Keyboard kya hai | कीबोर्ड कितने प्रकार के होते हैं

Keyboard एक इनपुट डिवाइस है जो कंप्यूटर या अन्य किसी डिवाइस पर डाटा को इंटर करने के लिए उपयोग किया जाता है Keyboard kya hai यह आपने तो जरूर सुना होगा और इसका उपयोग भी किया होगा जब आपको कंप्यूटर या फिर किसी लैपटॉप में टाइपिंग करना होता है तब Keyboard का इस्तेमाल जरूर किया होगा आज भी ऐसे लोग हैं जिनको Keyboard के बारे में पूरी जानकारी नहीं है इसलिए इस पोस्ट में Keyboard kya hai के बारे में जानकारी हिंदी में बताया गया है जो उन लोगों के लिए समझने में सहायक होगा। 

Content of table show

 

Keyboard kya hai

 

कंप्यूटर Keyboard का उपयोग हम कंप्यूटर में डाटा इंटर करने के लिए करते है और जब हमें कुछ डॉक्यूमेंट टाइप करना होता है तब हम इसकी सहायता से टाइपिंग कर सकते हैं इस पोस्ट के माध्यम से कंप्यूटर Keyboard के बारे में सारी जानकारी जैसे computer Keyboard kya hai, Keyboard को कंप्यूटर के साथ कनेक्ट कैसे किया जाता है Keyboard के प्रकार कितने होते हैं, Keyboard का फुल फॉर्म क्या होता है इनके बारे में डिटेल से जानेंगे इसलिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें तो आइए अब शुरू करते हैं और जानते हैं Keyboard kya hai.

Computer Keyboard kya hai | what is keyboard in Hindi

keyboard input device होता है जिसका उपयोग मुख्य रूप से कंप्यूटर में किसी command, text, न्यूमेरिकल डाटा और अन्य प्रकार के डाटा को इनपुट कराने के लिए किया जाता है जब किसी यूज़र को कंप्यूटर में डाटा को भेजना होता है तब वह input device keyboard या mouse का उपयोग करता है इसके बाद इनपुट किए गए डाटा को मशीन लैंग्वेज में बदल दिया जाता है जिससे कि इनपुट डिवाइस जो Data और interaction आ रहे हैं उसको CPU आसानी के साथ समझ सके।

Keyboard के आविष्कारक कौन हैं

कीबोर्ड का सबसे पहले आविष्कार क्रिस्टोफर लैथम सोल्स (Christopher Latham sholes) ने किया था जो एक अमेरिकी थे इनके द्वारा जिस कीबोर्ड को बनाया गया था उसका लेआउट QWERTY है जो आज भी पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है।

इन्हे भी जाने –

Radiation kya hai | मोबाइल रेडिएशन के नुकसान

OTG kya hai | OTG क्या होता है | OTG cable कैसे काम करता है ?

USB ka full form | USB kya hai और कितने प्रकार के होते हैं

What is processor | Processor क्या है और कैसे काम करता है | प्रोसेसर की full information हिन्दी मे

Keyboard meaning in Hindi | कीबोर्ड को हिंदी में क्या कहते हैं

कीबोर्ड को हिंदी में कुंजीपटल कहा जाता है।

कीबोर्ड में बटनो की संख्या | number of keys in keyboard

पहले के समय में जो कीबोर्ड हुआ करता था उनमें 84 बटने होती थी लेकिन अब के समय में कीबोर्ड में 100 से 110 तक बटने होती हैं कीबोर्ड की उपयोगिता के आधार पर इनमें बटनो की संख्या कम या ज्यादा हो सकता है।

कीबोर्ड के कार्य  | keyboard functions in Hindi

Keyboard के द्वारा किए जाने वाले कार्य इस प्रकार हैं-

  • इसकी सहायता से आसानी के साथ अल्फान्यूमैरिक डेटा को कंप्यूटर में इनपुट किया जाता है।
  • माउस ना होने की स्थिति में माउस के द्वारा किए जाने वाले सभी काम कीबोर्ड के द्वारा किया जा सकता है।
  • कीबोर्ड के द्वारा कंप्यूटर को कमांड दिया जाता है।
  • कीबोर्ड में दिए गए बटनो के शॉर्टकट key का उपयोग करके कई कामों को किया जा सकता है जिससे समय की बहुत बचत होती है।
  • कीबोर्ड की सहायता से कई सारे गेम खेलना, म्यूजिक सुनना और उन्हें कंट्रोल करना यह सभी कार्य किए जा सकते हैं।

