Mobile Ka Avishkar किसने किया और कब किया था  [पूरी जानकारी]

Google News Follow

हेलो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में बताएंगे कि mobile ka avishkar kisne kiya और कब किया था, आज का जमाना डिजिटल का है और इस डिजिटल के जमाने में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जो मोबाइल फोन का इस्तेमाल ना करता होगा आज के समय में मोबाइल लोगों की जरूरत का एक अहम हिस्सा बन गया है क्योंकि रोजमर्रा के कई कामों को मोबाइल के द्वारा ही कर लेते हैं। आज की इस बढ़ती टेक्नोलॉजी के कारण दिन प्रतिदिन नए नए फीचर्स वाले स्मार्टफोन लांच हो रहे हैं जो लोगों के कामों को बहुत आसान बना दिया है जिसका उपयोग करके लोग कई सारे ऑनलाइन कामों को आसानी से कर सकते हैं। 

Mobile Recharge kaise kare Online 2023| Gpay, Phonepe, Paytm

mobile ka avishkar kisne kiya

आज के समय में मोबाइल फोन एक दूसरे से बात करने का माध्यम तक ही सीमित नहीं रह गया है बल्कि हम जिन कामों को कंप्यूटर, लैपटॉप में करते हैं उन सभी कामों को एंड्राइड मोबाइल फोन में कर सकते हैं, लेकिन अगर कुछ सालों पहले की बात करें तो उस समय ऐसा नहीं था उस समय कीपैड वाले मोबाइल फोन थे जिसका उपयोग सिर्फ एक दूसरे से बात करने के लिए किया जाता था अन्य कोई दूसरा काम उस मोबाइल से नहीं कर सकते थे। 

लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि जिस मोबाइल फोन का हम उपयोग कर रहे हैं उस Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya था, उसे किसने बनाया था, विश्व का पहला मोबाइल फोन किस कंपनी के द्वारा लॉन्च किया गया था, उस पहले मोबाइल फोन की बैटरी कितनी बड़ी थी और वह कितने घंटे चलती थी, भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया था अगर आप इन सभी जानकारियों को जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya को पूरा जरूर पढ़ें।  

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया और कब? यहा जाने पूरी जानकारी

Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya | मोबाइल का आविष्कार किसने किया

मोबाइल का आविष्कार मार्टिन कूपर (Martin Cooper) ने 3 अप्रैल 1973 को किया था जो एक अमेरिकन इंजीनियर थे और इस पहले मोबाइल फोन का नाम Motorola Dyna TAC 8000X था। इस मोबाइल फोन का का वजन लगभग 1.1 किलोग्राम था, जिसकी लंबाई 9 इंच तक लंबा था, जिसे चार्ज होने में लगभग 10 घंटे लग जाता था और चार्ज होने पर 30 मिनट तक फोन पर बात कर सकते थे। विश्व का पहला मोबाइल फोन की कीमत लगभग 2700 डॉलर थी जो भारतीय रुपया में लगभग 2 लाख रुपए था। 

मार्टिन कूपर ने 1970 में मोटोरोला कंपनी को ज्वाइन किया, मार्टिन कूपर इस मोटरोला कंपनी में एक इंजीनियर थे जिन्होंने वायरलेस कम्युनिकेशन डिवाइस बनाने का निरंतर प्रयास करते रहे जिसमें सफलता हासिल की। यह पहला मोबाइल इंटरनेशनल मोटोरोला कंपनी का था यह कंपनी आज भी अपने एंड्राइड मोबाइल फोन बनाती है।

इसे भी पढ़े –

Wireless mouse in Hindi | वायरलेस माउस क्या है और इसके 3 प्रकार

mobile ki ram kaise badhaye | Android Mobile की Ram कैसे बढ़ाये 4GB तक

Mobile update kaise kare [2023] software update करना सीखें 5 मिनट में

मार्टिन कूपर कौन थे

मार्टिन कूपर एक इंजीनियर थे मार्टिन कूपर का जन्म 26 दिसंबर 1928 को अमेरिका के शिकागो शहर में हुआ था, इनके माता पिता पहले यूक्रेन में रहते थे। मार्टिन कूपर ने अमेरिका में रहकर इलेक्ट्रिकल इंजीनियर की डिग्री सन 1950 में प्राप्त किया इस डिग्री के कारण सबमरीन की नौकरी भी लग गई थी, लेकिन मार्टिन कूपर ने कुछ सालों बाद अपनी पढ़ाई फिर से शुरू किया और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग मे मास्टर आफ साइंस की डिग्री को प्राप्त किया। 

Martin Cooper

इसके बाद वह शिकागो के टेलीटीपी कंपनी में नौकरी करने लगे  कुछ समय बाद इन्होंने इस कंपनी को इस्तीफा दे दिया और मोटोरोला कंपनी को ज्वाइन कर लिया और यहीं पर रहकर उन्होंने 1973 में मोबाइल का आविष्कार किया। 

भारत में पहला मोबाइल फोन कब आया था

भारत में पहला मोबाइल फोन 1 जुलाई 1995 में लाया गया था और इस मोबाइल फोन से सबसे पहले भारत के केंद्रीय दूरसंचार मंत्री सुखराम ने वेस्ट बंगाल के मुख्यमंत्री ज्योति बसु जी से बात किया था विश्व का पहला मोबाइल मोटरोला कंपनी ने लांच किया था। 

