Laptop kya hai | Laptop के फायदे और नुकसान जाने हिन्दी में

आज का समय टेक्नोलॉजी का समय है और दिन प्रतिदिन नए-नए टेक्नोलॉजी आ रहे हैं और इनमें से एक है Laptop जिसके बारे में आज हम आपको बताएंगे आपने Laptop का नाम तो सुना ही होगा और शायद आप इसका इस्तेमाल भी किया होगा अगर आप इसके बारे में नहीं जानते हैं तो घबराने की कोई जरूरत नहीं है। आज हम जानेंगे कि Laptop kya hai और इसके मुख्य कंपोनेंट क्या होते हैं यह जानने के लिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें तो चलिए शुरू करते हैं।

laptop kya hai

 

टेक्नोलॉजी के विकास होने से यह हमारे जीवन को बदल कर रख दिया है और अभी के जनरेशन के लोग इस टेक्नोलॉजी का भरपूर फायदा ले रहे हैं आज हर इंसान पूरी तरह से टेक्नोलॉजी पर निर्भर है है और अपने सभी काम को एडवांस मशीन और गजट से ही पूरा कर रहे हैं।

जैसे कि! लंबे दूरियों को तय करने के लिए कार, प्लेन, ट्रेन का उपयोग करते हैं! और इसके साथ ही एक दूसरे के साथ बातचीत करने के लिए मोबाइल फोन, टेलीफोन का उपयोग करते हैं! इसी तरह ऑफिस के कामों को या अन्य कामों को करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते हैं।

डेस्कटॉप कंप्यूटर को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में दिक्कत होती है! इस समस्या के कारण ही Laptop का आविष्कार किया गया था। चलिये अब जानते है Laptop kya hai

Laptop kya hai

Laptop एक प्रकार का कंप्यूटर ही होता है! जिसको हम नोटबुक कंप्यूटर भी कह सकते हैं! यह एक बैटरी और एसी पावर सप्लाई से चलने वाला पर्सनल कंप्यूटर होता है जो कि एक  briefcase से भी साइज में छोटा होता है  इसको आसानी के साथ एक जगह से दूसरे जगह तक ले जा सकते हैं और आसानी से उपयोग कर सकते हैं।

आमतौर पर Laptop का वजन 3 किलो से भी कम होता है! और इसकी मोटाई 2 से 3 इंच तक होती है! समय के साथ साथ अब इसकी साइज और मोटाई में भी कमी आने लगी है! बाजार में अब कई प्रकार के कंपनियों के Laptop कंप्यूटर आ रहे हैं जैसे compact, Dell, Acer, LG, Apple, IBM, Toshiba, Asus इत्यादि।

डेस्कटॉप कंप्यूटर की तुलना में लैपटॉप कंप्यूटर की कीमत बहुत ज्यादा होती है! ऐसा इसलिए होता है क्योंकि Laptop को डिजाइन करने और बनाना बहुत कठिन होता है! लैपटॉप में जिस डिस्प्ले का उपयोग किया जाता है। 

वह thin screen technology का होता है यह thin film transistor या active Matrix screen बहुत ही चमकीला होता है और यह किसी भी एंगल से देखने पर वह अच्छा दिखता है।

Laptop अलग-अलग दृष्टिकोण का इस्तेमाल करता है! माउस को कीबोर्ड में integrate करने के लिए! टचपैड को शामिल करने के लिए और इसमें एक सीरियल पोर्ट भी दिया होता है! जोकि माउस को हमेशा अटैच होने के लिए allow करता है और इसके साथ में पीसी कार्ड भी लगा होता है जो insertable हार्डवेयर होता है। 

modem या network interface card को ऐड करने के लिए इसके अतिरिक्त सीडी रोम और डीवीडी ड्राइव को भी अटैच किया जा सकता है। Laptop kya hai यह आप जान गए होंगे और अब जानते है कि इसके components के बारे मे।

