूनतम ₹250 जमा करने होंगे अगर आप चाहे तो ₹1,50,000 तक जमा कर सकते हैं।
  2. सभी दस्तावेज जमा करने के बाद बैंक आपके आवेदन को प्रोसेस करने में कुछ दिन का समय लेगा। 
  3. वेरिफिकेशन के बाद आपका सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट खुल जाएगा और आपको एक पासबुक जारी कर दी जाएगी। 

Sukanya Samriddhi Yojana Post Office | डाकघर मे सुकन्या समृद्धि योजना खाता कैसे खोलें

आप अपना सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) खाता पोस्ट ऑफिस या बैंक में खोल सकते हैं डाकघर में खाता कैसे खोला जाता है नीचे आपको बताया गया है-

अपने निकटतम डाकघर में जाएं

  1. डांकघर बचत बैंक द्वारा प्रदान किया गया खाता खोलने का फार्म भरें। 
  2. आवेदन पत्र के साथ अपना आईडी प्रमाण, पता प्रमाण और अन्य संबंधित दस्तावेजों को संलग्न करें। 
  3. राशि जमा करें यह 250 रुपए से अधिक होना चाहिए। 
  4. इंतजार करें आवेदन की प्रक्रिया के बाद आपका खाता खोल दिया जाएगा और आपको पासबुक जारी कर दी जाएगी। 

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए दस्तावेज कैसे जमा करें

आपका सुकन्या समृद्धि खाता खोला जा सके इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी पहचान प्रमाणित करने के लिए कुछ दस्तावेज जमा करने होंगे आप इन दस्तावेजों को ऑनलाइन जमा नहीं कर सकते हैं इसलिए आपको ऐसा करने के लिए अपने नजदीकी बैंक या डाकघर में जाना होगा। 

यहां आपको आवश्यक दस्तावेज के बारे में बताया गया है-

  • बालिका के लिए – जन्म प्रमाण पत्र फार्म SSA1
  •  माता पिता के लिए – पहचान प्रमाण, पैन कार्ड, आधार कार्ड।
  • पता प्रमाण – ड्राइविंग लाइसेंस बिजली बिल टेलीफोन बिल। 

इसके अलावा अन्य किसी दस्तावेज़ की आवश्यकता नहीं होती है लेकिन आपके बैंक अन्य दस्तावेजों के प्रमाण भी मांग सकता है। 

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए ऑनलाइन भुगतान कैसे करें

आपके लिए भुगतान प्रक्रिया को और अधिक सुविधाजनक बनाने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना ऑनलाइन मोड से भी जमा करने की अनुमति प्रदान करती है ताकि आपको उस स्थान पर जाने की आवश्यकता ना पड़े यहां पर बताया गया है कि आप ऑनलाइन पैसे कैसे जमा कर सकते हैं। 

  1. IPPB (Indian Post Payment Bank) भारतीय डाक भुगतान बैंक ऐप डाउनलोड करें। 
  2. सबसे पहले अपने मौजूदा बैंक खाते से पैसा अपने IPPB खाते में ट्रांसफर करें। 
  3. अब आप DOP प्रोडक्ट सेक्शन को चुने और SSY अकाउंट लिंक पर क्लिक करें। 
  4. इसके बाद DOP की कस्टमर आईडी के साथ अपने SSY अकाउंट का अकाउंट नंबर डालें। 
  5. वह राशि चुने जो आप अपने SSY खाते में जमा करना चाहते हैं और अवधि भी चुने। 
  6. IPPB में सफलतापूर्वक ट्रांसफर होने की पुष्टि की प्रतीक्षा करें। 
  7. जब एक बार आपको पोस्ट मिल जाती है तो आप का भुगतान सफल हो जाता है और आपका भुगतान रूटीन सेट हो जाता है। 

अगर आप सुकन्या समृद्धि योजना के लिए कम या अधिक राशि जमा करते हैं तो क्या होगा

यह जानने के लिए कि यदि आपने निर्धारित सीमा से ज्यादा या कम राशि जमा करते हैं तो क्या होता है इससे पहले आपको अपने SSY (Sukanya Samriddhi Yojana) खाते में जमा की जाने वाली न्यूनतम और अधिकतम राशि के बारे में पता होना चाहिए जो नीचे दिए गए हैं। 

  • न्यूनतम जमा राशि ₹250
  • अधिकतम जमा राशि ₹150000
  1. जमा नहीं किया गया /न्यूनतम राशि से कम जमा

यदि आप एक वित्तीय वर्ष में 250 रुपए की न्यूनतम राशि से कम जमा करते हैं तो आपका खाता डिफॉल्टर हो जाएगा अपने खाते को फिर से चालू करने के लिए आपको ₹50 का जुर्माना देना होगा। 

  1. अतिरिक्त जमा किया गया

अधिकतम सीमा अर्थात 1,50,000 रुपए से अधिक की राशि जमा होने पर कोई ब्याज नहीं दिया जाता है अगर आप चाहे तो किसी भी समय अतिरिक्त राशि को निकाल सकते हैं। 

