kala chana | काले चने के 11 फायदे, उपयोग और नुकसान

चने के बारे में आप लोग तो जानते ही होंगे और इसे प्रतिदिन उपयोग भी करते होंगे लेकिन क्या आपने कभी उपयोग किए जाने वाले इन चनो  के रंग के बारे में ध्यान दिया है यह चने कई रंग के होते हैं जैसे- हरा, भूरा,सफेद, लाल और काला दिखाई देता है चने के रंगों में यह अंतर उस की किस्म और प्रकार पर निर्भर करता है चना किसी भी किस्म का हो वह फायदेमंद ही होता है।

Content of table show

 

kala chana

 

लेकिन सेहत और स्वास्थ्य के नजरिए से देखा जाए तो Kala chana को सबसे ज्यादा लाभकारी माना जाता है जिसको गारबेंजो बीन्स और बंगाल ग्राम भी कहा जाता है और इसका कारण यह है कि अन्य दूसरे चने के मुकाबले इसमें पोषक तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है इस पोस्ट में Kala chana खाने के फायदे के बारे में जानकारी दी जा रही है इसलिए इस पोस्ट के अंत तक बने रहे।

kala chana के फायदे | kala chana benefits

Kala chana के फायदे किन किन समस्याओं को दूर करने में सहायक हो सकता है और इसकी उपयोगिता को भी आसानी से समझ सके इस बात का ध्यान रखें कि Kala chana केवल नीचे बताई गई समस्याओं से राहत दिला सकता है Kala chana काले चने से इन समस्याओं का पूरी तरह इलाज नहीं किया जा सकता है किसी भी समस्या का पूरी तरह से इलाज डॉक्टरी सलाह से ही किया जा सकता है।

ब्लड शुगर को नियंत्रित करें

डायबिटीज के मरीजों के लिए अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखना सबसे ज्यादा जरूरी है ऐसे में Kala chana खाने से काफी मदद मिल सकती है इस बात को एक शोध में स्पष्ट रूप से बताया गया है कि Kala chana में स्टार्च के साथ साथ एमिलोज नाम का तत्व पाया जाता है। 

जो खून में शुगर के मिलने की प्रक्रिया को कम कर सकता है और इसके साथ ही कुछ हद तक इंसुलिन की सक्रियता को बढ़ाने का काम भी करता है यह टाइप बी डायबिटीज से ग्रस्त मरीजों के ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में सहायक होता है इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि काला चना का सेवन करके डायबिटीज की समस्या को नियंत्रित किया जा सकता है।

kamjori ke lakshan | अगर आप भी महसूस कर रहे है कमजोरी, तो हो सकती है आपको यह बीमारी

Sehat kaise banaye | सेहत बनाने का 100% असरदार तरीका दवा और घरेलू उपाय

 

पाचन में सहायक

पाचन स्वास्थ्य को बनाए रखना भी Kala chana काला चना खाने के फायदे में शामिल है काले चने के स्वास्थ्य लाभ जानने के लिए एक शोध में बताया गया है कि चने में फाइबर तत्व मौजूद होता है जो पाचन स्वास्थ्य को बढ़ाने का काम कर सकता है और इसके साथ में यह मल त्याग की प्रक्रिया को आसान बनाने में भी सहायक होता है। 

यह शोध एनसीबीआई (National centre for biotechnology information) मे प्रकाशित है इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि पाचन प्रक्रिया को मजबूत बनाने में भी Kala chana महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

वजन कम करने में सहायक

काले चने खाने के फायदे में वजन घटाने के मामले में भी सहायक हो सकता है Kala chana (काले चने) में फाइबर और प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इसके साथ ही इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स शुगर की मात्रा भी कम होती है जिसके कारण यह मोटापे को कम करने के साथ ही कमर और पूरे शरीर के वजन को भी कम करने में सहायक हो सकता है।

कैंसर से करता है बचाव

काले चने के बारे में कुछ खोज बताते हैं कि यह कैंसर जैसे गंभीर बीमारी से बचने में भी बहुत हद तक उपयोगी है Kala chana में मौजूद बायोकनिन ए , लाइकोपिन सैपोनिस और ब्यूटीरेट जैसे तत्व अहम माना जाता है इनमें से ब्यूरेट मुख्य रूप से आंतों का कैंसर से बचाने में सहायक हो सकता है। 