इन्हे भी जाने-

PAN card kaise banaye mobile se | घर बैठे 10 मिनट में फ्री में बनाए पैन कार्ड

Digilocker | Digilocker kya hai | डिजिलॉकर: अब डॉक्यूमेंट खो जाने की नहीं होगी चिंता

Radiation kya hai | मोबाइल रेडिएशन के नुकसान

mobile ki ram kaise badhaye | Android Mobile की Ram कैसे बढ़ाये 4GB तक

लैपटॉप के कंपोनेंट्स क्या क्या होते हैं

वैसे देखा जाए तो Laptop में बहुत सारे कंपोनेंट होते हैं लेकिन यहां पर कुछ महत्वपूर्ण कंपोनेंट के बारे में ही जानेंगे

Processor

प्रोसेसर को central processing unit (CPU) कहा जाता है! जोकि लैपटॉप कंप्यूटर को कंट्रोल करने के लिए होता है! प्रोसेसर स्पीड को गीगाहर्टज में मापने के लिए किया जाता है! मल्टी कोर प्रोसेसर में एक से ज्यादा कोर मौजूद होते हैं। 

स्पीड रेटिंग इन प्रोसेसर को यह इंडिकेट करता है कि प्रत्येक कोर की स्पीड कितनी होती है जितनी ज्यादा स्पीड होती है उतना ही ज्यादा लैपटॉप प्रोसेसर में कोर मौजूद होते हैं।

Hard drive

हार्ड ड्राइव किसी भी लैपटॉप का मेमोरी स्टोरेज होता है! बड़े साइज के हार्ड ड्राइव यूजर को अलाव करती है! प्रोग्राम को इंस्टॉल करने के लिए और फाइल को सेव करने के लिए आज के समय में लैपटॉप कंप्यूटर में हार्ड ड्राइव बहुत ही ज्यादा स्टोरेज वाली होती है जैसे 2tb 4TB hard drive एक typical hard drive 5400 RPM रन करता है। 

यदि आपको ज्यादा बूस्ट वाले हार्ड ड्राइव की आवश्यकता है तब आपको 7200 या 10000 RPM बाले हार्ड ड्राइव का उपयोग करना होगा।

System memory

RAM random access memory यह मुख्य कंपोनेंट होता है! जोकि लैपटॉप को तेजी से चलने में मदद करती है! ज्यादा रैम होने से यह प्रोग्राम को बहुत ज्यादा स्पीड से रन कर सकता है gaming laptop मे 4 से 8 जीबी RAM की आवश्यकता होती है जबकि वेब ब्राउज़र मैं केवल 2gb RAM में ही काम चल जाता है।

Screen

लैपटॉप स्क्रीन में पतली LCD screen का उपयोग होता है! आप अपने लैपटॉप डिस्पले में native resolution में clearest picture पाते हैं! यह वही रे सलूशन होता है जिसमें स्क्रीन के exact number of pixel के साथ इमेज मैच करती है लैपटॉप स्क्रीन में जितनी ज्यादा native resolution होगा उतना ही ज्यादा clear picture quality भी होगा।

Optical drive

DVD या CD drive लैपटॉप की ऑप्टिकल ड्राइव होती है! अधिकांश नए लैपटॉप में यह है पहले से ही लगी रहती है! जिन्हें burner कहा जाता है इसका काम यह होता है कि ब्लैंक डीवीडी और CDs मैं सभी फॉर्मेट को read ओर right करना यह हमारे इंपॉर्टेंट फाइल और डाटा का बैकअप लेने के लिए सुविधाजनक होते हैं।

External ports

लैपटॉप में कुछ एक्सटर्नल पोर्ट भी दिए होते हैं! जैसे USB ports दूसरे डिवाइस को कनेक्ट करने के लिए! और अलग से मॉनिटर या प्रोजेक्टर को कनेक्ट करने के लिए VGA port भी दिया रहता है MMC और SD card को कनेक्ट करने के लिए कुछ लैपटॉप में अलग से मेमोरी कार्ड स्लॉट का फीचर भी दिया होता है।