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए निकासी नियम व शर्ते 

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) खाता खोलने की तारीख से लेकर 21 वर्ष की परिपक्वता अवधि होती है लेकिन अगर शर्तें पूरी होती है तो आपको अपने फंड से निकासी की अनुमति मिलती है यहां कुछ नियम दिए गए हैं कि आप कब और कितना पैसा निकाल सकते हैं। 

  1. अर्जित ब्याज सहित खाते की परिपक्वता के बाद बनाई गई पूरी राशि को बालिका निकाल सकती है इस निकासी पर किसी भी प्रकार का कर नहीं लगेगा यह पूरी तरह से कर मुक्त होगा। 
  2. निकासी फार्म भरने और सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद ही निकासी की अनुमति प्रदान की जाएगी। 
  • पहचान प्रमाण
  •  निवास प्रमाण पत्र

शिक्षा के लिए निकासी

  1. यदि आपका बच्चा 18 वर्ष की आयु तक पहुंच जाता है या फिर दसवीं कक्षा की शिक्षा पूरी कर लेता है तब आप शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए पैसा निकाल सकते हैं इसके लिए आपको प्रदेश से संबंधित उपयुक्त दस्तावेज जमा कराने होंगे जैसे-
  • कॉलेज विश्वविद्यालय में प्रवेश की पुष्टि
  • शुल्क पर्ची की छाया प्रति
  1. आपके द्वारा निकाली जा सकने वाली अधिकतम राशि पिछले वर्ष की उपलब्धि राशि के 50% पर सीमित है। 

सुकन्या समृद्धि योजना मे समय से पहले निकासी के नियम व शर्त

कुछ ऐसी परेशानियां हो सकती हैं जब आप खाते को जारी नहीं रख सकते हैं और इस प्रकार परिपक्वता से पहले ही अपने कोष को वापस लेना पड़ता है योजना के अनुसार आपको समय से पहले निकासी की अनुमति है लेकिन इसके लिए निम्नलिखित शर्तें लागू होने पर। 

  1. विवाह के मामले में समय पूर्व निकासी

जब लड़की की आयु 18 वर्ष हो जाती है और उसकी शादी हो जाती है तो आपको समय से पहले निकासी की अनुमति दी जाती है इसके लिए आपको निम्न की आवश्यकता होगी। 

  • शादी से 1 महीने पहले या शादी के 3 महीने बाद इसे घोषित करने के लिए आवेदन करें। 
  • पहचान प्रमाण और शादी का प्रमाण जमा करना होगा।
  1. अन्य मामलों में समय पूर्व निकासी
  • यदि बच्चे की मृत्यु हो जाती है तो ऐसी परिस्थिति में खाते का अधिकार आपको दिया जाएगा और आप मित्र प्रमाण पत्र जमा करने के बाद शेष राशि निकाल सकते हैं। 
  • यदि लड़की भारत की नागरिक नहीं है तो खाता बंद कर दिया जाएगा इस स्थिति में परिवर्तन बैंक को सूचित किया जाना चाहिए। 
  • यदि बालिका को जीवित रहने के लिए कठिनाइयों का सामना करना पड रहा है तो खाता 5 वर्ष के बाद बंद किया जा सकता है इसमे किसी अभिभावक/माता पिता की मृत्यु हो सकती है इसे बैंक या डाकघर द्वारा अनुमोदित किया जाना चाहिए जिसमें आपका खाता है। 

सुकन्या समृद्धि योजना खाते को कैसे ट्रांसफर करें

आप अपने सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) खाते को डाकघर से बैंक में स्थानांतरित कर सकते हैं यह प्रक्रिया अभिभावक या माता-पिता के द्वारा ही किया जा सकता है यहां बताया गया है कि आप अपना खाता कैसे स्थानांतरित कर सकते हैं। 

  1. जिस डाकघर में आपका SSY (Sukanya Samriddhi Yojana) खाता है वहां जाएं और अपने खाते को स्थानांतरित करने के बारे में कर्मचारी को सूचित करें। 
  2. स्थानांतरण आवेदन फार्म भरें और निम्नलिखित दस्तावेजों को जमा करें। जैसे- आईडी प्रूफ, पासबुक, केवाईसी दस्तावेज। 
  3. उस बैंक में जाएं जहां आप SSY खाता खोलना चाहते हैं। 
  4. केवाईसी दस्तावेजों और फार्म को सेल्फ अटेस्टेड करें और बैंक में जमा करें। 
  5. दस्तावेजों के सत्यापन और प्रसंस्करण के बाद आपको एक नई पासबुक दे दी जाएगी। 

सुकन्या समृद्धि योजना खाता पासबुक का विवरण

सभी औपचारिकताओं को पूरा करने और आपका खाता खुल जाने के बाद आपको एक पासबुक जारी कर दी जाती है पासबुक बैंक या डाकघर द्वारा जारी की जाने वाली एक छोटी पुस्तिका होती है जिसमें आपके द्वारा अपने खाते के माध्यम से किए गए सभी लेनदेन का विवरण होता है इसमें निम्नलिखित विवरण होते हैं। 

