Keyword kya hota hai | कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं

Keyword kya hota hai (what is keyword)- कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं, कीवर्ड कैसे सर्च किया जाता है, कीवर्ड के बारे में उन लोगों को शायद पता होगा जो ब्लॉगिंग या डिजिटल मार्केटिंग का काम करते हैं और इन लोगों के लिए keyword kya hota hai का पता होना जरूरी भी है जो लोग इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए लिखकर या बोलकर सर्च करते हैं उन लोगों को keyword kya hota hai in hindi के बारे में पता नहीं होता है।

 

keyword kya hota hai

 

अगर आप एक Blogger हैं या डिजिटल मार्केटिंग से संबंधित कोई काम कर रहे हैं और उसमें अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो keyword kya hota hai यह जानना बहुत आवश्यक है  keyword शब्द को आपने कई बार सुना होगा और शायद कीवर्ड से संबंधित कई सारे वीडियो यूट्यूब पर देखे होंगे और इससे संबंधित आर्टिकल भी पढ़े होंगे ।

लेकिन फिर भी अगर आप कीवर्ड क्या है, कीवर्ड क्या होता है, कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं, अच्छी तरह से नहीं समझ पाए हैं और  कीवर्ड के बारे में अच्छे से जानना समझना चाहते हैं और अपने डाउट को क्लियर करना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत हेल्पफुल हो सकता है इस पोस्ट में बहुत ही आसान शब्दों में  कीवर्ड की जानकारी बताई गई है जिसको पढ़ कर के आप  कीवर्ड को लेकर जो भी डाउट है वह दूर कर सकते हैं इसलिए इस पोस्ट keyword kya hota hai को अंत तक जरूर पढ़े।

Keyword kya hota hai (what is keyword in Hindi)

इंटरनेट पर किसी भी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करने के लिए जिन शब्दों का उपयोग करके कंप्यूटर या मोबाइल में लिखकर सर्च करते हैं उन शब्दों को ही  keyword कहते हैं जब कोई इंटरनेट पर किसी भी जानकारी को सर्च करता है तो वह कुछ इस प्रकार से लिखकर सर्च करता है जैसे- ATM card se paise kaise nikale, sehat kaise banaye, anjeer khane ke fayde, motapa kam kaise kare इत्यादि इन सभी को  keyword कहा जाता है।

इंटरनेट का उपयोग करने वाला हर व्यक्ति अपने अपने तरीके से किसी भी जानकारी को सर्च करता है अलग-अलग शब्दों का उपयोग करके सर्च करता है एक ही जानकारी को कई प्रकार से लिखकर या बोलकर सर्च करते हैं जब एक ही शब्द को हजारों, लाखों बार सर्च किया जाता है तब यह एक  कीवर्ड बन जाता है।

कीवर्ड की परिभाषा (keywords hindi meaning)

इंटरनेट से किसी भी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करने के लिए यूजर जिन शब्दों का उपयोग करके सर्च करता है उन शब्दों को ही keyword कहते हैं।

कीवर्ड के प्रकार (type of keyword in Hindi)

वैसे तो कीवर्ड कई प्रकार के होते हैं लेकिन यहां पर 6 प्रकार के कीवर्ड के बारे में बताया गया है जो इस प्रकार से हैं-

Trending keyword या fresh keyword

Trending keyword ऐसे कीवर्ड होते हैं जो कुछ समय के लिए बहुत ज्यादा सर्च किया जाता है जो ट्रेंडिंग टॉपिक होता है उससे संबंधित कीवर्ड fresh keyword के अंतर्गत आते हैं जो ट्रेंडिंग कीवर्ड होते हैं वह कीवर्ड ज्यादा लंबा समय तक सर्च नहीं किया जाता कुछ सीमित समय तक ही सर्च किया जाता है।

Evergreen keyword

Evergreen keyword ऐसे कीवर्ड होते हैं जो हमेशा सर्च किए जाते हैं पहले भी सर्च किया जाते थे आज भी सर्च किया जा रहा है और आगे आने वाले समय में भी सर्च होता रहेगा evergreen keyword अपने सर्च वॉल्यूम को मेंटेन करके रखते हैं अगर आप एक ब्लॉगर हैं और ब्लॉगिंग का काम करते हैं और इस फील्ड में ज्यादा लंबे समय तक बने रहना चाहते हैं तो आपको evergreen keyword पर काम करना चाहिए जैसे- sarkari job in India, part time job online, Paisa kamane ka Tarika इत्यादि हरियाणा एरिया

Area targeting keyword

Area targeting keyword वह कीबोर्ड होता है जिसमें किसी एक एरिया को कवर किया जाता है इस प्रकार के कीवर्ड किसी विशेष स्थान, जगह का नाम लिखकर सर्च किया जाता है जैसे- Rewa bus, stand Banaras railway station, APS University Rewa etc. इस प्रकार के कीबोर्ड को area targeting keyword कहा जाता है।