एक अन्य शोध में पाया गया है कि काले चने में लाइकोपेन प्रोस्टेट कैंसर पुरुष स्पर्म ग्रंथि का कैंसर और बायोकनिन ए पेट के कैंसर से बचाने का काम करता है इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि कैंसर के खतरे को कुछ हद तक कम करने में Kala chana लाभदायक हो सकता है।

ह्रदय को स्वस्थ बनाएं और कोलेस्ट्रॉल कम करें

कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना ह्रदय स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है ऐसे में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करके ह्रदय स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए Kala chana काला चना उपयोगी हो सकता है।

एनीमिया को दूर करता है

एनीमिया यानी की शरीर में खून की कमी होना इसका मुख्य कारण आयरन की कमी को माना जाता है Kala chana काला चना आयरन का स्रोत माना जाता है ऐसे में काले चने का सेवन करने से एनीमिया की समस्या से कुछ हद तक छुटकारा पाया जा सकता है इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि Kala chana एनीमिया की समस्या में लाभदायक हो सकता है।

ल्यूकोडरमा से करता है बचाव

न्यू कोडरमा में शरीर पर सफेद रंग के चकत्ते दिखाई देने लगते हैं इसे वीटीलाइगो भी कहा जाता है यह शरीर पर कहीं पर भी हो सकता है इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए काले चने का उपयोग किया जा सकता है इसके लिए Kala chana काले चने का पेस्ट बनाकर उस स्थान पर लगाने से राहत मिल सकती है।

महिलाओं में हार्मोन लेवल को ठीक रखता है

काला चना Kala chana महिलाओं में हार्मोन संतुलन को बनाए रखता है जिससे मासिक चक्र बंद होने जैसी लक्षणों में आराम दिलाने में सहायक हो सकता है अंकुरित चने का उपयोग करके महिलाओं में कुछ हद तक एस्ट्रोजन हार्मोन का लेवल बढ़ा सकते हैं जिससे मासिक चक्र बंद होने की समस्या और उसके कारण होने वाले लक्षणों से छुटकारा पाने में सहायता मिल सकती है।

काला चना प्रोटीन से भरपूर होता है

नई कोशिकाओं को बनाने और मांसपेशियों के विकास में प्रोटीन का महत्वपूर्ण भूमिका होती है और Kala chana को प्रोटीन का अच्छा स्रोत माना जाता है इस कारण से काला चना मांसपेशियों को मजबूत करने में सहायक हो सकता है।

त्वचा स्वास्थ्य के लिए उपयोगी

त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी काला चना बहुत हद तक उपयोगी हो सकता है 3 अलग-अलग शोध में बताया गया है कि यह त्वचा के लिए बहुत उपयोगी होता है Kala chana काले चने के आटे से तैयार उबटन को लगाने से त्वचा को साफ करता है काले चने में बैक्टीरिया को नष्ट करने वाला गुण मौजूद होता है जो त्वचा को साफ करने के साथ-साथ बैक्टीरियल इंफेक्शन से भी बचाता है।

बालों के लिए लाभदायक

विटामिन ए और इनके साथ ही जिंक और आयरन जैसे पोषक तत्वों की कमी से बाल झड़ने की समस्या हो जाती है Kala chana में यह सभी पोषक तत्व मौजूद होते हैं काला चना पोषक तत्वों की शरीर में फुर्ती करने के साथ-साथ बालों को स्वस्थ बनाए रखने में भी सहायक हो सकता है।

काले चने का उपयोग

काला चना हमारी सेहत के लिए जितना उपयोगी होता है उसी प्रकार इस बात का ध्यान रखना भी जरूरी है कि इससे किस प्रकार से उपयोग किया जाए क्योंकि इसे कई प्रकार से हम उपयोग कर सकते हैं आइए जानते हैं Kala chana काले चने का उपयोग हम कैसे कर सकते हैं।