कीबोर्ड को कंप्यूटर के साथ कनेक्ट कैसे किया जाता है

पहले के समय में कीबोर्ड को कंप्यूटर के साथ कनेक्ट करने के लिए PS2 या serial connector का उपयोग किया जाता था लेकिन अब के समय में USB (universal serial bus) और wireless connector का उपयोग किया जाता है इनको कनेक्ट करना बहुत आसान होता है कंप्यूटर के पीछे USB port बना होता है जिसमें कीबोर्ड मे लगे USB को उस Port से कनेक्ट कर दिया जाता है।

कीबोर्ड के प्रकार | types of keyboard in Hindi

Keyboard अलग-अलग प्रकार के layout में मौजूद है जिन्हें region और language के हिसाब से बनाया जाता है यह मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं उन्हीं types के बारे में आज मैं आप लोगों को जानकारी देने वाला हूं-

1. QWERTY

इस प्रकार के layout दुनिया भर में सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है इस keyboard का नाम इसके पहले 6 letters के आधार पर दिया गया है जिसे आप ऊपर की पहली लाइन में देख सकते हैं इस कीबोर्ड को लगभग सभी देशों में उपयोग किया जाता है और इसको इतना ज्यादा उपयोग किया जाता है कि लोग इसी कीबोर्ड को जानते हैं और सोचते हैं कि बस इसी प्रकार का ही एक कीबोर्ड है।

2. AZERTY

इस प्रकार के keyboard को फ्रांस में बनाया गया था इस कीबोर्ड में Q और W बटन को और z  बटन के साथ बदल दिया गया है QWERTY और AZERTY कीबोर्ड में एक और अंतर यह है कि AZERTY मे M बटन L बटन के बाई ओर स्थित है।

3. DVORAK 

इस प्रकार के keyboard को उंगलियों के movement को कम करने के लिए बनाया गया है जिससे अन्य दूसरे keyboard की तुलना में सबसे ज्यादा तेज गति से टाइपिंग किया जा सके।

इन्हे भी जाने –

What is RAM | RAM क्या है और कितने प्रकार की होती है ? जानिए RAM की full information

Information Communication Technology in Hindi | ICT |  सूचना संचार प्रौद्योगिकी

Digilocker | Digilocker kya hai | डिजिलॉकर: अब डॉक्यूमेंट खो जाने की नहीं होगी चिंता

What is Database | डेटाबेस क्या है ? परिभाषा, प्रकार और अन्य जानकारी

What is Bandwidth | बैंडविड्थ क्या है? परिभाषा और अन्य जानकारी (सिर्फ 5 मिनट मे)

Keyboard ka full form

keyboard का फुल फॉर्म

  • K  – Keys
  • E  – electronic
  • Y  – yet
  • B  – board
  • O  – operating
  • A  – A to z
  • R  – response
  • D  – directly

keyboard की शॉर्टकट key और उनका उपयोग

Shortcut keys  उपयोग
Ctrl + A पेज के सभी कांटेक्ट को एक साथ सेलेक्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + C सेलेक्ट किए गए टेस्ट को कॉपी करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + D सेलेक्ट किए गए टेस्ट को डिसेलेक्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + F खुले हुए डॉक्यूमेंट पर सर्च बॉक्स को ओपन करने के लिए किया जाता है
Ctrl + I सेलेक्ट किए गए टेस्ट को italic मैं कन्वर्ट करने के लिए किया जाता है
Ctrl + K सेलेक्ट किए गए टेस्ट में हाइपरलिंक इन्सर्ट करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + N ओपन किए गए सॉफ्टवेयर में नया पेज क्रिएट करने के लिए किया जाता है
Ctrl + O फाइल को ओपन करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + P डॉक्यूमेंट को प्रिंट करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + S डॉक्यूमेंट को सेव करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + U सेलेक्ट किए गए टेस्टबुक अंडरलाइन करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + V कॉपी किए गए टेस्ट को पेस्ट करने के लिए किया जाता है
Ctrl + X सेलेक्ट किए गए टेस्ट  को कट करने के लिए उपयोग किया जाता है
Ctrl + Y पिछले एक्शन को दोहराता है
Ctrl + Z टेस्ट को undo करने के लिए उपयोग किया जाता है
Alt + F ओपन किए गए सॉफ्टवेयर में फाइल मेनू को ओपन करने के लिए उपयोग किया जाता है
Alt + E ओपन किए गए सॉफ्टवेयर में Edit करने के लिए किया जाता है
Alt + F4 ओपन किए गए सॉफ्टवेयर को बंद करने के लिए
Alt + Tab खुली हुई कई एप्लीकेशन मैं स्विच करने के लिए
Ctrl + End खोले गए डॉक्यूमेंट के अंत में पहुंचा देती है
Ctrl + Del सेलेक्ट किए गए आइटम को डिलीट करने के लिए
Ctrl + Home खोले गए डॉक्यूमेंट के शुरू में पहुंचा देती है