Customer targeting keyword

Customer targeting keyboard ऐसे की वर्ड होते हैं जो मुख्य रूप से किसी particular कस्टमर को टारगेट करके सर्च किया जाता है जैसे- best cotton shirt for men, new shoes collection for men, new kurti design for girl, sport shoes for men यह ऐसे कीवर्ड है जिसमें पहले से ही कस्टमर डिसाइड रहते हैं।

Product targeting keyword

Product targeting कीवर्ड होते हैं जो किसी एक विशेष प्रोडक्ट को टारगेट किया जाता है जैसे Ajanta watch for wall, realme Android phone, HP laptop, jio sim, idea sim इस प्रकार के के बारे में पहले ही प्रोडक्ट के बारे में डिसाइड हो जाता है।

LSI keyword latent semantic indexing

LSI कीवर्ड ऐसे कीवर्ड होते हैं जो मुख्य कीबोर्ड से रिलेटेड होते हैं इन कीवर्ड का उपयोग अपने आर्टिकल में करने का मुख्य कारण यह होता है कि यह आर्टिकल इन कीवर्ड पर भी रैंक करें इन कीबर्ड को सेकेंडरी कीवर्ड कहा जाता है LSI कीवर्ड आर्टिकल को रैंक करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं इसलिए पोस्ट लिखते समय मेन कीवर्ड के साथ रिलेटेड कीवर्ड का भी उपयोग करना चाहिए तभी हमारा पोस्ट रैंक करेगा और ट्रैफिक आएगा।

Keyword research क्यों जरूरी है

एक ब्लॉगर के लिए कीवर्ड रिसर्च करने के बारे में जानकारी होना बहुत आवश्यक है क्योंकि जब कोई भी आर्टिकल लिखते हैं तो आर्टिकल लिखने से पहले कीवर्ड रिसर्च करना पड़ता है जिस कीवर्ड पर आर्टिकल को आप लिख रहे हैं उस कीवर्ड पर कितना सर्च वॉल्यूम है, उसमें difficulty कितनी है, उस कीवर्ड पर CPC कितना है यह सब देखना बहुत जरूरी होता है ।

अगर आप इन सभी को ध्यान में रखकर अच्छी तरह से रिसर्च करके पोस्ट लिखते हैं तो आपके पोस्ट पर ट्रैफिक जरूर आएगा और ज्यादा से ज्यादा earning होगी और अगर आप बिना कीवर्ड रिसर्च किए हुए ही किसी की वर्ड पर काम करना शुरू कर देते हैं जिसको कोई सर्च नहीं करता है तब आप चाहे जितने भी मेहनत कर ले कितने भी आर्टिकल लिख ले आपके आर्टिकल में ट्राफिक नहीं आएगा आपका सारा मेहनत बेकार हो जाएगी।

इसलिए जब भी आप कोई भी आर्टिकल लिखें उससे पहले कीवर्ड रिसर्च जरूर कर ले इंटरनेट पर आपको कई सारे फ्री कीवर्ड रिसर्च टूल मिल जाएंगे जिनकी सहायता से अपने पोस्ट के लिए कीवर्ड रिसर्च कर सकते हैं जैसे- Ubersuggest, ahrefs, semrush etc.

Keyword research के आधार पर कीवर्ड के प्रकार

जब हम कीवर्ड रिसर्च करते हैं तब मुख्य रूप से तीन प्रकार के कीवर्ड को सर्च करते हैं-

1. Short tail keywords

इस प्रकार के कीवर्ड बहुत छोटे होते हैं जिनमें 1 से 3 शब्दों का उपयोग होता है ऐसे कीवर्ड को ही short tali कीवर्ड कहते हैं इन की वर्ड में सर्च वॉल्यूम बहुत ज्यादा होता है और कीवर्ड डिफिकल्टी यानी कंपटीशन भी बहुत ज्यादा होता है अगर आप ब्लॉगिंग की दुनिया में नए हैं ब्लॉगिंग करते हुए कुछ ही समय हुआ है तो आपको short tale कीवर्ड पर काम नहीं करना चाहिए।

क्योंकि इस प्रकार के कीवर्ड पर काम करने से आपकी वेबसाइट रैंक नहीं होगी और अगर होती भी है तो बहुत ज्यादा समय लगेगा इस प्रकार के कीवर्ड का उपयोग अधिकांश वे ब्लॉगर करते हैं जो ब्लॉगिंग के छेत्र में एक्सपर्ट होते हैं।

जैसे- mozbar, bandwidth, keyboard kya hai, kamalgatta, paneer phool, kala chana इत्यादि इस प्रकार के जितने भी कीवर्ड होते हैं वह सभी short tail कीवर्ड कहे जाते हैं।

2. Mid tail keyword

जिन कीवर्ड में 3 से 5 शब्दों का उपयोग होता है  उन कीवर्ड को mid tale कीवर्ड कहा जाता है इस प्रकार के कीवर्ड में सर्च वॉल्यूम और कीवर्ड डिफिकल्टी short tell कीवर्ड की तुलना में कम होता है जैसे Facebook ID kaise banaye, keywords kya hota hai, WhatsApp hack kaise kare, sehat kaise banaye, kamjori ke lakshan, papita khane ke fayde इत्यादि।

