Kabuli Chana: काबुली चना खाने के 12 बेहतरीन फायदे

आम तौर पर देखा जाए तो चना दो प्रकार के होता है Kabuli chana काबुली चना और काला चना जैसा कि उसके नाम से ही स्पष्ट होता है कि काला चना काले रंग का होता है और Kabuli chana सफेद रंग का होता है काबुली चने का आकार भी काले चने की अपेक्षा बड़ा होता है कई लोग चने को गरीबों का बादाम भी कहते हैं और यह इन में पाए जाने वाले पोस्टिक तत्वों के आधार पर कहा जाता है Kabuli chana  का वैज्ञानिक नाम साइसर एरिटिनम है काबुली चना फेबैसी परिवार में आता है।

kabuli chana

 

यदि हम काले चने को अंकुरित करके उपयोग करें तब इसमें बहुत अधिक पोषक तत्व आ जाते हैं अपने दैनिक जीवन में इसका उपयोग हम कई प्रकार से करते हैं जैसे सब्जी, छोले, दाल आदि बनाने के अलावा इनका उपयोग हम बेसन,सत्तू बनाने के लिए भी करते हैं आयुर्वेद के अनुसार चना खाने से शरीर स्वस्थ बलवान और शक्तिशाली बन जाता है यह अधिक परिश्रम करने वाले लोगों के लिए अच्छा और ज्यादा फायदेमंद माना जाता है।

काबुली चना के फायदे | kabuli chana benefits

शरीर को मजबूत बनाने के लिए

अगर आप अपने शरीर को कठोर और मजबूत बनाना चाहते हैं तब आपको काबुली चने की मदद लेनी चाहिए इसके लिए काबुली चने को अंकुरित करके प्रतिदिन सुबह के समय खाना चाहिए इससे कई अन्य स्वास्थ्य लाभ होने के साथ साथ शरीर को मजबूत भी करता है।

वीर्य की पुष्टि के लिए

Kabuli chana का उपयोग शरीर को मजबूत बनाने के साथ ही वीर्य की पुष्टि के लिए भी किया जाता है चने को आप प्रतिदिन 50 ग्राम तक सेवन करें और खाने के बाद एक गिलास दूध पिए इससे आपको ज्यादा लाभ मिलेगा।

टॉनिक के रूप में

Kabuli chana पोस्टिक तत्वों से भरपूर होता है यदि इसको अंकुरित कर दिया जाए तो इसकी पौष्टिकता कई गुना तक बढ़ जाती है टॉनिक के रूप में उपयोग करने के लिए इसे अंकुरित करके खाना चाहिए।

अच्छा स्वास्थ्य के लिए

अच्छे स्वास्थ्य के लिए Kabuli chana से अच्छा और सस्ता अन्य कोई दूसरा विकल्प नहीं मिल सकता है इसका नियमित रूप से उपयोग करने से आपके मांसपेशियों को मजबूत करता है इसमें मौजूद पोषक तत्व आपको कई बीमारियों से दूर रखने में भी मदद करता है।

चर्म रोग दूर करने में

Kabuli chana से होने वाले लाभों में एक यह भी है कि इसका उपयोग चर्म रोग को दूर करने के लिए भी किया जाता है इसका सेवन करने से चमड़ी की कई बीमारियों को दूर करने का काम करता है।

इन्हे भी जाने –

सिर्फ 1 Gulab ka phool आपका जीवन बदल सकता है जानिए कैसे

Ketki ka phool kaisa hota hai | जाने कैसे हुआ केतकी का फूल श्रापित

kamjori ke lakshan | अगर आप भी महसूस कर रहे है कमजोरी, तो हो सकती है आपको यह बीमारी

lahsun khane ke fayde | लहसुन खाने के 10 बेहतरीन फायदे

Sehat kaise banaye | सेहत बनाने का 100% असरदार तरीका दवा और घरेलू उपाय

दिल की बीमारियों को दूर करने में

Kabuli chana का उपयोग दिल की मजबूती और कई तरह की अन्य परेशानियों से बचाने के लिए भी कर सकते हैं यदि आप दिल को मजबूत और स्वस्थ बनाए रखना चाहते हैं तो आज से ही Kabuli chana का उपयोग शुरू कर देना चाहिए।