  • काले चने को शाम को भिगोकर रख दें और सुबह के समय नाश्ते के रूप में इसका उपयोग करें।
  • सुबह या शाम को अंकुरित या भीगा हुआ चने की चाट बनाकर भी खा सकते हैं।
  • भीगे हुए चने को तेल में तलकर भी अपने नाश्ते में शामिल कर सकते हैं।
  • काले चने की रसेदार सब्जी बना कर भी इसको दोपहर या रात के समय आहार के रूप में शामिल किया जा सकता है।

इन्हे भी जाने-

सिर्फ 1 Gulab ka phool आपका जीवन बदल सकता है जानिए कैसे

Ketki ka phool kaisa hota hai | जाने कैसे हुआ केतकी का फूल श्रापित

lahsun khane ke fayde | लहसुन खाने के 10 बेहतरीन फायदे

काले चने का चुनाव और लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखेँ 

काले चने का चुनाव कैसे किया जाता है और उसको लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें इसके तरीके को समझते हैं

काले चने का चुनाव

  • काले चने का चुनाव करते समय इस बात का ध्यान रखें कि चने में किसी तरह का छेद ना हो।
  • चना अच्छी तरह से साफ और अच्छा क्वालिटी का हो इसमें मिट्टी कंकड़ या अन्य कोई चीज ना हो।
  • दुकान या माल से पैकेट बंद काले चने को लेना चुनाव का अच्छा तरीका साबित हो सकता है।

काले चने को सुरक्षित रखना

काले चने की गुणवत्ता और उपयोगिता को बनाए रखने के लिए यह जरूरी है कि इसे संभाल कर रखा जाए इसके लिए निम्न तरीकों को उपयोग में लाया जा सकता है

  • काले चने को हमेशा एयर टाइट डब्बे या कंटेनर में रखें।
  • इस बात का ध्यान रखें कि काला चना जिसे डब्बे में रखा है वह गिला ना हो।
  • काले चने को कभी भी नमी या गीली जगह पर ना रखें क्योंकि ऐसा करने से वह खराब हो सकता है।

काले चने के नुकसान

काला चना के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं इसलिए इससे होने वाले लाभ के साथ-साथ इससे होने वाले नुकसान को भी ध्यान में रखना जरूरी है इसका ज्यादा उपयोग करने के कारण या फिर कुछ गंभीर परिस्थितियों में काले चने के नुकसान इस प्रकार देखने को मिल सकता है।

  • कुछ लोगों को काले चने से एलर्जी संबंधित दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है जिसमें नाक मे खुजली सूजन या फिर शरीर पर चकत्ता होने की समस्या देखी जा सकती है।
  • काला चना वजन को कम करता है इसलिए जरूरत से कम वजन वाले लोगों को इसका ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए।
  • काले चने में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है फाइबर की अधिकता के कारण पेट में दर्द पेट का फूलना और पेट में गैस बनने की समस्या हो सकती है।

Doodh Ganga Yojana | दूध गंगा योजना – शुरू करे डेयरी फ़ार्मिंग बिजनेस, सरकार देगी 24 लाख तक का लोन

क्या काला चना वजन कम करने के लिए अच्छा है?

हां वजन कम करने के लिए काला चना फायदेमंद हो सकता है।

क्या काले चने से वजन बढ़ता है?

नहीं काला चना के उपयोग से वजन बढ़ता नहीं है।

काला चना रोज खाना अच्छा है?

हां काला चना का फायदा पाने के लिए इसे प्रतिदिन 100 ग्राम तक उपयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

इस आर्टिकल में काला चना के फायदे के साथ-साथ इसके नुकसान के बारे में भी जाना स्वास्थ्य को अच्छा बनाए रखने के लिए संतुलित मात्रा में लेना बहुत जरूरी है क्योंकि इसका अधिक सेवन करने से इसके कुछ दुष्परिणाम भी देखने को मिल सकता है ऐसे में Kala chana के फायदे और नुकसान दोनों को ध्यान में रखना जरूरी है Kala chana के उपयोग के कई तरीके भी बताए गए हैं जिनको अपनी नियमित आहार में शामिल किया जा सकता है यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना ना भूले और सब्सक्राइब जरूर करें।

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!