Networking

एक नेटवर्क के साथ एक ethernet cable के माध्यम से एक Ethernet port से कनेक्ट कर सकते हैं! जिसमें कि यह wireless g या wireless n signal का उपयोग होता है जो प्रायः यूनिवर्सल होता है।

Video card

इसको ग्राफिक कार्ड भी कहा जाता है सभी लैपटॉप सीपीयू में एक ग्राफिक कंट्रोलर लगा होता है जोकि कंप्यूटर को बेसिक वीडियो और ग्राफिक डिस्प्ले करने के लिए अलाऊ करता है वीडियो कार्ड एक एक्स्ट्रा डिवाइस होती है जोकि प्रोसेसर के लोड को अपने ऊपर ले लेती है जिससे लैपटॉप सुचारू रूप से तुरंत रंग करने में सहायक होता है। 

जब यूजर मूवी या गेम खेलते हैं कुछ वीडियो कार्ड में खुद की सिस्टम मेमोरी होती है जोकि बहुत तेज और बिना किसी बाधा के performance करती है।

Laptop के प्रकार

Laptop kya hai इसके बारे में अब आप जान गए हैं अब आगे इसके प्रकार के बारे में जानते हैं जिससे कि आपको लैपटॉप खरीदने में आसानी हो सके

  • Notebook
  • Ultrabook
  • Chromebook
  • Ultra portable
  • Mac book
  • Tablet as a laptop
  • Convertible (2 in 1)

इन्हे भी जाने –

What is ROM in hindi

What is processor with full information in hindi

RAM क्या है

What is Database

USB ka full form क्या है ? USB kya hai और कितने प्रकार के होते हैं

Laptop के फायदे

  1. यह पोर्टेबल डिवाइस होती है! जिसके कारण इसे एक स्थान से दूसरे स्थान तक आसानी से ले जाया जा सकता है।
  2. लैपटॉप की बैटरी बहुत लंबे समय तक चलती है जिसके कारण इसे बहुत लंबे समय तक बिना पावर सप्लाई पर ही उपयोग कर सकते हैं नॉर्मल लैपटॉप की बैटरी 3 से 4 घंटे तक चलती है।
  3. यह डेस्कटॉप कंप्यूटर की तुलना में यह बहुत छोटा होता है इसमें भी वह सारे काम कर सकते हैं जो कि हम डेस्कटॉप कंप्यूटर में करते हैं इसका साइज छोटा होने के कारण इसे स्कूल कॉलेज ऑफिस आसानी से ले जाया जा सकता है।
  4. इसके अंदर इंटरनल स्पीकर भी होता है! जिसके कारण आपको अलग से एक्सटर्नल स्पीकर लगाने की जरूरत नहीं पड़ती है।
  5. इसमें कीबोर्ड या माउस की जरूरत अलग से नहीं पड़ती है! क्योंकि इसमें पहले से ही कीबोर्ड और माउस दिया हुआ रहता है।
  6. इसमें वाईफाई और ब्लूटूथ की सुविधा पहले से ही दिया हुआ रहता है! जिससे आप आसानी से इंटरनेट यूज कर सकते हैं और फाइल को भी एक डिवाइस से दूसरे डिवाइस में ट्रांसफर कर सकते हैं।
  7. इसमे यूजर को अलग से वेबकैम की जरूरत पड़ती है! जबकि लैपटॉप में पहले से ही पैक कर दिया रहता है इसलिए इसमें अलग से कैमरा लगाने की जरूरत नहीं होती है और इससे आसानी से वीडियो कॉलिंग भी कर सकते हैं।
  8. डेस्कटॉप की तुलना में लैपटॉप में पावर कम लगता है जिससे बिजली की खपत कम होती है जिस कारण से बिल भी कम आता है।