इस मोबाइल को लोगों के लिए 1983 में मार्केट में लाया गया लेकिन यह सभी देशों के लिए उपलब्ध नहीं था यह केवल अमेरिकी मार्केट के लिए ही उपलब्ध करवाया था परंतु आज के समय में भारत एक ऐसा देश है जो मोबाइल फोन उपयोग करने वाला दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश बन गया है जब से मोबाइल का आविष्कार हुआ है तब से लेकर अब तक भारत देश में मोबाइल का उपयोग करने वाले लोगों की संख्या 120 करोड़ तक पहुंच गई है और भारत में मोबाइल यूजर की संख्या बहुत तेजी से बढ़ती ही चली जा रही है। 

इसे भी पढ़े –

Mobile से Print कैसे निकाले आसान तरीका [Updated app 2023]

Google map पर अपने घर या दुकान का लोकेशन कैसे डालें [2023]

Mobile Number se Location Kaise Pata Kare Online 2023 Update

भारत में पहली मोबाइल सेवा किसने शुरू की थी

भारत में पहले मोबाइल सेवा शुरू करने के लिए 1994 में भारत के भूपेंद्र कुमार मोदी के द्वारा प्रयास किया गया और इन्हीं के कंपनी Modi telstra मे भारत देश में पहली बार मोबाइल सेवा को प्रारंभ किया था और इस मोबाइल फोन से जो पहली कॉल किया गया था वह इन्हीं के कंपनी के नेटवर्क के द्वारा कोलकाता से दिल्ली किया गया था और बाद में इस कंपनी का नाम बदलकर spice mobiles रखा गया जिससे आज सभी लोग परिचित हैं। 

मोबाइल फोन का इतिहास

मोटोरोला कंपनी और मार्टिन कूपर ने मिलकर पहला सेलुलर फोन 1973 में बनाया था जो एक कीपैड मोबाइल था।  जिसके ऊपर एक एंटीना लगाया गया था और जैसे-जैसे समय बीतता गया इसमें कई परिवर्तन किए गए इसके बाद 1983 में अमेरिका के मार्केट में लॉन्च किया गया उस समय इस फोन का वजन लगभग 1.1 किलोग्राम 9 इंच था।  इसके बाद पहला ऑटोमेटेड सेलुलर नेटवर्क जापान में शुरू किया गया जिसे हम फर्स्ट जनरेशन 1g नेटवर्क के नाम से जानते हैं, सन 1991 में गैसेकी और देवरिएंट नामक इंजीनियर ने पहला सिम कार्ड बनाया था जो मुनिच कार्ड मेकर के एक नेटवर्क कंपनी के लिए था। 

2G नेटवर्क फिनलैंड शहर के दरिओलिंजा कंपनी ने सन 1991 में बनाया था, इसके बाद सन् 1993 में IBM कंपनी ने अपना पहला स्मार्टफोन बनाया और इसका नाम IBM SIMON नाम दिया। 

यह एक स्मार्टफोन था जिसमें कई फीचर्स थे जैसे फैक्स मशीन, ऐड्रेस बुक, ईमेल, कैलेंडर, कैलकुलेटर कई सेवाएं दी गई थी। इसके बाद 1996 में मोटोरोला ने स्टार टेक नाम का मोबाइल बनाया और सन 1997 में पहला कैमरा फोन बनाया गया और सन 1999 में नोकिया कंपनी ने IBM साइमन मोबाइल के सामने अपना स्मार्टफोन Nokia 9000 मोबाइल बनाया और सन 1999 में ही इंटरनेट की शुरुआत की गई। सन 2002 में 3G नेटवर्क का निर्माण किया गया और सन 2008 में 4G नेटवर्क का अविष्कार किया गया और सन 2008 में ही गूगल ने एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम से चलने वाली स्मार्टफोन का निर्माण किया जो सबसे पहला एंड्रॉयड फोन था और यह एचटीसी कंपनी का था। 

पूछे जाने वाले प्रश्न 

मोबाइल का आविष्कार कब और किसने किया था?

मोबाइल का आविष्कार मार्टिन कूपर (Martin Cooper) ने 3 अप्रैल 1973 को किया था जो एक अमेरिकन इंजीनियर थे और इस पहले मोबाइल फोन का नाम Motorola Dyna TAC 8000X था।

भारत में सबसे पहले मोबाइल का आविष्कार कब हुआ?

भारत में पहले मोबाइल सेवा शुरू करने के लिए 1994 में भारत के भूपेंद्र कुमार मोदी के द्वारा प्रयास किया गया और इन्हीं के कंपनी Modi telstra मे भारत देश में पहली बार मोबाइल सेवा को प्रारंभ किया था।

मोबाइल फोन को हिंदी में क्या कहते हैं?

मोबाइल फोन के हिन्दी मे सचल दूरभाषा यंत्र कहा जाता है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya और कब किया गया था इसके बारे में बताया गया है इसके साथ ही भारत में पहला मोबाइल कब आया भारत में पहली मोबाइल सेवा किसने प्रारंभ किया और मोबाइल का इतिहास क्या है बताया गया है हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और आप अच्छी तरह से जान गए होंगे कि Mobile Ka Avishkar Kisne Kiya tha अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो सोशल मीडिया में ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करें और ऐसी जानकारियां पाते रहने के लिए सब्सक्राइब करें। 

Share us friends

Leave a Comment