कीबोर्ड के बटन की जानकारी

computer keyboard में कई सारे letters, numbers, symbol और function keys होते हैं और इनमें कुछ special character होते हैं और कुछ keyboard में नहीं होते हैं लेकिन alphanumeric key सभी कीबोर्ड में अवश्य होता है।

Alphanumeric keys

सभी कीबोर्ड में एक बटनो का संग्रह मौजूद होता है जिसे alphanumeric keys कहा जाता है अल्फान्यूमैरिक का मतलब होता है letters और number keys, keyboard में दो अलग-अलग जगहों में रहता है एक लेटर के ऊपर और दूसरा लेटर के बाई ओर number बटन जो अक्षरों के ऊपर दिखाई देता है उनमें सिंबल की भी होता है अगर shift key के साथ इन key को दबाया जाता है तो उस नंबर बटन में जो symbol होगा वह टाइप हो जाएगा।

Punctuation keys

Punctuation keys उन बटनो को कहा जाता है जो Punctuation मार्क्स के साथ संबंध करते हैं उदाहरण के लिए comma, question mark, कालन, period यह सभी बटने latter keys के दाई ओर होते हैं।

Navigation keys

keyboard में navigation key, letters keys और number keys के बीच में रहता है लेटर बटन के दाएं ओर Navigation keys मुख्य रूप से चार होते हैं up key,  down key, left key, और right key इन बटनो का उपयोग माउस प्वाइंटर को move करने के लिए किया जाता है इसके अलावा किसी भी पेज को स्क्रोल करने के लिए किया जाता है।

इन्हे भी जाने –

Laptop kya hai | Laptop के फायदे और नुकसान जाने हिन्दी में

Plastic kya hai | प्लास्टिक क्या है और किससे बनता है | प्लास्टिक के प्रकार

Kagaj Kaise Banta Hai | पेपर कैसे बनता है?

Command keys और special keys

Command keys उन keys को कहा जाता है जो command देते हैं जैसे delete, return, Enter इत्यादि यह आपके कीबोर्ड पर निर्भर करता है कि उसमें यह बटन है कि नहीं और special keys जैसे caps lock, shift key, tab key.

Keyboard kya hai special keys

Keys के प्रकार

एक सामान्य कीबोर्ड में key के प्रकार को उसके कार्य के आधार पर 6 भागों में बांटा गया है जो इस प्रकार से हैं।

Function key

Function key keyboard मे सबसे ऊपर होता है और यह F1  से F12 तक लिखा होता है function keys का उपयोग किसी विशेष काम को करने के लिए किया जाता है और इनका काम हर सॉफ्टवेयर में अलग अलग होता है।

Typing keys

इन keys का उपयोग सबसे ज्यादा किया जाता है इसमें नंबर और लेटर दोनों प्रकार के keys शामिल होता है इन्हें सामूहिक रूप से alphanumeric Keys कहा जाता है टाइपिंग में सभी तरह के symbol और special mark भी शामिल होते हैं।

Navigation keys

Navigation keys मे arrow key, home, insert, page up, page down, delete,End इत्यादि keys शामिल होता है और इनका उपयोग किसी डॉक्यूमेंट या वेब पेज मे इधर उधर जाने में किया जाता है।

Indicator lights

Keyboard मे तीन प्रकार की इंडिकेटर लाइट होती है number lock, scroll lock और caps lock.