लैपटॉप के नुकसान

  1. बाकी कंप्यूटर की तुलना में लैपटॉप ज्यादा महंगा होता है! जबकि उसी कॉन्फ़िगरेशन की डेस्कटॉप आपको कम कीमत पर ही आसानी से मिल जाता है।
  2. यह हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाती है लैपटॉप का ज्यादा उपयोग करने से आंख, पैर, हाथ, पेट इत्यादि में और इसके साथ ही कई बीमारियां होने की संभावनाएं बनी रहती है।
  3. लैपटॉप में सभी चीजें इसके अंदर ही इंस्टॉल रहती है इसलिए रिपेयर करने में ज्यादा दिक्कत होती है! और इसके साथ ही इसके बाद भी ज्यादा महंगे होते हैं।
  4. यह बहुत छोटा होने के कारण इसे बड़ी ही आसानी के साथ चोरी किया जा सकता है।
  5. इसको customise करना और हार्डवेयर को अपग्रेड करना बहुत कठिन होता है।
  6. इसकी टेक्नोलॉजी बहुत जल्द ही पुरानी हो जाती है क्योंकि टेक्नोलॉजी दिन प्रतिदिन अपग्रेड होती रहती है अगर आप एक नया लैपटॉप खरीदते हैं तो है कुछ ही महीनों में उसका एक नया अपग्रेड वर्जन मार्केट में आ जाता है।
  7. इसके डैमेज होने के चांस बहुत ज्यादा होते हैं! क्योंकि यह एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस होती है! और अगर गलती से इसमें पानी जो उस चाय शरबत गिर जाता है तब यह खराब हो सकता है! और इसको एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने में सावधानी बरतनी पड़ती है।
  8. यह व्याकुलता का कारण भी बन सकती है क्योंकि स्टूडेंट लैपटॉप का उपयोग पढ़ाई के लिए कम और मनोरंजन के लिए ज्यादा करते हैं जिससे उनका कीमती समय नष्ट होता है।

computer ka avishkar kisne kiya | कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया

लैपटॉप की परिभाषा क्या है?

लैपटॉप एक प्रकार का कंप्यूटर ही होता है! जिसको हम नोटबुक कंप्यूटर भी कह सकते हैं! यह एक बैटरी और एसी पावर सप्लाई से चलने वाला पर्सनल कंप्यूटर होता है जो कि एक  briefcase से भी साइज में छोटा होता है  इसको आसानी के साथ एक जगह से दूसरे जगह तक ले जा सकते हैं और आसानी से उपयोग कर सकते हैं।

लैपटॉप कितने प्रकार के आते हैं?

Notebook
Ultrabook
Chromebook
Ultra portable
Mac book
Tablet as a laptop
Convertible (2 in 1)

Laptop के फायदे क्या है?

1. यह पोर्टेबल डिवाइस होती है।
2. लैपटॉप की बैटरी बहुत लंबे समय तक चलती है।
3. इसमें कीबोर्ड या माउस की जरूरत अलग से नहीं पड़ती है।
4. इसमें वाईफाई और ब्लूटूथ की सुविधा पहले से ही दिया हुआ रहता है।
5. डेस्कटॉप की तुलना में लैपटॉप में पावर कम लगता है जिससे बिजली की खपत कम होती है।
6. इसमे यूजर को अलग से वेबकैम की जरूरत पड़ती है।

निष्कर्ष

हमने इस पोस्ट में जाना कि Laptop kya hai? इसके कंपोनेंट क्या क्या है? लैपटॉप के लाभ क्या होते हैं? और इससे क्या नुकसान होते हैं? इसको डिटेल से बताया गया है यह पोस्ट आपको कैसी लगी यह कमेंट बॉक्स में कमेंट करके जरूर बताएं और अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें। ऐसी ही जानकारी पाते रहने के लिए सबस्क्राइब करना न भूलें। 

धन्यवाद!

Share us friends

Leave a Comment

error: Content is protected !!