3. Long tail keyword 

जिन कीवर्ड में 5 से ज्यादा शब्दों का उपयोग होता है उन सभी कीवर्ड को longtail कीवर्ड कहा जाता है इस प्रकार के कीवर्ड में सर्च वॉल्यूम कम होता है और कीवर्ड डिफिकल्टी भी कम रहती है जिसका फायदा आपको मिल सकता है अगर आप इस प्रकार के कीवर्ड पर काम करते हैं तो आपका आर्टिकल जल्दी रैंक होने की संभावना होती है नए ब्लॉगर को long tail कीवर्ड पर काम करने से ज्यादा लाभ होता है जैसे- instagram ka password kaise pata Kare, Facebook ka password kaise pata Kare, WhatsApp mein Bina online aaye chat kaise kare, 5 simple way to live a happy life इत्यादि।

Keyword density क्या होता है

density का अर्थ होता है सघनता, घनिष्ठता, गाढ़ापन keyword density हमें यह बताता है कि यह कीवर्ड हमारे आर्टिकल या पोस्ट में कितनी बार लिखा गया है या मौजूद है हमारा आर्टिकल कितने शब्दों का है और उसमें कितनी बार कीवर्ड का उपयोग किया गया है कीवर्ड डेंसिटी आर्टिकल में 3% से ज्यादा नहीं होना चाहिए यह SEO के लिए अच्छा नहीं होता है की वर्ड का उपयोग बार-बार नहीं करना चाहिए इसे कीवर्ड सर्फिंग कहा जाता है।

अगर ऐसा करते हैं तो आपका पोस्ट इंडेक्स हो जाएगा लेकिन गूगल सर्च में आपका पेज दिखाई नहीं देगा जब भी bots आपके पेज पर आकर क्राउल करता है तब वह कीवर्ड को क्राउल करता है और उसको यह पता चल जाता है कि आपका पेज कौन से कीवर्ड पर रैंक कर रहा है इसलिए आप जब भी कोई आर्टिकल लिखें तो keyword density 1% से 2% तक ही रखें keyword surfing से बच के रहें और मेन कीवर्ड पर ज्यादा ध्यान दें जिससे आपका पेज जल्दी रैंक हो।

Keyword कहां-कहां होना चाहिए

कीवर्ड का पोस्ट में सही जगह पर होना बहुत जरूरी होता है वह कौन कौन से जगह हैं जहां पर कीवर्ड होना चाहिए कीवर्ड मुख्य चार जगह पर होना अति आवश्यक होता है।

  1. Title में कीवर्ड होना चाहिए।
  2. First paragraph मे होना चाहिए।
  3. Image alt tag मे होना चाहिए।
  4. Heading और subheading  (H2, H3) मे रहना चाहिए।

पुछे जाने वाले प्रश्न 

प्रश्न 1. कीवर्ड और उसके प्रकार क्या है?

इंटरनेट से किसी भी प्रकार की जानकारी को प्राप्त करने के लिए यूजर जिन शब्दों का उपयोग करके सर्च करता है उन शब्दों को ही keyword कहते हैं।
तीन प्रकार के कीवर्ड होते है-
1. Short tail keywords
2. Mid tail keyword
3. Long tail keyword.

प्रश्न 2. SEO में कीवर्ड का क्या महत्व है?

seo करते वक़्त कीवर्ड का महत्व बहुत अधिक बढ़ जाता है क्यूकी seo कीवर्ड के मुताबिक ही हो पता है हमे उस कीवर्ड को टार्गेट करना होता है ताकि google मे उस कीवर्ड को seo की मदद से rank कराया जा सके।

प्रश्न 3. कीवर्ड सर्च कैसे करते हैं?

कीवर्ड सर्च करने के लिए आप कई टूल उपलब्ध है जैसे – ahrefs, ubbersugest, mozbar, semrus, etc. डाइरेक्ट गूगल मे भी कीवर्ड सर्च किया जा सकता है।
इसके अलावा कीवर्ड सर्च करने के लिए कीवर्ड रिसर्च की जरूरत भी पड़ती है तभी आप एक बेहतर कीवर्ड का चुनाव कर सकेंगे की वर्ड रिचर्स की जानकारी ऊपर इसी पोस्ट मे दी गई है।

निष्कर्ष

इस पोस्ट में keywords kya hai, keywords kya hota hai, कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं कीवर्ड रिसर्च के आधार पर कीवर्ड कितने प्रकार के होते हैं विस्तार पूर्वक बताया गया है जिसे पढ़कर आपकी जो कुछ भी keywords kya hota hai से संबंधित डाउट थे वे सभी क्लियर हो गए होंगे और अच्छी तरह से समझ गए होंगे की keywords kya hota hai किसी भी वेबसाइट की रैंकिंग के लिए कितना महत्वपूर्ण होता है हमें उम्मीद है कि हमारा यह पोस्ट कीवर्ड क्या होता है जरूर पसंद आया होगा कमेंट करके जरूर बताएं कि यह पोस्ट आपको कैसी लगी और ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करें और ऐसी ही जानकारियां पाते रहने के लिए सब्सक्राइब जरूर करें। 

धन्यवाद!

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!