फेफड़े को मजबूत करने के लिए

काबुली चने को अंकुरित करके खाने से बहुत ज्यादा चमत्कारिक फायदा मिलता है फेफड़ों को मजबूत करना इन्हीं में से एक है यदि आप फेफड़ों को मजबूत करना चाहते हैं तो आपको Kabuli chana को अंकित करके प्रतिदिन खाना चाहिए।

खून बढ़ाने के लिए

कई लोगों को खून की कमी हो जाती है यदि आप इसको दूर करना चाहते हैं तो इसके लिए काला चना का उपयोग करना चाहिए इस को नियमित रूप से उपयोग करने से आपके शरीर में खून की मात्रा बढ़ने लगती है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करने में

खून में कोलेस्ट्रॉल की अनावश्यक रूप से वृद्धि होने पर यह कई तरह की परेशानियों का कारण बन सकता है इसलिए यह बहुत जरूरी है कि खून में कोलेस्ट्रॉल की अनावश्यक वृद्धि को कम किया जाए इसके लिए Kabuli chana काबुली चने का नियमित रूप से सेवन करना चाहिए।

वजन कम करने में

Kabuli chana पोषक तत्व के साथ फाइबर मौजूद होता है जो वजन कम करने में बहुत लाभदायक होता है यह फाइबर शरीर को तृप्त और पेट भरा हुआ महसूस करवाता है इसके अलावा यह भूख बढ़ाने वाले हार्मोन को रोकता है काबुली चने में मौजूद पोषक तत्व और खनिज का मिश्रण शरीर को सक्रिय ऊर्जावान बनाए रखता है कम कैलोरी के लिए Kabuli chana या सफेद चना बहुत लाभदायक होता है सफेद चने में प्रति 100 ग्राम मे 269 कैलोरी होने के साथ आपको भूख नहीं लगने देती है।

हड्डियों के लिए

काबुली चने में कई महत्वपूर्ण खनिज पाया जाता है जैसे- लोहा, फास्फोरस, मैग्नीशियम, तांबा और जस्ता इसका मतलब है कि Kabuli chana हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक है।

आंखों के लिए छोले खाने के फायदे

काबुली चने में बीटा कैरोटीन पाया जाता है जो आंखों के स्वास्थ्य को बढ़ाने में सहायक होता है जस्ता भी आंखों के लिए आवश्यक पोषक तत्व है यह विटामिन है वह लीवर से रेटिना तक ले जाने में सहायक होता है जिंक से भरपूर होने के कारण Kabuli chana सफेद चना मैक्यूलर डिएनेरेशन को रोकने में सहायता करता है।

काबुली चने के नुकसान

काबुली चने का सेवन करने से ज्यादातर लाभ ही मिलता है लेकिन इनमें यूरिन नामक तत्व भी पाया जाता है जो शरीर के यूरिक एसिड द्वारा टूट सकता है अगर आप गुर्दे की पथरी, पित्त या गठिया से पीड़ित हैं तब आपको काबुली चने का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इनके सेवन से आपकी समस्या और ज्यादा बढ़ सकती है।

Bijali ka bill kaise check kare | बिजली का बिल कैसे चेक करे

काबुली चना में कौन सा विटामिन पाया जाता है?

काबुली चना में बिटमिन C, बिटमिन A , बिटमिन E, और इसके साथ कैल्शियम, आइरन जैसे कई अन्य न्यूट्रीशन पाये जाते है।

100 ग्राम काबुली चना में कितनी कैलोरी होती है?

100 ग्राम काबुली चना में 269 कैलोरी पाई जाती है।

क्या काबुली चना वजन बढ़ाने के लिए अच्छा है?

नहीं Kabuli chana मे पोषक तत्व के साथ फाइबर मौजूद होता है जो वजन कम करने में बहुत लाभदायक होता है।

निष्कर्ष 

इस पोस्ट में आपने Kabuli chana के बारे में जाना कि यह हमारे शरीर के लिए कितना फायदेमंद होता है और चना खाने से कौन-कौन सी बीमारियो को दूर किया जा सकता है।  किन लोगों को काबुली चने का सेवन नहीं करना चाहिए और काबुली चना खाने के फायदे व नुकसान के बारे में आप अच्छी तरह से समझ गए होंगे।  यह पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें और सब्सक्राइब जरूर करें ताकि ऐसे ही जानकारी आप तक पहुँचते रहे। 

धन्यवाद !

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!