जब कंप्यूटर चालू करते हैं तब पहली लाइट जलती है जिसका मतलब होता है की numeric keypad चालू है और अगर यह बंद है तब इसका मतलब होता है numeric keypad बंद है दूसरी लाइट caps lock बटन की होती है जब यह लाइट चालू होती है तब latter  uppercase मे होता है और जब यह लाइट बंद होती है तब latter lowercase मे होता है और तीसरी लाइट scroll lock का होता है यह हमें scrolling के बारे में बताता है।

Numeric keypad

Numeric keypad, calculator  की तरह ही होता है इनका उपयोग नंबर को लिखने के लिए किया जाता है।

अन्य control keys और उनका उपयोग

ESC keys

इसका पूरा नाम Escapes key होता है और इसका उपयोग किसी भी task को कैंसिल करने के लिए किया जाता है।

Ctrl key

Ctrl key का पूरा नाम control key है इसका उपयोग कीबोर्ड शॉर्टकट के रूप में किया जाता है।

Alt key

Alt key का पूरा नाम Alter key है और इसका उपयोग कीबोर्ड शॉर्टकट के रूप में ही किया जाता है।

Window logo key

इस बटन का उपयोग start menu को ओपन करने के लिए किया जाता है।

Menu key

यह बटन माउस के राइट क्लिक के तरह ही काम करता है यह किसी चुने हुए प्रोग्राम से संबंधित ऑप्शन को ओपन करने के लिए किया जाता है।

Prtscr key

इस बटन का उपयोग कंप्यूटर स्क्रीन की इमेज (screenshot) को लेने के लिए उपयोग किया जाता है।

Navigation keys का उपयोग

Arrow keys

Arrow keys चार होती हैं up key, down key, left key, right key और इनका उपयोग माउस प्वाइंटर को वेब पेज में किसी भी जगह पर ले जाने के लिए किया जाता है।

Home key

इस बटन का उपयोग माउस प्वाइंटर को किसी भी डॉक्यूमेंट के शुरू में ले जाने के लिए किया जाता है इस बटन को दबाते ही किसी डॉक्यूमेंट के या वेब पेज के सबसे ऊपर आ जाते हैं।

End key

इस बटन का उपयोग माउस प्वाइंटर को किसी डॉक्यूमेंट के लास्ट में ले जाने के लिए किया जाता है इस बटन को दबाते ही किसी डॉक्यूमेंट या वेब पेज के एकदम लास्ट में पहुंच जाते हैं।

Insert key

इस बटन का उपयोग insert mode को on या off करने के लिए किया जाता है।

Delete key

Delete बटन का उपयोग माउस प्वाइंटर के बाद के अक्षर, सेलेक्ट किए हुए अक्षर और फाइल, फोल्डर को डिलीट करने के लिए किया जाता है।

Page up key

इस बटन का उपयोग माउस प्वाइंटर या किसी पेज को थोड़ा ऊपर की ओर सरकाने के लिए किया जाता है।

Page down key

इस बटन का उपयोग माउस प्वाइंटर या किसी पेज को थोड़ा नीचे की ओर सरकार ने के लिए किया जाता है।

Google ka avishkar kisne kiya | गूगल का आविष्कार कब और किसने किया

पुछे जाने वाले सवाल

प्रश्न 1. कंप्यूटर के कीबोर्ड में ऐसे कौन कौन से बटन होते हैं जो डबल होते हैं?

कंप्यूटर के keyboard में Shift, Ctrl, Alt, Enter ये ऐसे बटन है जो डबल होते हैं।

प्रश्न 2. कंप्यूटर की बोर्ड के नाम बताइए?

कंप्यूटर keyboard 3 प्रकार के होते है जिनके नाम है-
1. QWERTY
2. AZERTY
3. DVORAK 

प्रश्न 3. Keyboard क्या है इन हिंदी?

keyboard input device होता है जिसका उपयोग मुख्य रूप से कंप्यूटर में किसी command, text, न्यूमेरिकल डाटा और अन्य प्रकार के डाटा को इनपुट कराने के लिए किया जाता है

प्रश्न 4. कीबोर्ड में कुल कितने बटन होते हैं?

कीबोर्ड में पहले 84 बटने होती थी लेकिन अब के समय में कीबोर्ड में 100 से 110 तक बटने होती हैं।

निष्कर्ष 

इस पोस्ट में keyboard के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताया गया है की Keyboard kya hai, keyboard कितने प्रकार के होते हैं, keyboard का आविष्कार किसने किया था, keyboard का काम क्या है, keyboard का फुल फॉर्म क्या है, keyboard को हिंदी में क्या कहते हैं, keyboard का उपयोग क्या है हमें उम्मीद है कि इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के बाद आपको अच्छी तरह से समझ में आ गया होगा Keyboard kya hai और कुछ नया जानने को मिला होगा यह पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएं और ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करें और ऐसे ही पोस्ट पाते रहने के लिए सब्सक्राइब जरूर करें। 

धन्यवाद!

 

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!