  • खाते में आपकी जमा राशि 
  • आपके खाते से निकासी
  • उत्पन्न ब्याज

इसके अलावा इसमें आपकी व्यक्तिगत जानकारी जैसे आपका नाम, खाता संख्या और खाता खुलने की तारीख भी होती है। 

सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से अपनी बेटी को सशक्त बनाएं

  • सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) आपकी बेटी के 18 वर्ष की होने पर उसके लिए पर्याप्त धनराशि बनाने के लिए आपके लिए निवेश का सबसे अच्छा अवसर प्रदान करती है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना एक गारंटी के साथ आती है जबकि इसकी कर मुक्त स्थिति का अर्थ है कि यह माता-पिता और बालिकाओं दोनों को कई लाभ प्रदान करती है। 
  • इस प्रकार आप अपनी बचत का एक हिस्सा सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) में निवेश कर सकते हैं ताकि आपके योगदान पर चक्रवृद्धि लाभ अर्जित किया जा सके जिससे आपकी बेटी मुद्रास्फीति के दबाव के बावजूद उच्च शिक्षा और शादी के अपने सपनों का आर्थिक रूप से समर्थन कर सके। 

पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न 1. सुकन्या समृद्धि खाता कौन खोल सकता है?

यदि आप एक बालिका के माता-पिता या कानूनी अभिभावक हैं तो आप सुकन्या समृद्धि खाता खोल सकते हैं इस खाते के माध्यम से आप नियमित रूप से एक निश्चित राशि जमा कर सकते हैं और उस पर वार्षिक ब्याज अर्जित कर सकते हैं यह आपको एक कोष बनाने में मदद करेगा जो आपकी बेटी के उच्च शिक्षा या शादी करने के समय काम आएगा SSY (Sukanya Samriddhi Yojana) एक ऐसी योजना है जिसे सरकार द्वारा वर्ष 2015 में शुरू किया गया था।

प्रश्न 2. क्या एनआरआई सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ उठा सकते हैं?

नहीं अब तक ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जो बताता हो की अनिवासी भारतीय सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) का लाभ उठा सकते हैं और इस योजना के तहत खाता खोल सकते हैं अभी तक बालिका को भारतीय नागरिक होना चाहिए यदि बाद में बालिका NRI बन जाती है तो SSY (Sukanya Samriddhi Yojana) के तहत खाता बंद कर दिया जाएगा।

प्रश्न 3. बालिका के लिए जमा कर्ता की मृत्यु के मामले में क्या होता है?

एक जमा करता वह व्यक्ति होता है जो SSY (Sukanya Samriddhi Yojana) खाते में पैसा डालता है यह माता-पिता या कानूनी अभिभावक होते हैं यदि अवधी की परिपक्वता से पहले ही जमा करता की मृत्यु हो जाती है तो निम्न में से कोई एक होता है। 
1. बालिका को वह धन प्राप्त होता है जो अब तक ब्याज सहित जमा किया गया था। 
2. राशि खाते में बनी रहती है और परिपक्वता तक ब्याज प्राप्त करती है।

प्रश्न 4. एक बेटी के लिए कितने सुकन्या समृद्धि खाते खोल सकता हूं?

आप अपनी बेटी के लिए केवल एक ही खाता खुलवा सकते हैं एक परिवार में अधिकतम दो खाते खोले जा सकते हैं इसलिए अगर आप की दो बेटियां हैं तो आप दोनों के लिए अलग-अलग अकाउंट खुलवा सकते हैं।

प्रश्न 5. आप अपनी बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि खाता कहां खोल सकते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Yojana) बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत एक सरकारी पहल है जिसका उद्देश्य बालिकाओं की शिक्षा को बढ़ावा देना है यह सुविधा कोई भी व्यक्ति चुन सकता है जिसकी कोई बेटी है। इस खाते को खोलने के लिए आप किसी भी सूचीबद्ध बैंक के साथ साथ डाकघरों की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं आपको अपना खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज जमा करने और जमा करने की आवश्यकता है।

प्रश्न 6. सुकन्या समृद्धि खाते के लिए आवश्यक न्यूनतम वार्षिक जमा राशि क्या है?

अपने सुकन्या समृद्धि खाते को चालू रखने के लिए आप को कम से कम न्यूनतम सीमा के बराबर की राशि जमा करनी होगी अभी तक आपको सालाना न्यूनतम राशि ₹250 जमा करनी है यानी आपको पेनाल्टी से बचने के लिए साल में कम से कम ₹250 जमा करने होंगे यह राशि ₹500 से कम कर दी गई है।

प्रश्न 7. सुकन्या समृद्धि योजना खाते की अवधि क्या है?

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने की तारीख से 21 साल बाद परिपक्व होता है इस प्रकार यदि आप ने 2022 में खाता खोला है तो यह वर्ष 2043 में परिपक्व होगा आपको 15 साल के लिए पैसा जमा करना होगा 21 साल की पूरी अवधि के लिए ब्याज जुड़ता रहेगा।

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!